• Hindi News
  • Women
  • Jobs Lost In Lockdown, Instead Of Cursing Luck, Now Women Are Moving Forward By Doing Courses Like Computer Programming, Machine Learning

टेक्नोलॉजी के तिकड़म में माहिर:लॉकडाउन में गंवाईं नौकरियां, किस्मत कोसने के बजाय अब कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, मशीन लर्निंग जैसे कोर्स कर आगे बढ़ रहीं महिलाएं

नई दिल्ली7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तकनीक में नए प्रतिमान गढ़ रहीं महिलाएं। - Dainik Bhaskar
तकनीक में नए प्रतिमान गढ़ रहीं महिलाएं।

भारतीय महिलाओं ने कोरोना वायरस महामारी के समय में भले ही नौकरियां गंवाई हों, मगर वो खुद को बदलते वक्त के साथ अपडेट करने में पीछे नहीं हैं। फॉर्चून इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना काल में पुरुषों के मुकाबले ज्यादा महिलाओं ने नौकरियां गंवाईं। मगर, उन्होंने बिना अपनी किस्मत को कोसे बगैर खुद को बदला और अब ऑनलाइन एजुकेशन से अपना स्किल अपडेट कर तकनीक में माहिर हो रही हैं। आइए जानते हैं कि महिलाओं ने टेक्नोलॉजी जैसे क्षेत्रों में किस तरह से अपनी धाक जमा रही हैं।

लॉकडाउन का किया बेहतर इस्तेमाल, ऑनलाइन लर्निंग में महिलाएं ज्यादा
आंकड़ों की बात करें तो 2021 में भारत में 44 फीसदी नए ऑनलाइन लर्नर्स में महिलाएं शामिल रही हैं। हालांकि, 2019 में 37 फीसदी महिलाओं ने ही ऑनलाइन लर्निंग की थी। देश भर की महिलाओं ने लॉकडाउन के समय का बेहतर इस्तेमाल किया है। यही ट्रेंड हमें दुनिया भर में भी दिखता है। इसी की बदौलत महिलाएं टेक्नोलॉजी की दुनिया में नए प्रतिमान गढ़ रही हैं।

महिलाओं ने लॉकडाउन के समय का बेहतर इस्तेमाल किया है।
महिलाओं ने लॉकडाउन के समय का बेहतर इस्तेमाल किया है।

ऑनलाइन कोर्स अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर महिलाएं
अमेरिकी ऑनलाइन कोर्स मुहैया कराने वाली कंपनी कोर्सेरा के मुताबिक, इस साइट पर 86 लाख रजिस्टर्ड महिला यूजर्स के साथ अमेरिका पहले स्थान पर, जबकि दूसरे नंबर पर 48 लाख यूजर्स के साथ भारत है। कोर्सेरा की चीफ कंटेंट ऑफिसर बेट्‌टी वैंडेनबोस के मुताबिक, दुनियाभर में रजिस्टर्ड लर्नर के मामले में महिलाएं 54 फीसदी हैं।
कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और मशीन लर्निंग में आजमा रहीं हैं हाथ
कोर्सेरा के मुताबिक, कोविड-19 से जूझ रहे देश में जिन कोर्स को सीखने के लिए भारतीय महिलाओं ने सबसे ज्यादा एनरोल कराया, वह है कंप्यूटर प्रोग्रामिंग। इसे सीखने के लिए 20 लाख महिलाएं आगे आईं। वहीं, मशीन लर्निंग के लिए 19 लाख और प्रोबेबिलिटी व स्टेटिक्स जैसे कोर्स को सीखने के लिए 18 लाख महिलाएं आगे आईं।
ज्यादातर ने अपने मोबाइल फोन पर ही कर ली लर्निंग्स
ये आंकड़े पूरी दुनिया के मुकाबले सबसे ज्यादा हैं। अपनी स्किल बढ़ाने के लिए महिलाएं प्रोफेशनल कोर्सेज को भी खूब पसंद कर रही हैं। एंट्री लेवल प्रोफेशनल एनरोलमेंट में महिलाओं की संख्या में 2019 के 29 फीसदी के मुकाबले 2021 में 35 फीसदी इजाफा हुआ है। इनमें से 62 फीसदी महिलाओं ने तो अपने मोबाइल फोन पर ही यह लर्निंग कर ली।

खबरें और भी हैं...