पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सेक्स सीरियसली:क्या आप जानते हैं कितनी फीसदी महिलाएं करती हैं मास्टरबेशन? इसका सेहत पर क्या होता है असर?

3 दिन पहलेलेखक: कमला बडोनी
  • कॉपी लिंक

सेक्स समस्याओं पर महिलाएं बात नहीं करतीं, जिससे कई बार समस्याएं बढ़ जाती हैं। सेक्सोलॉजिस्ट डॉ. राजन भोसले बता रहे हैं सेक्स समस्याओं के समाधान।

मुझे मास्टरबेशन की आदत है। जल्द ही मेरी शादी होनेवाली है। क्या मास्टरबेशन की आदत की वजह से शादी के बाद हमारी सेक्स लाइफ डिस्टर्ब हो सकती है?

ऐसा बिल्कुल नहीं है, मास्टरबेशन स्त्री और पुरुष दोनों के लिए आम बात है और इससे मैरिड लाइफ पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता है। मास्टरबेशन बेहद निजी मामला है इसलिए प्राइवेसी का ध्यान रखना जरूरी है, आप किसी के सामने मास्टरबेशन नहीं कर सकते। हां, मास्टरबेशन करते समय सफाई, सुरक्षा और प्राइवेसी का ध्यान रखें। आपके हाथ गंदे हैं, नाखून बढ़े हुए हैं, तो आपको इंफेक्शन हो सकता है। साथ ही कोई ऐसी चीज़ इंसर्ट न करें कि घाव या परेशानी हो। जहां तक स्त्री और पुरुष की बात है, तो पुरुषों के लिए कहा जाता है कि 99% पुरुष मास्टरबेशन करते हैं और बचे हुए 1% झूठ बोलते हैं, जबकि महिलाओं के लिए ये आंकड़ा 80 से 85% माना जाता है और बाकी 15% महिलाएं अपनी भावनाओं को सप्रेस करती हैं। कई महिलाएं चाहते हुए भी डर, गलतफहमी, जानकारी के अभाव, प्राइवेसी न मिलने के कारण मास्टरबेशन नहीं कर पातीं, लेकिन अधिकतर महिलाएं अकेले में मास्टरबेशन करती हैं और इसमें कोई बुराई नहीं है।

मेरे पति को फंगल इंफेक्शन हो गया है, फिर भी वो सेक्स के लिए जिद करते हैं। क्या ये मेरे लिए खतरनाक हो सकता है?

बिल्कुल, ये आपके लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। ऐसा भी हो सकता है कि आपके पति में इंफेक्शन के लक्षण मामूली हों, लेकिन आप में ये सीवियर हो सकते हैं। यदि महिला के वेजाइना में इंफेक्शन हो जाए और उसका समय पर इलाज न किया जाए, तो वो हमेशा के लिए इंफर्टाइल हो सकती है, उसके युटेरस की लाइनिंग डैमेज हो सकती हैं, उसके फैलोपियन ट्यूब हमेशा के लिए ब्लॉक हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में वो मां नहीं बन सकती और उसका ट्रीटमेंट भी मुश्किल हो जाता है। फंगल इंफेक्शन 2-3 दिन में दवाइयों से ठीक हो जाता है इसलिए पहले इसका इलाज करा लेना चाहिए। पति को फंगल इंफेक्शन है तो ट्रीटमेंट से पहले सेक्स नहीं करना चाहिए, बहुत जरूरी हो तो कंडोंम का इस्तेमाल करें और इलाज में लापरवाही न करें। महिलाओं को अपने प्राइवेट पार्ट्स की सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए, वरना इंफेक्शन से उनकी सेहत को बहुत नुकसान हो सकता है।

डॉ. राजन भोसले, एमडी
प्रोफेसर एंड एचओडी, सेक्सुअल मेडिसिन डिपार्टमेंट, केईएम हॉस्पिटल एंड जी. एस. मेडिकल कॉलेज

खबरें और भी हैं...