--Advertisement--

पहली बार झुके ट्रम्प: पत्नी-बेटी के दबाव के बाद देश में बच्चों को माता-पिता के साथ रखने का आदेश दिया

नए कानून के तहत बीते 6 हफ्ते में करीब 2500 बच्चे अपने माता-पिता से अलग किए गए।

Dainik Bhaskar

Jun 21, 2018, 08:22 AM IST
इस नियम के तहत अवैध तरीके से दाखिल हुए अप्रवासियों से उनके बच्चे अलग कर दिए जाते थे। इस नियम के तहत अवैध तरीके से दाखिल हुए अप्रवासियों से उनके बच्चे अलग कर दिए जाते थे।

- देशभर में हो रहे विरोध को देखते हुए ट्रम्प ने अपने फैसले पर रोक लगा दी
- ट्रम्प ने कहा- प्रवासियों की समस्या पुरानी है, हम इस पर काम कर रहे हैं

वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने देश में अवैध तरीके से दाखिल हो रहे परिवारों से उनके बच्चों को अलग रखने के फैसले पर रोक लगा दी है। बीते 6 हफ्ते में करीब 2500 बच्चे अपने माता-पिता से अलग किए गए थे। ट्रम्प ने बुधवार को नए आदेश पर हस्ताक्षर करने के बाद कहा कि परिवारों को बिछड़ते देख उन्हें अच्छा नहीं लगता। पत्नी मेलानिया और बेटी इवांका भी इसके खिलाफ थे। नया आदेश परिवारों को एक साथ रखने का है।
अमेरिकी मीडिया का कहना है कि ट्रम्प अपने देश में लागू किसी नीति पर पहली बार झुके हैं। सीएनएन के मुताबिक, हो सकता है कि ट्रम्प पत्नी और बेटी के दबाव में झुक गए और इसी वजह से उन्हें प्रवासी परिवारों के लिए जीरो टॉलरेंस की नीति बदलनी पड़ी।

ट्रम्प ने कहा, ‘"हम परिवारों को एक साथ रखने जा रहे हैं ताकि सारी समस्याएं खत्म हो जाएं। हमारे पास मजबूत सीमा है। इन पर सुरक्षा पहले की तरह ही बनी रहेगी। प्रवासियों की समस्या पुरानी है। पिछली सरकारों ने इस पर कोई काम नहीं किया। हम इस पर काम कर रहे हैं। हम बच्चों को उनके माता-पिता से अलग नहीं करना चाहते हैं, लेकिन इसके साथ ही ये भी चाहते हैं कि कोई हमारी सीमा में गैरकानूनी तरीके से दाखिल नहीं हो।’’

विरोध की वजह से बदला फैसला : सोमवार को ट्रम्प ने अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा था कि प्रवासी लोग हत्यारे या चोर भी हो सकते हैं। हम सुरक्षित देश चाहते हैं और इसकी शुरुआत बॉर्डर से होगी। इसलिए जीरो टॉलरेंस पॉलिसी है। ट्रम्प की इस नीति का पूरे अमेरिका में विरोध हो रहा था। यहां तक की ट्रम्प की पत्नी मेलानिया के ऑफिस की तरफ से बयान में कहा गया था, ‘बच्चों को उनके परिवार से अलग करने के फैसले से नफरत हो रही है।’ पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश की पत्नी लॉरा ने इसे क्रूर पॉलिसी बताया था। ट्रम्प की पार्टी के कई सांसदों ने भी जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर ऐतराज जताया था।

बेटी ने कहा- शुक्रिया : ट्रम्प के नए आदेश पर बेटी इवांका ने ट्वीट किया- हमारी सरहदों पर परिवारों को अलग करने का फैसला बदलने के लिए शुक्रिया। संसद को अब ऐसा स्थायी समाधान ढूंढना चाहिए जो हमारे साझा मूल्यों के अनुरूप हो। ये समाधान उन्हीं मूल्यों पर हो, जिन्हें देखकर कई लोग अमेरिका में अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए आते हैं।

ट्रम्प की पत्नी मेलानिया ने कहा था कि बच्चों को उनके परिवार से अलग करने पर नफरत हो रही है। -फाइल ट्रम्प की पत्नी मेलानिया ने कहा था कि बच्चों को उनके परिवार से अलग करने पर नफरत हो रही है। -फाइल
अब तक 2500 से ज्याादा बच्चों को अलग किया जा चुका है। -फाइल अब तक 2500 से ज्याादा बच्चों को अलग किया जा चुका है। -फाइल
X
इस नियम के तहत अवैध तरीके से दाखिल हुए अप्रवासियों से उनके बच्चे अलग कर दिए जाते थे।इस नियम के तहत अवैध तरीके से दाखिल हुए अप्रवासियों से उनके बच्चे अलग कर दिए जाते थे।
ट्रम्प की पत्नी मेलानिया ने कहा था कि बच्चों को उनके परिवार से अलग करने पर नफरत हो रही है। -फाइलट्रम्प की पत्नी मेलानिया ने कहा था कि बच्चों को उनके परिवार से अलग करने पर नफरत हो रही है। -फाइल
अब तक 2500 से ज्याादा बच्चों को अलग किया जा चुका है। -फाइलअब तक 2500 से ज्याादा बच्चों को अलग किया जा चुका है। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..