• Hindi News
  • Women
  • This Girl Has Been An Olympic Gold Medalist, Now Warned Putin's Soldiers Will Not Survive

यूक्रेनी स्टार शूटर लगाएगी रूसी सैनिकों के सिर पर निशाना:ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रह चुकी है ये लड़की, अब दी चेतावनी-नहीं बचेंगे पुतिन के सोल्जर्स

कीव3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रूस-यूक्रेन जंग को 80 दिन बीत चुके हैं। यूक्रेन के कई शहरों पर रूसी हमले अभी भी जारी हैं। जंग में अब तक दोनों ही देशों के हजारों लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच, यूक्रेन ने अपने देश की रक्षा के लिए आम लोगों को सेना में भर्ती करने का अभियान तेज कर दिया है। मातृभूमि की रक्षा करने के लिए यूक्रेनी खिलाड़ी, अधिकारी, फिल्म अभिनेता और मॉडल भी सेना में शामिल हो रहे हैं। यूक्रेन की चैंपियन शूटर और ओलिंपिक स्वर्ण पदक विजेता क्रिस्टीना दिमित्रेंको ने भी अपने हथियार उठा लिए हैं।

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन की ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट क्रिस्टीना दिमित्रेंको रूस के खिलाफ जंग लड़ने के लिए सैन्य प्रशिक्षण ले रही हैं। 22 वर्षीय महिला खिलाड़ी यह जानते और समझते हुए खुद को जंग के लिए तैयार कर रही हैं कि यहां उनके सामने लक्ष्य के तौर पर कोई धातु का टारगेट नहीं, बल्कि रूसी सैनिक होंगे। क्रिस्टीना दिमित्रेंको ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की सेना को चेतावनी देते हुए कहा कि वह निशाने पर गोली मारती हैं। रूसी सैनिकों पर गोलियां चलाते वक्त उनके हाथ नहीं कांपेंगे। रूसी सैनिकों को उनकी गोली से बचने का मौका नहीं मिलेगा। उन्हें अब दुश्मनों से डर नहीं लगता।

यूक्रेन की स्टार शूटर क्रिस्टीना दिमित्रेंको। शूटिंग की ट्रेनिंग छोड़ देश की रक्षा के लिए उठाए हथियार। सेना में हुईं शामिल।
यूक्रेन की स्टार शूटर क्रिस्टीना दिमित्रेंको। शूटिंग की ट्रेनिंग छोड़ देश की रक्षा के लिए उठाए हथियार। सेना में हुईं शामिल।

खेल की ट्रेनिंग छोड़, देश की रक्षा का जिम्मा उठाया
रूस और यूक्रेन के बीच जब जंग छिड़ी, उस वक्त क्रिस्टीना दिमित्रेंको उत्तरी शहर चेर्निहाइव में इंटरनेशनल कम्पटीशन की तैयारी कर रही थीं। तभी 24 फरवरी को उनके एक दोस्त ने मैसेज के जरिये बताया कि उनके देश पर हमला हो गया। दोस्तों ने युद्ध की भयावह तस्वीरें भेजीं। अब अब वह अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए यूक्रेनी नेशनल गार्ड के साथ ड्यूटी कर रही हैं।

क्रिस्टीना दिमित्रेंको ने कहा, ''उन्होंने अपने जीवन में कभी नहीं सोचा था कि ऐसा होगा। शायद कोई इसकी कल्पना नहीं कर सकता था। वह अच्छी तरह शूट कर सकती हैं। इसलिए आक्रमणकारियों के पास बचने का मौका नहीं होगा। भले ही उन्हें अपनी बायथलॉन राइफल को अस्थायी रूप से मशीन गन से बदलना पड़े। वह अंत तक डटी रहेंगी और जीत हमारी ही होगी। दुश्मन उनसे बच नहीं पाएगा।''

साल 2016 में ओलिंपिक में जीता था गोल्ड मेडल
महिला खिलाड़ी क्रिस्टीना दिमित्रेंको ने साल 2016 के यूथ ओलिंपिक गेम्स में बायथलॉन में स्वर्ण पदक जीता था। इस खेल में क्रॉस-कंट्री स्कीइंग और राइफल शूटिंग दोनों शामिल होती है।

खबरें और भी हैं...