Hindi News »International News »America» Indian Embassy Telephone Lines In US Used To Extort Money For Passport And Visa Application

अमेरिका में भारतीय दूतावास की फोन लाइन इस्तेमाल कर रहे ठग, पासपोर्ट और वीजा के नाम पर लोगों से मांगे जा रहे पैसे

फर्जी कॉल्स पर भारतीय दूतावास ने जारी की एडवाइजरी, अमेरिकी सरकार को दी घटना की जानकारी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 05, 2018, 02:58 PM IST

  • अमेरिका में भारतीय दूतावास की फोन लाइन इस्तेमाल कर रहे ठग, पासपोर्ट और वीजा के नाम पर लोगों से मांगे जा रहे पैसे, international news in hindi, world hindi news
    +1और स्लाइड देखें
    अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, भारतीय दूतावास से ये हैकिंग की पहली शिकायत है। -फाइल

    वॉशिंगटन. अमेरिका में भारतीय दूतावास की टेलीफोन लाइन्स को हैक कर ठगी करने का मामला सामने आया है। भारतीय अफसर के मुताबिक, ठग फर्जी कॉल के जरिए अबतक कई लोगों से पासपोर्ट और वीजा के नाम पर पैसे मांग चुके हैं। यह बात सामने आने के बाद भारतीय दूतावास ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। साथ ही लोगों के लिए एक एडवाइजरी भी जारी की गई है। इसमें कहा गया है कि लोग ऐसे फर्जी फोन कॉल्स से बचें।

    कैसे सामने आया मामला?

    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अमेरिका में रहने वाले कई भारतीयों को ऐसे फर्जी कॉल्स किए गए। इसके बाद लोगों ने इसकी शिकायत दूतावास में की। इनका कहना था कि ठगों ने खुद को दूतावास का अधिकारी बताकर उनसे पैसे मांगे। कॉल्स में ठगों ने दावा किया कि उन्हें सारी जानकारी दूतावास से ही मिली है।

    - मामला सामने आने के बाद भारतीय दूतावास ने ठगी के शिकार लोगों से उनके बैंक अकाउंट डिटेल्स और वेस्टर्न यूनियन ट्रांसफर अकाउंट नंबर लेना शुरू कर दिया है, ताकि इन अकाउंट्स के लेन-देन पर नजर रखी जा सके।

    दूतावास ने एडवाइजरी में क्या कहा?

    - एडवाइजरी में कहा गया है कि भारतीय दूतावास के किसी भी अधिकारी की तरफ से फर्जी कॉल्स नहीं किए गए। अगर हमें किसी शख्स के एक्स्ट्रा डॉक्युमेंट्स की जरूरत होती है तो उसे आधिकारिक आईडी से ई-मेल किया जाता है।

    फर्जी कॉल्स कर ठग लोगों से क्या कहते हैं?

    1. पासपोर्ट, वीजा फॉर्म्स और इमिग्रेशन फॉर्म्स में गलती ठीक करने के नाम पर पर्सनल इन्फॉर्मेशन मांगते हैं। इनमें क्रेडिट कार्ड्स जैसी जानकारियां भी शामिल हैं।

    2. इसके अलावा, धमकी भी देते हैं। कहते हैं- "अगर डॉक्युमेंट्स में गलती ठीक करने के पैसे नहीं चुकाए गए, तो शख्स को डिपोर्ट/गिरफ्तार किया जा सकता है।"

    यूरोपीय दूतावासों में भी सामने आ चुके हैं ऐसे मामले

    - अमेरिकी अफसर ने बताया- "पहले भी ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि, ज्यादातर मामले यूरोपीय दूतावासों से ही आते थे। ये पहली बार है कि ठगों ने भारतीय दूतावास की फोन लाइन्स को हैक कर लिया।"

    - "इस तरह की हैकिंग टेक्नोलॉजी आसानी से मिल जाती है। हालांकि, इनमें ठगों तक पहुंचना काफी मुश्किल होता है। अमेरिकी नागरिक ऐसी फोन कॉल्स का सबसे ज्यादा शिकार होते हैं।"

  • अमेरिका में भारतीय दूतावास की फोन लाइन इस्तेमाल कर रहे ठग, पासपोर्ट और वीजा के नाम पर लोगों से मांगे जा रहे पैसे, international news in hindi, world hindi news
    +1और स्लाइड देखें
    ठगों ने लोगों से उनके क्रेडिट कार्ड नंबर डिटेल्स भी मांगी हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From America

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×