• Hindi News
  • Women
  • Indian Social Media Star Yamini Said Using Fake Faces In Support Of Putin – I Am Neither Towards Russia Nor Towards Ukraine

पुतिन के सपोर्ट में फर्जी चेहरों का इस्तेमाल:इंडियन सोशल मीडिया स्टार यामिनी बोलीं- मैं न रूस की तरफ, न यूक्रेन की तरफ

नई दिल्ली13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रूस-यूक्रेन जंग में सोशल मीडिया से भी घुसपैठ हो रही है। ट्विटर पर कई फेक अकाउंट के जरिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के समर्थन में हैशटैग चलाए जा रहे हैं। इन हैशटैग को चलाने के लिए जिन नाम और चेहरों का सहारा लिया जा रहा वो असली हैं, लेकिन इनके नाम पर फर्जी अकाउंट बनाकर ऐसा किया जा रहा है। इनमें से ज्यादातर सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर हैं और इनके फॉलोअर्स की संख्या अच्छी-खासी है।

भारतीय टिकटॉक स्टार ईआर यामिनी के चेहरे का इस्तेमाल

ईआर यामिनी एक भारतीय सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर हैं। वह टिकटॉक से फेमस हुई हैं। यामिनी अपने डांस के लिए जानी जाती हैं। वो ट्विटर पर नहीं है लेकिन इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर काफी एक्टिव हैं। दोनों ही प्लेटफॉर्म पर इनके लाखों फॉलोअर्स हैं। मार्च की शुरुआत में इनकी फोटो का इस्तेमाल कर एक ट्विटर अकाउंट ने #IStandWithPutin के साथ वीडियो पोस्ट किया। उस वीडियो में दो पुरुषों को गले लगते दिखाया गया था। इनमें से एक इंडिया को रिप्रजेंट कर रहा था तो दूसरा रूस को। यामिनी को जब इसके बारे में पता चला तो वो काफी परेशान हुईं। उनका कहना था- 'रूस-यूक्रेन जंग में मैं किसी भी देश को सपोर्ट नहीं कर रही। अगर मेरे फैन उस ट्वीट को देखेंगे तो मेरे बारे में क्या सोचेंगे?'

यामिनी की तरह दूसरे देशों के सोशल मीडिया स्टार के भी फेक अकाउंट बनाकर युद्ध में अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है।
यामिनी की तरह दूसरे देशों के सोशल मीडिया स्टार के भी फेक अकाउंट बनाकर युद्ध में अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है।

यामिनी के अलावा कई फेमस लोगों के चेहरे का भी यूज

बीबीसी की खबर के मुताबिक, 2 और 3 मार्च को रूस को समर्थन देने वाले ऐसे 9,907 प्रोफाइल को ट्रैक किया गया। वो भी कई अलग-अलग भाषाओं में। उनमें लगभग एक हजार से अधिक प्रोफाइल फेक नजर आ रही थी। अमेरिकन रैपर निप्सी हसल की फोटो लगी एक प्रोफाइल थी, जबकि 2019 में उनकी लॉस एंजिल्स में मौत हो गई थी। वहीं प्रीति शर्मा के नाम से एक प्रोफाइल थी। बायो में मॉडल, आंत्रप्रेन्योर और भारतीय लिखा था। लेकिन फोटो ऑस्ट्रेलियन सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर निकोल थ्रोन की लगी थी। ऐसे ही कई मशहूर हस्तियों, इन्फ्लुएंसर और आम यूजर्स की फोटो यूज की गई। उन्हें पता भी नहीं है कि यूक्रेन के खिलाफ युद्ध में रूस का समर्थन करने के लिए उनके चेहरों का इस्तेमाल किया जा रहा था।

ट्विटर पर फेक फॉलोअर्स की काफी शिकायत, मस्क बोले- करूंगा ठीक

फेक अकाउंट से सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जूझ रहे हैं लेकिन दूसरों के मुकाबले ट्विटर को लेकर यह सवाल ज्यादा उठाया जाता है। ऐसा इसलिए कि इसका यूजर वेरिफिकेशन सिस्टम और अकाउंट बनाना ज्यादा आसान है। हाल ही में बिजनेसमैन एलन मस्क ने ट्विटर को खरीदने से कहा था कि ट्विटर वो इस प्लेटफॉर्म से फेक यूजर्स को हटाएंगे। हालांकि यह काम इतना आसान नहीं होगा। सोशल मीडिया और प्राइवेसी एक्सपर्ट्स का मानना है कि इंटरनेट से फेक यूजर्स और बॉट्स अकाउंट को हटाना बहुत बड़ा चैलेंज होगा।

खबरें और भी हैं...