--Advertisement--

अमेरिका में मैक्सिको के अवैध प्रवासियों का मामला: भारतीय महिला को 5 साल के दिव्यांग बेटे से किया अलग

ट्रम्प प्रशासन के विवादित आदेश के तहत भारतीय को उसके बच्चे से अलग करने का पहला मामला सामने आया।

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 03:17 PM IST

वॉशिंगटन. अमेरिका में मैक्सिको सीमा पार करके आए लोगों से उनके बच्चों को अलग किए जाने वालों में एक भारतीय महिला भी शामिल है। उन्हें पांच साल के दिव्यांग बेटे से अलग कर गिरफ्तार कर लिया गया था। मंगलवार को एरिजोना कोर्ट ने 30 हजार डॉलर (करीब 20 लाख रुपए) का बॉन्ड भी उन्हें दे दिया। हालांकि, अभी साफ नहीं है कि वे बेटे से मिल पाईं या नहीं।

न्यूज एजेंसी ने वॉशिंगटन पोस्ट की खबर के हवाले से शुक्रवार को बताया कि बेटे से बिछड़ने के बाद भावना पटेल (33) की हालत ठीक नहीं है। वे कोर्ट रूम में जेल के हरे कपड़े पहने सिर और हाथों को झुकाए बैठी थीं। उनके बालों में सफेदी नजर आ रही थी। उनकी वकील अलिंका रॉबिन्सन ने कोर्ट में दलील दी कि भावना के बेटे की तबीयत ठीक नहीं है।

भारत से ग्रीस, वहां से मैक्सिको फिर अमेरिका पहुंची थीं: भावना अहमदाबद से ग्रीस, वहां से मैक्सिको फिर अमेरिका पहुंची थीं। खबर में यह नहीं बताया गया कि उनकी गिरफ्तारी कब हुई थी। अमेरिका में गैर-कानूनी तरीके से दाखिल हुए लोगों पर ट्रम्प की सख्ती के बाद करीब 2300 बच्चों को उनके माता-पिता से अलग किया गया। इस मामले में 200 से अधिक भारतीय भी गिरफ्तार किए गए। इनमें से ज्यादातर गुजरात और पंजाब के हैं।