--Advertisement--

सीमा पर बिछड़े बच्चों को माता-पिता से मिलाने के लिए डीएनए टेस्ट का सहारा लेगा अमेरिका, एक्सपर्ट्स ने जताई गलत इस्तेमाल की चिंता

Dainik Bhaskar

Jul 06, 2018, 09:19 AM IST

अमेरिकी कोर्ट के आदेश का जल्द से जल्द पालन करने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये फैसला किया है।

US officials to conduct DNA tests to reunite separated migrant families

वॉशिंगटन. अमेरिकी अधिकारियों ने मैक्सिको सीमा पर शरणार्थियों से अलग किए गए बच्चों को उनके परिवार से मिलाने के लिए डीएनए टेस्ट का सहारा लेगा। इसके जरिए करीब 3000 बच्चों को उनके माता-पिता से मिलाया जाएगा। अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार ने कहा कि यह टेस्ट इसलिए जरूरी है ताकि कोर्ट से तय समय सीमा में ही बच्चों को उनके परिवार से मिलाया जा सके।

कोर्ट से तय तारीख के मुताबिक, 4 साल से कम उम्र के बच्चों को उनके माता-पिता से 10 जुलाई तक और 5 से 17 साल के बच्चों को 26 जुलाई तक मिलाना है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इस पर आपत्ति दर्ज कराई है। उनका कहना है कि डीएनए टेस्ट से निजता को खतरा होगा। अमेरिकी सरकार डीएनए का कुछ और कामों में इस्तेमाल कर सकती है। वहीं, आलोचकों का कहना है कि डीएनए टेस्ट के लिहाज से बच्चों की उम्र काफी कम है। स्वास्थ्य मंत्री अजार की निजी एजेंसी यहां शरणार्थी शिविर चलाती है। उसका कहना है कि हिरासत में रखे गए बच्चों में करीब 100 ऐसे हैं, जिनकी उम्र 5 साल से भी कम है।

डीएनएन से पहचान जल्द होगी : अजार के मुताबिक, आमतौर पर बच्चों के जन्म के रिकार्ड से उनकी पहचान की जाती है, लेकिन यह प्रक्रिया काफी धीमी है। इसीलिए डीएनए टेस्ट से पहचान का फैसला किया गया है। उन्होंने बताया कि 3000 से भी कम बच्चे हैं जो परिवारों से बिछड़े हैं। वे स्वास्थ्य विभाग की देखरेख में हैं।

X
US officials to conduct DNA tests to reunite separated migrant families
Astrology

Recommended

Click to listen..