• Hindi News
  • Women
  • Shay Gill Was Convinced Of The Talent Of The College Student, Also Got Praise On The International Stage

‘पसूरी’ पर रबाब की धुन बजाकर छाए सूफियान मलिक:कॉलेज स्टूडेंट के टैलेंट की कायल हुईं शे गिल, इंटरनेशनल मंच पर भी मिली तारीफ

नई दिल्ली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कश्मीरी आर्टिस्ट सूफियान मलिक का 'पसूरी' गाने पर रबाब बजाते हुए एक वीडियो इन दिनों खूब वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर लोगों को उनका यह अंदाज खूब भा रहा है। रबाब एक म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट है। इस परफॉर्मेंस को देख 'पसूरी' गाने की सिंगर शे गिल ने भी उनकी तारीफ की।

इंस्टाग्राम पर वीडियो डालते ही हुआ वायरल

19 जून को सूफियान ने यह वीडियो अपलोड की थी। इसमें उन्होंने कोक स्टूडियो सीजन 14 में पाकिस्तान सिंगर अली सेठी और शे गिल के गाए मशहूर गाने 'पसूरी' पर रबाब से धुन बजाई। इस वीडियो के साथ उन्होंने दोनों गायकों को भी टैग किया। जैसे ही यह वीडियो अपलोड की तो लोगों ने इसे खूब शेयर किया। इस पर शे गिल ने कमेंट कर ‘खूबसूरत’ लिखा। लाहौर की रहने वालीं शे गिल भी सोशल मीडिया से मशहूर हुई थीं। उन्होंने दोस्तों के कहने पर इंस्टाग्राम का अकाउंट खोला। उनकी मीठी आवाज में गाए गाने लोगों के बीच हिट होने लगे थे। इसके बाद ही उन्हें कोक स्टूडियो के मंच पर गाने का मौका मिला।

'पसूरी' सिंगर अली सेठी ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर की थी वीडियो
'पसूरी' सिंगर अली सेठी ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर की थी वीडियो

राज्य पुरस्कार मिला, पद्मश्री के लिए हुए नॉमिनेट

20 साल के सूफियान मलिक के इंस्टाग्राम पर 35800 फॉलोअर्स हैं। उन्हें साल 2020 में रबाब आर्टिस्ट के तौर पर राज्य पुरस्कार मिला। वहीं, 2021 में उन्हें पद्मश्री के लिए नॉमिनेट किया गया।

ये युवा कश्मीरी आर्टिस्ट रबाब जैसे म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट को दोबारा चर्चा में लाए। वह 2018 में अमेरिका के लॉस एंजिल्स के एक होटल में भी रबाब बजाकर परफॉर्म कर चुके हैं।

एचबीओ ने सिलेक्ट की वीडियो

सूफियान मलिक कॉलेज में पढ़ते हैं। बचपन से ही उन्हें म्यूजिक का शौक रहा है। वह कश्मीरी परंपरा को जिंदा रखना चाहते हैं इसलिए उन्होंने म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट के तौर पर गिटार या ड्रम की बजाय रबाब को चुना। उन्होंने एक वीडियो बनाया जो गेम ऑफ थ्रोन को समर्पित था। इसे 2019 में एचबीओ ने अपने ऑफिशियल गोट ( गेम ऑफ थ्रोन) फैन एंथम के तौर पर सिलेक्ट किया। भारत से यह इकलौती एंट्री थी। उन्होंने पाइरेट्स ऑफ द कैरेबियन की थीम पर भी धुन बजाई जो कश्मीर के लोगों को खूब पसंद आई थी।

इंस्टाग्राम पर वीडियो को मिले 170k व्यू
इंस्टाग्राम पर वीडियो को मिले 170k व्यू

अफगानिस्तान से आया है रबाब

रबाब एक म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट है। यह अफगानिस्तान में बना। पश्तो, बलूच, सिंधी और कश्मीरी म्यूजिक में इसे खूब बजाया जाता है। इसका इस्तेमाल सबसे पहले सिख धर्म में मिलता है। इसे गुरु नानक देव के साथी भाई मर्दाना शबद सुनाने के दौरान बजाते थे।

खबरें और भी हैं...