• Hindi News
  • Women
  • Producer Alankrita Srivastava Showed Her Consent, Said I Was Shaken After Her Murder

पाकिस्तानी स्टार कंदील बलोच पर भारत में बनेगी फिल्म:भाई ने गला रेतकर कर दी थी हत्या, इंडियन प्रोड्यूसर बोलीं-मर्डर से हिल गई थी

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय फिल्म निर्माता अलंकृता श्रीवास्तव पाकिस्तानी सोशल मीडिया स्टार कंदील बलोच पर फिल्म बनाने जा रही हैं। कंदील बलोच की 2016 में 26 साल की उम्र में हत्या कर दी गई थी। अलंकृता श्रीवास्तव, सह-निर्माता विकास शर्मा और सनी खन्ना ने पत्रकार सनम माहेर की किताब 'द सेंसेशनल लाइफ एंड डेथ ऑफ कंदील बलोच' के अधिकार हासिल कर लिए हैं।

नेटफ्लिक्स सीरीज बॉम्बे बेगम्स से फेमस हुयी थीं अलंकृता
अलंकृता श्रीवास्तव अपनी नेटफ्लिक्स श्रृंखला बॉम्बे बेगम्स के लिए भी जानी जाती हैं। उन्होंने कहा, जब 2016 में पाकिस्तान में कंदील बलोच की हत्या हुई थी,तो मैं गहरे सदमे में चली गई थी। यह ऑनर किलिंग था। मैं बार-बार कंदील के वीडियो देखने लगी। मैं उनके बारे में बार-बार सोचती। एक छोटे से गांव की एक गरीब लड़की। वह केवल 26 साल की थी, जब उसे मार दिया गया था। विडंबना यह है कि उनकी मौत के बाद ही उन्हें नारीवादी के रूप में मान्यता मिली।

कंदील बलोच के हौसलों को दुनिया को दिखाना मकसद
अलंकृता आगे कहती है, मैं इस फिल्म के जरिए कंदील बलोच के साहस को दुनिया के सामने लाना चाहती हूं। मैं उनकी यादों को फिर से ताजा करना चाहती हूं। उनका जीवन छोटा था, लेकिन उम्मीदों और हौसलों से भरा हुआ था। निर्माता विकास शर्मा कहते हैं, कंदील की कहानी को फिल्म द्वारा बताए जाने की जरूरत है। अलंकृता फिल्म की निर्माता हैं। उन्हें अपने पात्रों के साथ सहानुभूति है।

नारीवादी फिल्म निर्माता पुरस्कार विजेता है अलंकृता
करीब करीब सिंगल के निर्माता, शर्मा ने प्रकाशन को यह भी बताया कि बलूच की कहानी को "एक संवेदनशील फिल्म निर्माता द्वारा बनाया जाना चाहिए जो महिलाओं की कहानियों के बारे में भावुक हो और श्रीवास्तव बिल्कुल वैसी ही हैं। यह सिर्फ इसलिए नहीं कि वह एक नारीवादी फिल्म निर्माता पुरस्कार विजेता हैं, बल्कि इसलिए कि उन्हें अपने पात्रों के लिए बहुत सहानुभूति है।

दुनिया को हर तरह की कहानियां देखने की जरूरत
वहीं, सह-निर्माता सनी खन्ना ने कहा, कंदील बलोच की कहानी महत्वपूर्ण और प्रासंगिक है। मेरा मानना है कि लोगों को इस फिल्म को देखना चाहिए। मैं इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। इस तथ्य के कारण कि आज भी महिलाएं अक्सर खतरे में रहती हैं। भारतीय फिल्म निर्माता का मानना है कि दुनिया को इस तरह की कहानियां देखने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...