• Hindi News
  • Women
  • PM Imran Khan Climate Change Malik Amin Aslam Minister For State Zartaj Gul Got Into Brawl UN Conference Glasgow

इमरान की मंत्री क्यों भिड़ीं?:ग्लासगो में बीच मीटिंग लड़ पड़े पाकिस्तानी मंत्री, गुस्से में वापस लौंटी जरताज गुल

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के दो मंत्री विदेशी धरती पर आपस में भिड़ गए। स्कॉटलैंड के ग्लास्गो में पिछले महीने क्लाइमेट समिट के दौरान प्रधानमंंत्री इमरान खान के सलाहकार अमीन असलम और महिला मंत्री जरताज गुल लड़ते मिले।

असल में, क्लाइमेट समिट के दौरान ग्लासगो में मंत्री स्तरीय बैठक हुई, जिसमें पाकिस्तान से पूरा डेलिगेशन शामिला हुआ। पाकिस्तान के इस प्रतिनिधिमंडल में पीएम इमरान खान के सलाहकार अमीन असलम और कैबिनेट मंत्री जरताज गुल आपस में भी भिड़ गए। दोनों के बीच यह तनाव इस सीमा तक पहुंच गया कि जरताज गुल समिट छोड़कर स्वदेश वापस लौट आईं।

कैसे पता चला कि दोनों मंत्री भिड़ गए थे
यह मामला दिनों पब्लिक अकाउंट्स कमेटी (पीएमसी) की बैठक में सामने आया। दरअसल, मीटिंग के दौरान कमेटी के मेंबर रियाज फटयाना ने चेयरमैन तनवीर हसन से कहा कि कैबिनेट मंत्री और प्रधानमंत्री के सलाहकार दूसरे मुल्कों में पाकिस्तान की इमेज खराब कर रहे हैं।

रियाज का कहना था कि ग्लास्गो में हुई COP26 मीटिंग के दौरान क्लाइमेट चेंज मिनिस्टर जरताज गुल और प्रधानमंत्री के सलाहकार अमीन असलम आपस में ही लड़ने लगे। घटना से नाराज जरताज समिट बीच में ही छोड़कर वापस देश लौट आईं। रियाज ने कहा कि अगर आज हम हर मामले में फिसड्डी होते जा रहे हैं तो इसकी वजह ऐसे ही मंत्री हैं। 18 लोगों का डेलिगेशन गया था। भूखी अवाम का करोड़ों रुपए खर्च हुआ और अब ये नतीजा सामने आ रहा है। इस मामले की जांच होनी चाहिए।

कैसे खुली पोल?

मामला सुर्खियों में आने के बाद जरताज गुल और असलम सामने आए और सफाई दी। जरताज गुल ने कहा कि इस तरह का कोई वाकया लंदन या ग्लास्गो में नहीं हुआ था। मैं कैबिनेट मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए मुल्क लौटी थी।

पहले भी विवादों में रही हैं जरताज
पिछले साल जब पाकिस्तान में कोरोना तेजी से फैल रहा था तब गुल ने एक सवाल के जवाब में कहा था- कोरोना में 19 पॉइंट्स होते हैं, इसलिए इसे कोविड-19 कहा जाता है। तालिबान ने जब अफगानिस्तान पर कब्जा किया था तब गुल ने कहा था- यह तो इस्लाम की जीत है। पूरा पाकिस्तान इससे खुश है। दूसरी तरफ, क्लाइटमेट चेंज के मुद्दे पर भी उनके कई बयान चर्चित हुए। एक बार उन्होंने कहा था- हमने तो कोयले के फायदे ही सुने हैं, नुकसान के बारे में तो मीडिया बताता है।