• Hindi News
  • Women
  • The In laws Rejected, The Middle aged Relationship Came For The Second Marriage, The Nephew Got The Relationship Done Online

शादी के 14 महीने बाद विधवा हुई बेटी:ससुराल ने ठुकराया, दूसरी शादी के लिए अधेड़ उम्र के रिश्ते आते, भतीजे ने ऑनलाइन कराया रिश्ता

नई दिल्ली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कहते हैं जोड़ियां स्वर्ग में बनती हैं, लेकिन आज के दौर में इंटरनेट पर तय हो रही हैं। शादी के लिए रिश्ते ढूंढना कठिन काम है, लेकिन दूसरी शादी के लिए रिश्ते ढूंढना टेढ़ी खीर है। आपकी परेशानियों का हल इंटरनेट पर मौजूद है।

परदेस से आई शौहर की मौत की खबर ने बच्ची की दुनिया उजाड़ दी।
परदेस से आई शौहर की मौत की खबर ने बच्ची की दुनिया उजाड़ दी।

सुहाग उजड़ा तो ताने ही ताने सहे

उत्तर प्रदेश के फैजाबाद की रहने वाली रेशमा खान कहती हैं, 2011 में मैंने बेटी सूफिया की शादी जान पहचान में की थी, लड़का अच्छा था सऊदी में कमाता था। शायद उसे पहले से कोई बीमारी थी जो हमसे छिपाई गई। शादी के 14 महीने बाद ही उसके शौहर की मौत हो गई।

ससुराल वालों को लगता था कि शादी होते ही उनके बेटे को खा गई। वो वक्त बहुत ही सख्त था। मैं खुद बेवा हूं बेटों के आसरे जिंदगी गुजार रही हूं, उस पर से बेवा बेटी को मायके लाकर साथ रखना मेरे लिए मुश्किल था।

जल्दी ही हम उसका दूसरा रिश्ता ढूंढने लगे। कभी कोई दुहाजू कहकर इंकार कर देता तो कभी रिश्ते इतने खराब होते कि मजबूरन मुझे मना करना पड़ता। क्योंकि अधेड़ उम्र के रिश्ते होते थे। मेरे भतीजे ने इंटरनेट पर रिश्ता ढूंढ कर सूफिया की दूसरी शादी कराई। अब बेटी अपने दूसरे शौहर और एक बेटी के साथ खुश है।

ससुर ने बेटी बनाकर विदा किया

प्रयाग राज की राधा सेठ कहती है मेरी शादी 2009 में वाराणसी के एक संपन्न परिवार में हुई थी। शादी के 7 महीने बाद ही पति की रोड एक्सीडेंट मौत हो गई। उस समय मैं प्रेग्नेंट थी। मेरा एक बेटा है। पति के जाने के थोड़े दिन बाद ही मेरे घर वाले दूसरी शादी के लिए पीछे पड़ गए। मैं शादी नहीं करना चाहती थी। जेठ और ससुर जी के बहुत समझाने पर मैंने दूसरी शादी का फैसला किया।

शादी डॉट कॉम के जरिये मेरा रिश्ता हुआ। इत्तेफाक से वो लोग भी वाराणसी के रहने वाले थे, इसलिए महीने अंदर ही बात पक्की हो गई। ससुर जी ने बेटी बनाकर विदा किया। आज भी मैं बेटे को उसके दादा-दादी से मिलवा ने ले जाती हूं। पति और ससुराल वालों को कोई दिक्कत नहीं हैं। दोनों ही परिवारों का आपस में अच्छा रिश्ता है।

दूसरी शादी के लिए अच्छे रिश्ते नहीं मिलते

यह सिर्फ रेशमा की बेटी और रेखा की आपबीती नहीं, ऐसी बहुत लड़कियां हैं जो कम उम्र में विधवा हो जाती हैं। समाज उन्हें बेचारी नजर से देखता है। मां-बाप बेटी की दूसरी शादी करना चाहते हैं तो उन्हें अच्छे रिश्ते नहीं मिलते। ऐसे में विडो मैरिज साइट अच्छा रोल निभा रही है, जिसके जरिए दोबारा शादी कराई जा सकती है। यहां सभी धर्म-जाति और समुदाय के अच्छे रिश्ते मौजूद हैं।

विधवा जीवन साथी का सेक्शन बनाया, उसमें दो ऑप्शन हैं पहला विथ चाइल्ड और विथआउट चाइल्ड।
विधवा जीवन साथी का सेक्शन बनाया, उसमें दो ऑप्शन हैं पहला विथ चाइल्ड और विथआउट चाइल्ड।

विधवा जीवन साथी का अलग सेक्शन

शादी डॉट कॉम की रिलेशनशिप मैनेजर नैंसी ठाकुर कहती हैं, हमारे पास री-मैरिज के बहुत से केस आते हैं। मां-बाप तलाकशुदा और विडो लड़के-लड़कियों के लिए अच्छे रिश्ते की डिमांड करते हैं। हम उनकी जरूरत की हिसाब से रिश्ते ढूंढते हैं। कई बार अच्छे रिश्ते मिलने में वक्त लगता है, लेकिन जब क्लाइंट को अच्छे रिश्ते मिल जाते हैं तो वो खुश होते हैं।

नैंसी कहती हैं, हम लोग सभी तरह के रिश्ते करते हैं, लेकिन विधवा जीवन साथी का अलग से सेक्शन बनाया है। उसमें दो ऑप्शन हैं- पहला विथ चाइल्ड और दूसरा विथआउट चाइल्ड। मेंबर अपनी जरूरत के मुताबिक रिश्ते फिल्टर कर सकते हैं।

क्लाइंट के हिसाब से रिलेशन एसोसिएट रिश्ता ढूंढता है।
क्लाइंट के हिसाब से रिलेशन एसोसिएट रिश्ता ढूंढता है।

अलग-अलग प्लान के तहत होता है रजिस्ट्रेशन

इस तरह के ऑनलाइन मैरिज ब्यूरो में रजिस्टर करने के लिए आपको 3 महीना, 6 महीना और सलाना प्लान लेना पड़गा। इसके बाद क्लाइंट को रिलेशन एसोसिएट दिया जाता है जो उनके हिसाब से रिश्ता ढूंढता है।

ऐसे करें अप्लाई

मेट्रीमोनी वेबसाइट पर जाकर सेकंड मैरिज या विडो मैरिज सेक्शन में रजिस्टर कराएं। मोबाइल नंबर, ईमेल, पता देकर साइन अप करें। यहां पसंद के हिसाब से विधवा शादी के लिए ऑप्शन चुनें। इसके बाद आपके सामने पूरी लिस्ट आ जाएगी। अपनी पसंद की प्रोफाइल को मैसेज कर सकते हैं। रिप्लाई आने के बाद, आप एक दूसरे से मिल कर सकते हैं। रिश्ता पसंद आने पर फोन नंबर, फोटो शेयर करें।

खबरें और भी हैं...