• Hindi News
  • Women
  • Will Help To Shine The Image Of Pakistan, India Came 10 Years Ago

बेनजीर के बेटे को सियासी दांव-पेंच सिखाएंगी हिना रब्बानी:पाकिस्तान की इमेज चमकाने में मिलेगी मदद, 10 साल पहले आए थे भारत

इस्लामाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री रहीं बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो ने मंत्री पद की शपथ ली है। पिछले दिनों जब शहबाज शरीफ कैबिनेट के बाकी सदस्यों ने शपथ ली थी, बिलावल वहां मौजूद नहीं थे। ऐसे में उम्मीद की जा रही थी कि एक अलग कार्यक्रम में बिलावल शपथ लेंगे। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक बिलावल भुट्टो को विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी दी जाएगी।

बिलावल सबसे कम उम्र में पाकिस्तानी विदेश मंत्री बने हैं।
बिलावल सबसे कम उम्र में पाकिस्तानी विदेश मंत्री बने हैं।

हिना सिखाएंगी बिलावल को कूटनीति और सियासी दांव-पेंच

बिलावल की ही पार्टी की नेता हिना रब्बानी खार को पाकिस्तान का विदेश राज्य मंत्री बनाया गया है। हिना इससे पहले 2011-2013 में भी पाकिस्तान की विदेश मंत्री रह चुकी हैं। जबकि बिलावल के पास सरकार में रहने का कोई अनुभव नहीं है। लेकिन उन्हें सीनियर पोर्टफोलियो मिला है। माना जा रहा है कि अपनी ही पार्टी की जूनियर मंत्री से बिलावल कूटनीति और सियासी दांव-पेंच सीखेंगे।

हिना को पसंद करते थे बिलावल, राष्ट्रपति पिता ने तुड़वाया था रिश्ता

हिना पीपीपी चीफ बिलावल की करीबी मानी जाती हैं। एक समय दोनों के बीच अफेयर के चर्चे थे। पाकिस्तानी मीडिया में दावा किया गया था कि बिलावल से निकाह करने के लिए हिना अपने अरबपति शौहर फिरोज गुलजार को तलाक देने के लिए तैयार हो गई थीं। लेकिन बिलावल के पिता और पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी इस रिश्ते के खिलाफ थे। उन्होंने दबाव डालकर इस प्रेम कहानी का अंत करा दिया। हिना उम्र में बिलावल से 10 साल बड़ी हैं।

बेनजीर भुट्टो मात्र 35 साल की उम्र में पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बनी थीं।
बेनजीर भुट्टो मात्र 35 साल की उम्र में पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बनी थीं।

मां प्रधानमंत्री और पिता राष्ट्रपति रह चुके हैं, भारत से है गहरा नाता

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो की मां बेनजीर भुट्टो पाकिस्तान की प्रधाममंत्री तो उनके पिता आसिफ़ अली ज़रदारी पाकिस्तान के राष्ट्रपति रह चुके हैं। बेनजीर भुट्टो ने अपनी आत्मकथा में खुद को राजस्थान के भाटी राजपूतों का वंशज बताया था। 2020 में जैसलमेर रियासत के पूर्व महाराज बृजराज सिंह के निधन पर भुट्टो परिवार की तरफ से शोक संदेश भेजा गया था। माना जाता है कि राजस्थान के भाटी, भट्टी राजपूत ही पाकिस्तान जाकर भुट्टो कहलाने लगे।

‘मेरी मां कहती थीं हर पााकिस्तानी में एक भारत बसता है’

2012 में अपने पहले भारत दौरे पर बिलावल भुट्टो ने अपनी मां से जुड़े एक किस्से को बताया था। उन्होंने बताया था कि उनकी मां बेनजीर कहा करती थीं ‘हर पााकिस्तानी में एक भारत बसता है।’ अपनी भारत यात्रा के दौरान बिलावल अजमेर शरीफ दरगाह पर जियारत करने भी गए थे। मात्र 35 साल की उम्र में पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बनने वाली बेनजीर भुट्टो की 2007 में आतंकियों ने हत्या कर दी थी।