• Hindi News
  • Women
  • In The World Of Jewelry, Creativity Will Lead To Excellent Earnings, Opportunity For Own Business

करिअर दिशा:ज्वेलरी तैयार करने में दिखाएं क्रिएटिविटी, होगी शानदार कमाई, कारोबार का भी मौका, कोर्स के लिए कोई खास योग्यता की जरूरत नहीं

नई दिल्ली6 महीने पहलेलेखक: संजीव कुमार
  • कॉपी लिंक
ज्वैलरी डिजाइनिंग में करें फ्यूचर सेफ - Dainik Bhaskar
ज्वैलरी डिजाइनिंग में करें फ्यूचर सेफ

गहनों की दुनिया बदल रही है। यहां इतने बेहतरीन मौके शायद ही कभी रहे हों। गहनों की रिटेल ट्रेडिंग के बढ़ते कारोबार ने इस क्षेत्र में करिअर बनाने के इच्छुकों के लिए विकल्पों के नए रास्ते खोल दिए हैं। यहां अच्छी कमाई भी और क्रिएटिविटी भी है।

पूरे विश्व में ज्वैलरी और रत्न बाजार में भारत का हिस्सा सबसे अधिक है।
पूरे विश्व में ज्वैलरी और रत्न बाजार में भारत का हिस्सा सबसे अधिक है।

सिर्फ भारत में इसका मार्केट 65,000 करोड़ से ज्यादा है। पर कुछ समय पहले तक जहां फोकस सिर्फ सोने से बने गहनों पर ही होता था, अब ज्वेलरी के क्षेत्र के महारथी तनिष्क गीतंजली, स्वरोस्की, डि-बियर्स और डि-डमास जैसी कंपनियों के रिटेल ट्रेंडिंग में आने के बाद अब रत्न और स्टोंस से बनी ज्वेलरी पहनना चाहता है, और ज्वेलरी के क्षैत्र में इन नए ट्रेंडों को ध्यान में रखते हुए इस इंडस्ट्री में अपना करिअर बनाने की चाह रखने वालों के लिए भी नए मौके सामने आए हैं।

विशेषज्ञों की माने तो ज्वेलरी इंडस्ट्री में करिअर बनाने के लिए इससे बेहतर अवसर पहले नहीं था।
विशेषज्ञों की माने तो ज्वेलरी इंडस्ट्री में करिअर बनाने के लिए इससे बेहतर अवसर पहले नहीं था।

यहां बेहतर काम करने का मौका है और साथ में अच्छी सैलरी भी।

कैसे करें शुरुआत

पहले इस इंडस्ट्री में करिअर बनाने का एकमात्र तरीका होता था, किसी प्रतिष्ठित सोनार के साथ रहकर काम सीखना, पर अब ऐसा नहीं है। आप चाहें तो स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद ज्वेलरी डिजाइनिंग में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। पूरे भारत में ढेरों संस्थान ज्वेलरी डिजाइनिंग में डिप्लोमा कोर्स करवाते हैं। इस कोर्स में दाखिला पाने के लिए आपको एक टेस्ट और इंटरव्यू पास करना होगा।

अगर आपका आर्ट में बैकग्राउंड है, तो निश्चित तौर पर आपको यहां अपनी धाक जमाने में मदद मिलेगी इस कोर्स में छात्रों को स्टोन के प्रकार, ज्वेलरी की कलर स्कीम, डिजाइनिंग थीम, कास्टयूम ज्वेलरी और ज्वेलरी कास्टिंग आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाती है।

ज्वैलरी डिजाइनर बनने के लिए किसी विशेष योग्यता का होना आवश्यक नहीं है।
ज्वैलरी डिजाइनर बनने के लिए किसी विशेष योग्यता का होना आवश्यक नहीं है।

ट्रेनिंग के दौरान आप सभी चीजों की जानकारी इकट्ठा कर सकते हैं। डिजाइनिंग के प्रति अभिरुचि और साथ ही छोटी-से-छोटी डिटेल के बारे में भी सतर्क होना जरूरी है। तकनीकी रूप से सक्षम होने के अलावा आपको रचनात्मक और कल्पनाशील भी होना चाहिए। इसके साथ ही फैशन इंडस्ट्री और इंटरनेशनल ट्रेंड के बारे में भी खुद को अपडेट रखें।

कहां-कहां है मौके

ज्वेलरी डिज़ाइनर के लिए काम करने के लिए अब मौकों की कमी नहीं है। आप ज्वेलरी डिजाइनिंग हाउस, एक्सपोर्ट हाउस, फैशन हाउस, में काम करने के अलावा खुद का बिजनेस या फ्रीलांसिंग डिजाइनिंग भी कर सकते हैं। यदि आप एक्सपोर्ट हाउस ज्वाइन करते हैं, तो इंटरनेशनल मार्केट में क्या ट्रेंड हैं, इसके बारे में भी आपको जानकारी मिलती रहेगी। वैसे, अधिकांश स्टूडेंट अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस स्थापित अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस स्थापित करके बिजनेस करते हैं।

जो लोग विदेश जाकर ज्वेलरी डिजाइनिंग में किस्मत आजमाना चाहते हैं। उनके लिए यूएस, लेबनान, कतर, जोर्डन, मालदीव, बहरीन, कुवैत, सोमान में रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं।
जो लोग विदेश जाकर ज्वेलरी डिजाइनिंग में किस्मत आजमाना चाहते हैं। उनके लिए यूएस, लेबनान, कतर, जोर्डन, मालदीव, बहरीन, कुवैत, सोमान में रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं।

फ्रीलांसर डिज़ाइनर के तौर पर आपका काम दिए गए ऑर्डर के अनुरूप डिजाइन बनाना होता है। इसके अलवा आपको ज्वेलरी बनाने वाले लोगों को दिशा-निर्देश भी देना होगा।

इन अहम संस्थानों से कर सकते हैं कोर्स

  • निफ्ट, हॉज खास दिल्ली
  • जेम्स ऐंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रोमोशन काउंसिलिंग राजस्थान भवन, जयपुर
  • एपीजे इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, तुगलकाबाद, महरौली, दिल्ली
  • साउथ दिल्ली पॉलिटेक्निक फॉर वुमेन लाजपत नगर, दिल्ली