• Hindi News
  • Women
  • Ranbir Kapoor's Girlfriend Lisa Haydon Was Not Able To Touch Obesity, What Does This Model Take In Diet

3 बच्चों की एक्ट्रेस मां का सुपर स्लिम फिगर सीक्रेट:रणबीर की फिल्मी 'गर्लफ्रेंड' से दूर रहा माेटापा, डाइट में क्या लेती है मॉडल

नई दिल्ली3 महीने पहलेलेखक: निशा सिन्हा
  • कॉपी लिंक

मॉडल-एक्ट्रेस लीजा हेडन तीन बच्चों की मां होने के बावजूद बेहद स्लिम हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसर वह एक खास तरह का ब्लड ग्रुप डाइट फॉलो करती हैं। इसके साथ ही वह योग में भी करती हैं।

लीजा बचपन में योग इंस्ट्रक्टर बनना चाहती थी।
लीजा बचपन में योग इंस्ट्रक्टर बनना चाहती थी।

फिल्म ए दिल है मुश्किल में रणबीर कपूर की गर्लफ्रेंड बनी लीजा हेडन को फिल्म क्वीन में देखा। कंगना की दोस्त के रूप में एक सिंपल रोल को उन्होंने यादगार बना दिया। लीजा का पूरा नाम एलिजाबेथ मारी हेडन है। तमिलनाडु में जन्मी लीजा की मां आष्ट्रेलियन और पिता मलयाली हैं। कई मशहूर हिंदी-अंग्रेजी फैशन मैगजीन की कवर मॉडल रह चुकी लीजा ने साल 2016 में बिजनेसमैन डिनो ललवानी से शादी की। उनके तीन बच्चे हैं। इसके बावजूद लीजा बेहद फिट हैं। ब्लड ग्रुप डाइट फॉलो करने के साथ ही वह खुद को फिट रखने के लिए योग भी करती है।

ब्लड ग्रुप डायट क्या ह
साल 1996 में ब्लड ग्रुप डाइट का आइडिया नेचुरोपैथ पीटर जे. डीएडेमो ने तैयार किया। उन्होंने अपनी किताब ट राइट 4 योर टाइप में इसका जिक्र किया। इस किताब में चार मुख्य ब्लड ग्रुप को फोकस करते हुए डाइट का जिक्र किया गया। पीटर का मानना था कि खाने के बाद फूड ब्लड में मिलकर अपनी प्रतिक्रिया देता है। ऐसे में ब्लड ग्रुप के मुताबिक खाना खाते हैं, तो यह शरीर में आसानी से पचता है। इस वजह से वजन आसानी से कम होता है। उनका मानना था कि ऐसा करने से शरीर को एनर्जी भी मिलती है और बीमारियां दूर रहती है।

लीजा प्रेग्नेंसी के दौरान योग भी करती रहीं।
लीजा प्रेग्नेंसी के दौरान योग भी करती रहीं।

क्या वाकई स्लिम होने का यह फॉर्मूला सही है
मणिपाल हॉस्पिटल की डायटीशियन डॉ. अदिति शर्मा के अनुसार, ब्लड ग्रुप डाइट फॉलो करने को वजन कम करने का हेल्दी तरीका नहीं माना जा सकता है। इसे लंबे समय तक फॉलो करने से शरीर में दूसरी चीजों की कमी हो सकती है। वह बताती हैं कि इस डायट में O ब्लड ग्रुप वालों को हाई-प्रोटीन डाइट फॉलो करने को कहा जाता है। इसमें मीट, मछली, फिश जैसी चीजों को कहा जाता है। वही A ब्लड ग्रुप वालों को फल और सब्जियां खानी होती है।
दूसरे शब्दों में कहें, तो इस ब्लड ग्रुप के लोग नॉनवेज फ्री डाइट लेते हैं। टाइप B ब्लड के लोग सब्जियां, फल अंडे को खाने में शामिल करते हैं, तो टाइप AB ब्लड ग्रुप होने पर टाइप A और टाइप B में शामिल फूड्स ले सकते हैं।

सही डाइट लेकर वजन कम करना ज्यादा बेहतर है।
सही डाइट लेकर वजन कम करना ज्यादा बेहतर है।

वजन कम करने के लिए शॉर्टकट सही नहीं
द जर्नल ऑफ द एकेडमी ऑफ न्यूट्रिशन एंड डायटिक्स में प्रकाशित एक अध्ययन में शामिल शोधकर्ताओं ने इसे डाइट टाइप को मानने से इनकार कर दिया। इस अध्ययन में कहा गया कि फल-सब्जियां सभी तरह के ब्लड ग्रुप के लोगों के लिए अच्छी मानी गई है। इसे केवल किसी खास ब्लड ग्रुप के साथ जोड़कर नही देखा जा सकता है।
डा. अदिति शर्मा बताती हैं कि इस तरीके से वजन जल्दी कम होता है क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट और फैट को तरजीह नहीं दी गई है लेकिन वजन कम करने का यह तरीका सही नहीं है। इसके साथ ही हर व्यक्ति को यह डाइट टाइप सूट करेगा, यह भी तय नहीं है। वजन कम करने के लिए कई और भी हेल्दी तरीके हैं जिसकाे फॉलो किया जाए, तो दो हफ्ते में दो से ढाई किलोग्राम वजन कम किया जा सकता है और शरीर को पोषण भी मिलता रहता है।