Hindi News »International News »America» Whistle Blower Behind Facebook Data Controversy Christopher Wylie Regrets For His Research

FB डाटा लीक व्हिसल ब्लोअर वायली को पछतावा, बोले- कैंब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस

कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में पैदा हुए क्रिस्टोफर वायली एक डाटा साइंटिस्ट और साइकोलॉजिकल प्रोफाइलिंग के एक्सपर्ट हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 22, 2018, 01:28 PM IST

  • FB डाटा लीक व्हिसल ब्लोअर वायली को पछतावा, बोले- कैंब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस, international news in hindi, world hindi news
    +4और स्लाइड देखें
    फेसबुक डाटा लीक का खुलासा करने वाले क्रिस्टोफर वायली।

    लंदन. फेसबुक डाटा लीक को उजागर कर दुनिया भर में हलचल मचाने वाले क्रिस्टोफर वायली (28) वर्ल्ड मीडिया में टॉप ट्रेंड कर रहे हैं। ब्रिटेन की कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका के रिसर्च हेड पद पर रहते हुए वायली ने ही साइकोलॉजिक प्रोफाइलिंग का सिस्टम डेवलप किया था। 'द ऑब्जर्वर' को दिए इंटरव्यू में वायली ने कहा कि कैंब्रिज एनालिटिका में जॉब से पहले उनको इसका बिल्कुल अंदाजा नहीं था कि वे किसी जाल में फंसने जा रहे हैं। उन्होंने कहा- मुझे कैम्ब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस है।

    क्यों अहम है वायली का इंटरव्यू?

    1# रिसर्च के लिए माफी मांगी

    - वायली ने कहा, "मेरे पास दो कंपनियों से जॉब के ऑफर थे। अफसोस है कि इसमें से कैंब्रिज एनालिटिका को चुना। अपनी रिसर्च के लिए मैं माफी मांगता हूं। कैंब्रिज एनालिटिका सांस्कृतिक युद्ध के लिए हथियारों का जखीरा है।"

    - जब कंपनी ने रिसर्च को अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप के इलेक्शन कैंपेन में यूज किया, तब तक क्रिस्टोफर वायली और उनकी टीम कैंब्रिज एनालिटिका को छोड़ चुके थे।

    2# बताया कैसे भांपते हैं वोटर्स का मूड

    - वायली के मुताबिक, "सोशल मीडिया पर यूजर्स की खुद की तारीफ करने के काफी शौकीन होते हैं। यही एक ऐसी जगह है जहां वे अपनी ज्यादा से ज्यादा जानकारी शेयर करते हैं। जैसे- उनकी पसंद क्या है, वे कहां जा रहे हैं आदि। थर्ड पार्टी एप के जरिए ये डाटा आसानी से इकट्ठा किया जा सकता है और इसी की स्टडी को पॉलिटिकल कैंपेन में इस्तेमाल करते हैं।"

    3# यूजर्स को सलाह भी दी

    - वायली ने यूजर्स को सला दी कि ऐसे प्लेटफार्म का इस्तेमाल करते समय ये ध्यान रखें कि हम क्या देख रहे हैं? क्या सुन रहे हैं? और किससे बात कर रहे हैं?"

    क्या वायली जांच का सामना कर रहे हैं?

    - हां, वायली के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट सस्पेंड कर दिए गए हैं। फेसबुक वायली के सोशल अकाउंट्स की जांच करा रहा है।

    - हालांकि, वायली ने इसे लेकर टि्वटर पर विरोध जताया। उनका कहना है- मैंने कैंब्रिज एनालिटिका के लिए काम ब्रिटिश सरकार के नियमों के अधीन किया और फेसबुक की किसी पॉलिसी को नहीं तोड़ा है।

    - वायली ने इस बात की भी पुष्टि की कि वे यूएस हाउस इंटेलिजेंस कमेटी, ज्यूडिशियरी कमेटी अौर यूके डिजिटल पार्लियामेंट्री कमेटी के सामने पेश होंगे।

    खुद को गे बताने वाले वायली की जिंदगी के 5 अहम पड़ाव

    1) 6 साल की उम्र में शोषण का शिकार हुए

    -कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में पैदा हुए क्रिस्टोफर वायली एक डाटा साइंटिस्ट और साइकोलॉजिकल प्रोफाइलिंग के एक्सपर्ट हैं। खुद को Gay बताने वाले वायली को 6 साल की उम्र में अपने स्कूल में शोषण का शिकार होना पड़ा। इस घटना ने उनका बचपन खराब कर दिया। मेंटल ट्रॉमा से उबारने के लिए डाक्टर पिता और साइकोलॉजिस्ट मां ने उनकी कई साल काउंसलिंग की।

    2) 14 साल की उम्र में स्कूल छोड़ा, माइक्रो टारगेटिंग को समझा

    - 14 साल की उम्र ने वायली ने स्कूल छोड़ दिया। उनकी रुचि पॉलिटिक्स में बढ़ गई और अपने शहर की पॉलिटिक्स में एक्टिव रहते हुए उन्होंने वोटर्स की माइक्रो टारगेटिंग को जाना। 17 साल की उम्र में वायली कनाडाई संसद में इंटर्न बन गए और यहां उन्होंने विपक्ष के नेता के आफिस में काम किया।

    3) ओबामा के रणनीतिकार से सीखे डाटा पॉलिटिक्स के गुर

    -18 साल की उम्र में वायली को पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के राजनीतिक रणनीतिकार केन स्ट्राज्म ने इलेक्शन के लिए माइक्रोटारगेटिंग और डाटा पॉलिटिक्स के गुर सिखाए। 20 साल की उम्र में क्रिस्टोफर वायली लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में लॉ की पढ़ाई करने गए।

    4) कैंब्रिज एनालिटिका में वोटर्स को प्रभावित करने का तरीका खोजा

    -21 साल की उम्र में उनकी पॉलिटिक्स में एंट्री हुई और वे ब्रिटेन की पॉलिटिकल पार्टी लिबरल डेमोक्रेट्स के लिए काम करने लगे। 24 साल की उम्र में वायली कैंब्रिज एनालिटिका के रिसर्च हेड बने और इसी दौरान उनका इंटरेस्ट वोटर्स को प्रभावित करने के तरीकों पर काम में जागा। उन्होंने साइकोलॉजिस्ट की एक टीम के साथ मिलकर साइकोलॉजिकल प्रोफाइलिंग का सिस्टम तैयार किया।

    5) फैशन ट्रेंड्स में भी पीएचडी

    -2015 में वायली और उनकी टीम के आधे से ज्यादा सदस्यों ने कैंब्रिज एनालिटिका को छोड़ दिया। इस दौरान वे फैशन ट्रेंड पर पीएचडी कर रहे थे। रिपोर्ट्स के अनुसार 2009 में क्रिस्टोफर वायली को इसी डाटा पॉलिटिक्स तकनीक के कारण अपनी नौकरी गंवानी पड़ी थी। तब वे कनाडा में एक पॉलिटिकल पार्टी के लीडर के साथ काम कर रहे थे।

  • FB डाटा लीक व्हिसल ब्लोअर वायली को पछतावा, बोले- कैंब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस, international news in hindi, world hindi news
    +4और स्लाइड देखें
    क्रिस्टोफर वायली खुद को गै कहते हैं। 6 साल की उम्र में वायली को अपने स्कूल में शोषण का शिकार होना पड़ा। इस घटना ने उनका बचपन खराब कर दिया।
  • FB डाटा लीक व्हिसल ब्लोअर वायली को पछतावा, बोले- कैंब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस, international news in hindi, world hindi news
    +4और स्लाइड देखें
    डाटा लीक के पूरे घटनाक्रम के बाद तीन दिन पहले वायली के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट सस्पेंड कर दिए गए हैं। फेसबुक इनकी जांच भी करा रहा है।
  • FB डाटा लीक व्हिसल ब्लोअर वायली को पछतावा, बोले- कैंब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस, international news in hindi, world hindi news
    +4और स्लाइड देखें
    18 मार्च को क्रिस्टोफर का फेसबुक भी सस्पेंड कर दिया गया। इसका स्क्रीनशॉट उन्होंने ट्ववीट करके शेयर किया।
  • FB डाटा लीक व्हिसल ब्लोअर वायली को पछतावा, बोले- कैंब्रिज एनालिटिका ज्वॉइन करने पर अफसोस, international news in hindi, world hindi news
    +4और स्लाइड देखें
    अब क्रिस्टोफर वायली सिर्फ ट्विटर पर एक्टिव हैं और दुनिया के सामने अपनी बात खुलकर रख रह हैं। उन्होंने ट्वीट कर बताया है कि वे मामले की जांच के लिए गठित की गई US हाउस इंटेलिजेंस कमेटी, ज्यूडिशियरी कमेटी अौर यूके डिजिटल पार्लियामेंट्री कमेटी के सामने पेश होंगे।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From America

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×