• Hindi News
  • Women
  • Us Army From Applying Lipstick nailpaint To Breast feeding Dress, Whenever Decisions Were Taken In Favor Of Women Soldiers

अमेरिका में महिला सैनिकों के नाप से बनेंगे आर्मर:लिपिस्टिक-नेलपेंट लगाने से लेकर ब्रेस्टफीडिंग की ड्रेस तक जब-जब महिला सैनिकों के हक में हुए फैसले

नई दिल्ली5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिकी सेना ने एक नई पहल की है। अब अमेरिकी सेना में महिला और छोटे कद के पुरुषों के हिसाब से आर्मर मिलेगा। आर्मर तीन नए साइज में एक्स्ट्रा स्मॉल शॉर्ट, स्मॉल शॉर्ट और स्मॉल लान्ग को शामिल किया गया है।

दरअसल लंबे समय से आर्मर के साइज को लेकर महिलाएं और छोटे कद के पुरुष शिकायत कर रहे थे। ये सारे वो फौजी हैं, जिन्होंने लंबे समय तक इराक-अफगानिस्तान में युद्ध संघर्ष देखा है। अब वहां 82वीं एयरबोर्न डिवीजन के 4,500 से अधिक सैनिकों को मॉड्यूलर वेस्ट दिया गया है। जल्द ही महिला सैनिकों को उनके साइज की कॉम्बैट भी शर्ट दी जाएगी।

जब महिला सैनिकों को मिली लिपस्टिक-नेलपेंट की इजाजत

इसी साल फरवरी में अमेरिकी आर्मी नेशनल गार्ड ने महिलाओं को कुछ और मामलों में छूट दी। पहले बालों को खोलकर रखने और लिपस्टिक लगाने की इजाजत नहीं थी। लेकिन अब वो टाइट बन की जगह पोनी या बालों को खुला रखना चाहते तो कर सकती हैं। बालों में हाईलाइट्स, हल्के रंग की लिपस्टिक, नेलपॉलिश भी लगा सकती हैं। जब वो फील्ड और कॉम्बैट में ना हो, तब वो स्टड ईयरिंग्स पहन सकती हैं।

ब्रेस्टफीडिंग को ध्यान में रखते हुए नई टीशर्ट डिजाइन

अमेरिका में ही महिला फौजी जिनके छोटे बच्चे हैं, उनका भी ख्याल रखा गया है। और ऐसा पहली बार हुआ कि ब्रेस्टफीडिंग के लिए नई नर्सिग टीशर्ट बनाई गई है। महिला फौजी बिना अनजिप किया या कवर किए ही अपने बच्चे को दूध पिला सकती हैं। अब ब्रेस्टफीडिंग के लिए उन्हें किसी की आड़ में नहीं जाना होगा।

भारत में एक फीसदी से कम महिला सैनिकों की भागीदारी

भारतीय सेना के तीन अंग आर्मी, नेवी और और एयरफोर्स में महिलाओं की संख्या पुरुषों की तुलना में काफी कम है। तीनों सेना में करीब 14 लाख की फौज है। इसमें महिलाओं की भागीदारी मात्र 0.66 फीसदी है। भारतीय आर्मी में 6807 महिलाएं है। वहीं, भारतीय वायुसेना में 1607 और भारतीय नेवी में 704 महिला शामिल हैं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही एनडीए एग्जाम को लेकर जो फैसला दिया है, उससे यह आंकड़ा भविष्य में बेहतर हो सकता है।

खबरें और भी हैं...