• Home
  • International News

सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश, यहां मंदिर में मुस्लिम करते हैं रामायण का मंचन

dainikbhaskar.com | May 30,2018 13:49 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडोनेशिया के दौर पर हैं। इसे सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश कहा जाता है। पर खास बात ये है कि यहां हिन्दू संस्कृति का भी उतना ही बोलबाला है। यहां रामायण और महाभारत की झलक हर जगह देखने को मिल जाएगी। भगवान गणेश से लेकर हनुमान तक यहां सबके मंदिर मिल जाएंगे। यहां के जर्काता स्क्वेयर पर लगीं कृष्णा और अर्जुन की मूर्तियां खासी मशहूर हैं। यहां आपको मुस्लिम कम्युनिटी के लोग हिन्दू मंदिरों में रामायण का मंचन करते दिख जाएंगे।

किताब लिखने का मामला, पाक ने पूर्व आईएसआई चीफ के देश छोड़ने पर लगाई रोक

DainikBhaskar.com | May 30,2018 12:47 PM IST

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख असद दुर्रानी के देश छोड़ने पर मंगलवार को रोक लगा दी गई। सेना ने गृह मंत्रालय से दुर्रानी का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) में डालने की अपील की थी। सेना ने उनके खिलाफ जांच का आदेश दिया है। उन पर पाक सेना की आचार संहिता के उल्लंघन करने का आरोप है। बता दें कि दुर्रानी और भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के पूर्व प्रमुख एएस दुलत ने 'द स्पाई क्रॉनिकल्स: रॉ, आईएसआई एंड द इल्यूशन ऑफ पीस' नाम से किताब लिखी है। 23 मई को इसे लॉन्च किया गया था।

18 साल बाद उत्तर कोरियाई अफसर यूएस जाएगा, किम ने ट्रम्प से मुलाकात तय करने का जिम्मा सौंपा

DainikBhaskar.com | May 30,2018 12:09 PM IST

प्योंग्यांग. उत्तर कोरिया की कम्युनिस्ट पार्टी के शीर्ष अधिकारी और किम जोंग-उन के करीबी किम योंग चोल अमेरिका के सफर पर निकल चुके हैं। साउथ कोरिया न्यूज एजेंसी योनहैप के मुताबिक, वे अमेरिका जाने के लिए चीन के बीजिंग से उड़ान भरेंगे। वे विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से 12 जून को होने वाली ट्रम्प और किम जोंग की मुलाकात पर बात करेंगे। माना जा रहा है कि दोनों देशों के बीच बातचीत की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। बता दें कि 18 साल पहले वर्ष 2000 में उत्तर कोरिया के एक अधिकारी ने अमेरिका का दौरा किया था। हालांकि, तब दोनों देशों के बीच दोस्ती की कोशिश नाकाम हो गई थी।

दक्षिण अफ्रीका: भारतीय मूल की 9 साल की बच्ची की अपहरण के दौरान गोली लगने से मौत

DainikBhaskar.com | May 30,2018 12:07 PM IST

दक्षिण अफ्रीका के डरबन में भारतीय मूल की एक नौ वर्षीय बच्ची का अपहरण करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है हादसा तब हुआ जब बच्ची सादिया सुखरेजा पिता के साथ कार में स्कूल जा रही थी। तभी बंदूकधारी 3 लोगों ने उनकी कार रुकवाई और पिता को बाहर निकाल दिया। इसके बाद बच्ची समेत कार लेकर भागे। इस पर पिता ने स्थानीय लोगों की मदद से अपहर्ताओं का पीछा किया। अपहर्ताओं ने उन्हें रोकने के लिए गोलियां चलाईं, जवाब में दूसरी ओर से फायरिंग की गई। इस दौरान संदिग्धों की कार एक पार्क के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस कार्रवाई में एक अपहर्ता मारा गया, जबकि एक भागने में सफल रहा। वहीं बच्ची कार में घायल मिली। उसे गोलियां लगीं थीं। उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने तीसरे अपहर्ता को गिरफ्तार कर लिया है। मंगलवार को हुई इस घटना के विरोध में 3,000 लोगों ने डरबन के चैट्सवर्थ थाने के सामने प्रदर्शन किया।