• Hindi News
  • Women
  • NEET EXAM Is Near To Become A Doctor, The Perfect Formula To Prepare For The Remaining 45 Days, You Will Get Success

करिअर दिशा:डॉक्टरी कराने वाला NEET-EXAM नजदीक, अब बचे बस 45 दिन, समझें सक्सेस का अचूक फॉर्मूला

नई दिल्ली4 महीने पहलेलेखक: संजीव कुमार
  • कॉपी लिंक

डॉक्टरी की पढ़ाई के लिए इस बार रिकॉर्ड आवेदन हुए हैं। इनमें लड़कियों ने एक बार फिर से लड़कों को पीछे छोड़ दिया है। करीब 18.72 लाख स्टूडेंट ने नीट 2022 के लिए अप्लाई किया और इनमें से करीब 10.6 लाख लड़कियों के ही आवेदन हैं जो कि अपने आप में एक रिकॉर्ड है। पिछले पांच वर्षों के दौरान फीमेल एस्पिरेंट्स ने इस मामले में 41 फीसदी की बढ़ोतरी की है।

NEET-2022 : डेढ़ माह में ऐसे करें तैयारी

इस बार नीट एग्जाम 17 जुलाई को होने जा रहा है। ऐसे में अब केवल डेढ़ माह का ही समय बचा है।

अभी तक आपने जिस स्टडी रूटीन को फॉलो किया उसके आकलन करने का सही वक्त आ चुका है। अब यह देखना होगा कि अब तक की गई पढ़ाई से आप कहां पहुंचे हैं और आगे क्या करना है। खासतौर से इन बातों पर जरूर गौर करें-

दिनचर्या के साथ पढ़ाई के घंटों को नियमित बनाएं

आप शेष बचे 45 दिनों में दिनचर्या को बेहतर करते हुए अपनी स्टडी को नियमित कर सकती हैं। एक घंटा पढ़ने के बाद 10–15 मिनट का ब्रेक जरूर लें। दिन रात को मिलाकर बने 24 घंटों में से 10 घंटे पढ़ाई के लिए निकालें।

इस दौरान सिलेबस, प्रैक्टिस पेपर और उसमें हुईं गलतियों के विश्लेषण पर काम करने के लिए एक निश्चित समय जरूर रखें। इससे आपकी कॉन्सेप्चुअल क्लैरिटी भी बेहतर होगी।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि नीट की तैयारी के लिए अध्ययन सामग्री की भरमार है। ऐसे में आपको प्रामाणिक किताबों यानी स्टैंडर्ड बुक्स को ही तैयारी का ज़रिया बनाना चाहिए। एनसीईआरटी की किताबें मानक हैं और इनसे आप अपनी समझ को गहरा कर सकते हैं।

स्ट्रेस कम करने का निकालें अपना तरीका

जब पढ़ाई डॉक्टरी की है तो स्ट्रेस आना स्वभाविक है। चूंकि, घंटों तक स्टडी करनी होती है तो ब्रेक के दौरान कुछ ऐसा करें, जिसमें आपको मजा आता है और आपका दिमाग फिर से स्टडी के लिए तैयार हो जाए। जैसे अगर आपको गार्डनिंग करना पसंद है तो 10 से 15 मिनट उसे कर सकती हैं। कोई भी व्यायाम आपको तरो-ताजा और शांत बना सकता है। कुछ मजेदार डिश बनाना भी आपके दिमाग को फ्रेश कर सकता है।

मॉक टेस्ट और फिर टॉपिक्स के हिसाब से क्वेश्चन करें सॉल्व

मॉक टेस्ट ऐसी प्रक्रिया है जिससे आप खुद का सही आकलन कर सकती हैं। इनकी प्रैक्टिस से आपकी कमजोरियां और मजबूती दोनों का सही ढंग से पता चल जाता है। रीविजन के लिए नोट्स और कोचिंग मॉड्यूल्स की मदद फायदेमंद साबित हो सकती है।

केमिस्ट्री, फिजिक्स और बायोलॉजी के टॉपिक्स को रिवाइज करने के लिए ऐसी रणनीति बनाएं, जिससे घर की तैयारी में परीक्षा जैसा माहौल बन जाए।

इस तरह से तैयारी आपके लिए शानदार रिजल्ट लेकर जरूर आएगी।

खबरें और भी हैं...