• Hindi News
  • Women
  • Someone Gave Glamorous Look To Isha Ambani And Someone Made Madhuri Dixit's Hair Dresser

करीना कपूर-आलिया भट्‌ट-सनी लियोनी के स्टाइलिस्ट हैं पुरुष:किसी ने ईशा अंबानी को दिया ग्लैमरस लुक तो कोई माधुरी दीक्षित का बना हेयर ड्रेसर

ऐश्वर्या शर्मा/ कमला बडोनी21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लोग कहते हैं बदलता है जमाना सब को

लेकिन मर्द वो हैं जो जमाने को बदल देते हैं...

आज इंटरनेशनल मेन्स डे है। हो सकता है कि आपके मन में यह सवाल उठे कि महिलाएं अबला होती हैं इसलिए उन्हें महिला दिवस की जरूरत पड़ती है लेकिन मर्दों के नाम एक खास करने की क्या जरूरत है?

तो आपकी इस गलतफहमी को हम दूर कर देते हैं। महिलाओं की तरह मर्दों की भी अपनी कुछ उलझनें और परेशानियां होती हैं।

मजाक की बात नहीं, इस बात में सच्चाई है कि मर्द को भी दर्द होता है।

इसका सबूत है कनाडा के ‘करंट बायोलॉजी’ नाम के जर्नल में छपी एक स्टडी। इसमें साफ शब्दों में कहा गया कि मर्द को औरत से ज्यादा दर्द महसूस होता है।

खैर हम आज मर्द के दर्द की बात नहीं करेंगे। इससे ऊपर उठते हैं।

एक कहावत है 'हर सफल पुरुष के पीछे महिला का हाथ होता है' लेकिन इस कहावत को पलट दें तो 'हर सफल महिला के पीछे पुरुष का हाथ है', कहना भी गलत नहीं। आज हम आपको कुछ ऐसे पुरुषों से मिलवा रहे हैं जो फैशन और ब्यूटी की पावरफुल दुनिया से जुड़े हैं और कई सफल महिलाओं की सफलता में उनका हाथ है।

तो चलिए सबसे पहले मिलते हैं मेकअप की दुनिया के बादशाहों से लेकिन उससे पहले बताते हैं कि इंटरनेशनल मेन्स डे हर देश में नहीं मनाया जाता :

मां-बहन से हुई शुरुआत, आज करते हैं करीना कपूर का मेकअप

बॉलीवुड के मशहूर मेकअप आर्टिस्ट कपिल भल्ला ने 15 साल की उम्र से मेकअप करना शुरू कर दिया था। शुरुआत उन्होंने घर पर मां और बहन के मेकअप से की लेकिन देखते-देखते वह शिल्पा शेट्टी, बिपाशा बसु जैसी नामी एक्ट्रेसेज के मेकअप आर्टिस्ट बन गए। कई साल से अब वह करीना कपूर खान का मेकअप कर रहे हैं। हालांकि उनका सफर आसान नहीं था।

वुमन भास्कर को उन्होंने बताया कि 'जब मैं कॉलेज में था तब सब डॉक्टर, वकील, इंजीनियर बनने का सोचते थे, जबकि मैं मेकअप आर्टिस्ट बनना चाहता था। मेरे पापा कैमरामैन थे। तो जब मैंने इस प्रोफेशन को चुना तो मेरे घर में कई लोग मुझसे नाराज हुए क्योंकि 90 के दशक में मेकअप आर्टिस्ट बनना अच्छा नहीं समझा जाता था। मुझे ताने मारे गए। कहने वालों ने कहा कि कैमरामैन का बेटा अब मेकअप आर्टिस्ट बनेगा? लेकिन मुझे मेरी मां और बहन का जबरदस्त सपोर्ट मिला।

मां समझ गई थीं कि मैं क्रिएटिव हूं और इसी फील्ड में अच्छा कर सकता हूं।'

श्रीदेवी की फोटो देखकर मेकअप करता था

मुझे श्रीदेवी बहुत अच्छी लगती हैं। मैंने उनकी पिक्चर्स देखकर वैसा मेकअप करना शुरू किया। एक दिन जब मुझे उनका मेकअप करने का मौका मिला तो ऐसा लगा मेरी जिंदगी का सपना पूरा हो गया। मेकअप करते वक्त मेरा फोकस आंखों पर रहता है।'

आगे बढ़ने से पहले आपको बताते हैं कि ब्यूटी की फील्ड में पुरुषों ने ही पहले बढ़ाए थे कदम:

‘संजू’ में अनुष्का शर्मा और ‘2 स्टेट्स’ में आलिया को दिया डिफरेंट लुक

वरदान नायक ने ‘स्टूडेंट्स ऑफ ईयर’ से आलिया भट्ट के साथ इस फील्ड में इंडिपेंडेंट काम करना शुरू किया।

हालांकि, उनके दादा, पापा भी बॉलीवुड में मेकअप आर्टिस्ट रहे हैं। लेकिन फिर भी उन्होंने काफी संघर्ष किया।

बचपन में वह अपनी मां, बहन और घर की हेल्प तक का मेकअप कर देते थे। उन्हें अपने पापा का काम बहुत अच्छा लगता था। हालांकि उनके पापा नहीं चाहते थे कि वह इस फील्ड में जल्दी आएं।

इस काम की अहमियत समझाने के लिए उन्होंने वरदान को कहा कि 10 दिन तक यह काम करो फिर बताना कैसे लगा काम। उन्होंने दिन-रात सेट पर काम किया। सिर्फ 2-3 घंटे सोते। वह कहते हैं कि जिंदगी वह दिन उन्हें हमेशा याद रहेंगे। तब उन्हें समझ आया कि मेकअप आर्टिस्ट का प्रोफेशन आसान नहीं है।

उनके करियर का सबसे मुश्किल टास्क था अनुष्का शर्मा को फिल्म 'संजू' के लिए नया लुक देना। फिर उन्होंने ‘2 स्टेट्स’ में आलिया भट्ट को भी डिफरेंट लुक दिया।

वरदान कहते हैं कि आर्टिस्ट और स्टोरी के कैरेक्टर को लुक देना आसान काम नहीं। इसके लिए स्क्रिप्ट पढ़नी पड़ती है। कैरेक्टर को जानना पड़ता है फिर खूब रिसर्च की जाती है। इसके बाद लुक पर काम किया जाता है।

साथ ही उन्होंने बताया कि मेकअप आर्टिस्ट को 3 चीजें जरूर आनी चाहिए- ब्यूटी, प्रोस्थेटिक और लुक्स डिजाइनिंग।

लेकिन मैं हमेशा ब्यूटी को चुनता हूं।

जब आप चेहरा देखते हैं तो सबसे पहले देखना चाहिए कि कौन-सा फीचर ज्यादा अट्रैक्टिव है। वह आंखें, होंठ, चिक बोन कुछ भी हो सकता है। मैं मेकअप करते वक्त एक ही फीचर पर फोकस करता हूं।

वरदान नायक ने आलिया के अलावा कई सेलिब्रिटीज का मेकअप किया है
वरदान नायक ने आलिया के अलावा कई सेलिब्रिटीज का मेकअप किया है

इंडस्ट्री के टॉप मेकअप आर्टिस्ट मिक्की कॉन्ट्रैक्टर को 10 साल असिस्ट किया

सेलिब्रिटी मेकअप आर्टिस्ट वरदान नायक ने करीब 10 साल तक मिक्की कॉन्ट्रैक्टर को असिस्ट किया। वह कहते हैं कि उन्होंने मेकअप की बारीकियां उन्हीं से सीखीं। वे दोनों रेस्टोरेंट में नोटबुक के साथ बैठ जाते थे। जब भी कोई लड़की एंट्री लेती तो दोनों मिलकर लड़की की ड्रेस का कलर और फाउंडेशन का नाम अलग-अलग लिखते। बाद में चेक करते और देखते कि उनके जवाब आपस में कितने मिलते है। यह वरदान के लिए मेकअप की स्कूलिंग और लर्निंग दोनों थीं।

उन्होंने बताया कि जब उन्होंने 14 साल की उम्र से काम शुरू किया तब फाउंडेशन के शेड्स नहीं होते थे। तब उन्हें वाइट, रेड, ब्लू और यलो कलर को मिक्स कर फाउंडेशन बनाना पड़ता था जो बेहद मुश्किल काम था।

सलमा आगा ने दिया ‘वरदान’ नाम

वरदान को उनका यह नाम पाकिस्तान की सिंगर, एक्टर सलमा आगा ने दिया। वरदान के पापा ने सलमा आगा के साथ लंबे समय तक काम किया था।

माधुरी दीक्षित के मैनेजर रिंकू राकेश से सलमा आगा को जब उनके जन्म की खबर मिली तो उन्होंने खुश होकर वरदान के पेरेंट्स को बुके भिजवाया और साथ ही उनके नाम का सुझाव भी दिया जो उनके पेरेंट्स को बहुत पसंद आया। और इस तरह उनका नाम वरदान पड़ा।

बहन को देखकर ड्रेस डिजाइनिंग में बढ़ी रुचि

सुपरमॉडल और बॉलीवुड एक्ट्रेस मुग्धा गोडसे के लिए ड्रेस डिजाइन कर चुके फैशन डिजाइनर आसिफ मर्चेंट का नाम आपने सुना होगा। क्या आप जानते हैं कि उन्होंने सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद फैशन डिजाइनर बनने का फैसला लिया। अपनी बड़ी बहन को देखकर ही उन्हें ड्रेस डिजाइनिंग का शौक चढ़ा।

सिविल इंजीनियरिंग और फैशन डिजाइनिंग दोनों में ही इमेजिनेशन और अच्छी ड्रॉइंग की जरूरत पड़ती है और मुझे ये दोनों ही काम पसंद हैं। बहन के साथ डिजाइनिंग करते रहे और उसी दौरान एक एक्सपोर्ट हाउस से बहुत बड़ा ऑर्डर मिला। ऐसे उनका पार्ट टाइम काम फुल टाइम करियर में बदल गया। उन्हें लंदन की फैशन एग्जीबिशन में काम करने का मौका मिला। मौके मिलते गए, काम बढ़ता गया। फिर उन्होंने पलट कर नहीं देखा।

महिलाओं की खूबसूरती है स्माइल, माधुरी दीक्षित का हेयर स्टाइल बनाना पसंद

महाराष्ट्र में गणपति की मूर्तियां बनाने का काम बहुत होता है। मुझे भी गणपति के चेहरे की पेंटिंग करना बहुत पसंद आता था। बप्पा का चेहरा सजाते-सजाते कब सेलिब्रिटीज को सजाने लगा, पता ही नहीं चला। सबसे पहले मुझे श्रीमान-श्रीमति शो का काम मिला, फिर फिल्मों में काम करने लगा।

मैंने माधुरी दीक्षित जी के साथ बहुत काम किया है। उनकी स्माइल इतनी खूबसूरत है कि उनके चेहरे का मेकअप और हेयरस्टाइल करना अच्छा लगता है। माधुरी दीक्षित के साथ मैंने देवदास, आजा नच ले, हम तुम्हारे हैं सनम फिल्मों में काम किया है। इसके अलावा जूही चावला, किरण खेर, अमृता राव, नगमा आदि के साथ काम किया। मैं हेयर आर्टिस्ट मारिया शर्मा की स्टाइलिंग से बहुत प्रभावित हुआ हूं।

माधुरी दीक्षित का मेकअप करते हुए विनोद घोलप
माधुरी दीक्षित का मेकअप करते हुए विनोद घोलप

सनी लियोनी के फैशन स्टाइलिस्ट अमि पटेल से प्रभावित

जब मैंने फैशन स्टाइलिस्ट के तौर पर काम करना शुरू किया तो मैं सेलिब्रिटी फैशन स्टाइलिस्ट अमि पटेल की स्टाइलिंग से बहुत प्रभावित हुआ। मैं उनके काम को फॉलो करता था। उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा। मैं सनी लियोनी की स्टाइलिंग करता हूं। उन्हें शिमरी कपड़े पसंद नहीं आते इसलिए मैं उनकी स्टाइलिंग में ऐसे आउटफिट्स शामिल नहीं करता। सनी लियोनी का पर्सनल स्टाइल ही उन्हें यूनीक बनाता है।

तो चलिए अब आपको बताते हैं क्यों मनाया जाता है इंटरनेशनल मेन्स डे :

ग्राफिक्स: सत्यम परिडा

खबरें और भी हैं...