• Hindi News
  • Women
  • Was Broken A Year Ago Due To Miscarriage, Innocent Born Together, Still No Twins

2 बच्चों का जन्म, लेकिन जुड़वा नहीं:सुपरफीटेशन से 5 दिन में दो बार प्रेग्नेंट हुई महिला, दुनिया में ऐसे महज दर्जन भर केस

टेक्सास6 महीने पहले

अमेरिका के टेक्सास की रहने वाली एक महिला 5 दिन में दो बार प्रेग्नेंट हो गई। यह वाकया 25 साल की कारा विनहोल्ड ने सोशल मीडिया पर शेयर किया। एक साल पहले मिसकैरेज होने की वजह से कारा टूट गई थीं, लेकिन अब एक साथ दो बच्चों के जन्म से वे काफी खुश हैं।

लेकिन दोनों बच्चे जुड़वा नहीं
यह मामला है अमेरिकी राज्य कैलिफोर्निया का है। कारा ने 5 दिन में दो बार कंसीव किया। कारा के मुताबिक, वह प्रेगनेंसी प्लान कर रही थीं, लेकिन उन्हें पता चला कि उन्होंने दूसरी बार भी कंसीव किया है। यह तब हुआ वे ऑलरेडी प्रेग्नेंट हो चुकी थीं। कारा ने दूसरा गर्भ कंसीव तो किया, लेकिन यह जुड़वा नहीं थे। दोनों प्रेग्नेंसी में 5 दिन का गैप था। मेडिकल भाषा में इस तरह की सिचुएशन को सुपरफीटेशन कहा जाता है।

साल भर पहले मिसकैरेज होने से कारा काफी टूट गई थीं।
साल भर पहले मिसकैरेज होने से कारा काफी टूट गई थीं।

क्या है सुपरफेटेशन
जब पहले से फर्टिलाइज्ड एग मां के गर्भाशय में पल रहा हो और इसी दौरान प्रेग्नेंट महिला का एग फिर से किसी स्पर्म से फर्टिलाइज हो जाए तो यह सुपरफीटेशन कहलाता है। जब किसी महिला का एग, पहले से चल रही प्रेग्नेंसी के कुछ दिन या हफ्तों में स्पर्म से फर्टिलाइज्ड होता है या इम्प्लांट किया जाता है, तो यह उस महिला की दूसरी गर्भावस्था होती है।

  • दरअसल, गर्भधारण करने के बाद महिला के शरीर में हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। इनकी वजह से महिला के अंडाशय (ovary) से एग निकलने बंद हो जाते हैं। इसलिए इस दौरान फिर से गर्भवती होने की संभावना नहीं रह जाती।
  • सुपरफीटेशन मुश्किल कंडीशन हो सकती है क्योंकि दोनों भ्रूण अलग-अलग फेज में होते हैं। जब एक ज्यादा विकसित हो रहा होता है, तो दूसरा उससे पीछे चल रहा होता है। ऐसे में या तो एक बार डिलीवरी के बाद महिला दूसरे बच्चे को कई दिन तक गर्भ में रखती है। या फिर कॉम्प्लिकेशन होने पर समय से पहले डिलीवरी करानी पड़ सकती है।
  • सुपरफीटेशन जानवरों की प्रजातियों जैसे मछली, हर्ज़ और बैजर्स में अक्सर देखा जाता है, लेकिन मनुष्यों में यह स्थिति बेहद कम ही देखने को मिलती है।
  • डॉक्टर हर दो हफ्ते में कारा का अल्ट्रासाउंड करते रहे, ताकि यह पता चलता रहे कि यह सुपरफीटेशन है या ट्विन एब्जॉर्प्शन, साथ ही यह भी जान सकें कि बच्चा कुपोषित तो नहीं।
कारा ने अपने दोनों बेटों का नाम सेल्सन और सेडन रखा। दुनिया भर में अब तक ऐसे सिर्फ 12 केस देखे गए हैं।
कारा ने अपने दोनों बेटों का नाम सेल्सन और सेडन रखा। दुनिया भर में अब तक ऐसे सिर्फ 12 केस देखे गए हैं।

भ्रूण विकसित होने से तय होता है बच्चे का जन्म
अगर पहले से गर्भवती महिला दोबारा गर्भधारण कर लेती है तो गर्भ में पल रहे दोनों बच्चों का जन्म वैसे तो एक साथ एक ही समय पर होगा, लेकिन उन दोनों के बीच कितना अंतर होगा यह इस पर निर्भर करेगा कि किस भ्रूण ने विकसित होना कब शुरू किया। साथ ही दोनों भ्रूण के आकार और उम्र में भी अंतर होगा।

कारा विनहोल्ड और उनके पति ब्लेक अपने बच्चों के जन्म के बाद से काफी खुश हैं। महिला ने बताया कि 2019 में उनका मिसकैरेज हो गया था लेकिन जब उन्हें ये पता चला कि उनके पेट में दो बच्चे पल रहे हैं तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा। एक बच्चे के बाद उनके पति और वे एक बच्चा प्लान कर रहे थे, लेकिन किसी कारण से तीन बार उनका मिसकैरेज हो गया था।

महिला के दोनों बेटे ना तो टेक्निकली और ना ही आईडेंटिकली ट्विन्स हैं, लेकिन दोनों की शक्लें एक-दूसरे से काफी मिलती हैं।
महिला के दोनों बेटे ना तो टेक्निकली और ना ही आईडेंटिकली ट्विन्स हैं, लेकिन दोनों की शक्लें एक-दूसरे से काफी मिलती हैं।

बेटों की शक्ल मिलती है
कारा ने बताया कि हमारे लिए यह किसी जादू से कम नहीं था। उन्होंने अपने दोनों बेटों का नाम सेल्सन और सेडन रखा। मां ने बताया कि उनके दोनों बेटों की शक्ल काफी मिलती है और हम अक्सर दोनों में काफी कन्फ्यूज हो जाते हैं। कारा ने कहा, दोनों बिल्कुल एक जैसे दिखते हैं, ऐसे में लोग अक्सर पूछते हैं कि दोनों ट्विंस हैं क्या।

ये बच्चे जुड़वा क्यों नहीं...
कारा ने बताया, 'मैं तब प्रेग्नेंट हुई जब मैं पहले से ही प्रेग्नेंट थी। पहले मुझे भी लगता था कि मैं ट्विंस को जन्म दे रही हूं, लेकिन बाद में बहुत से आर्टिकल्स पढ़ने के बाद हमें एहसास हुआ कि वह टेक्निकली ट्विंस नहीं हैं। इस बारे में हम जब लोगों को बताते हैं तो वह काफी कंफ्यूज हो जाते हैं, इसलिए हम उन्हें सच्चाई नहीं बताते। ओडालिस ने बताया कि उनकी दोनों बेटे ना तो टेक्निकली और ना ही आईडेंटिकली ट्विन्स हैं, लेकिन दोनों की शक्लें एक-दूसरे से काफी मिलती हैं।'

2021 में सुपरफीटेशन का एक मामला इंग्लैंड में भी सामने आया था। जहां इंग्लैंड के विल्टशायर में रहने वाली 39 साल के रिबेका रॉबर्ट्स के गर्भ में दो बच्चे थे। जन्म के समय उनका दूसरा बच्चा, पहले बच्चे के वजन का आधा था।
2021 में सुपरफीटेशन का एक मामला इंग्लैंड में भी सामने आया था। जहां इंग्लैंड के विल्टशायर में रहने वाली 39 साल के रिबेका रॉबर्ट्स के गर्भ में दो बच्चे थे। जन्म के समय उनका दूसरा बच्चा, पहले बच्चे के वजन का आधा था।