Hindi News »International News »China» China Extends Presidential Term Limit For Xi Jinping As Congress Pass Resolution

चीन ने खत्म की दो बार राष्ट्रपति बनने की सीमा, शी जिनपिंग फिर बन सकेंगे राष्ट्रपति

राष्ट्रपति कार्यकाल की सीमा बढ़ाए जाने के पक्ष में 2964 सदस्यों ने किया वोट।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 11, 2018, 02:03 PM IST

  • चीन ने खत्म की दो बार राष्ट्रपति बनने की सीमा, शी जिनपिंग फिर बन सकेंगे राष्ट्रपति
    +1और स्लाइड देखें
    चीन में 1982 में लागू हुआ था दो बार तक राष्ट्रपति बनने की सीमा।

    बीजिंग. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के तीसरी बार राष्ट्रपति बनने का रास्ता साफ हो चुका है। रविवार को चीन की संसद ने संविधान से उस नियम को हटा दिया जिसके तहत कोई भी शख्स सिर्फ 2 बार ही राष्ट्रपति रह सकता है। इसके साथ ही जिनपिंग जब तक चाहें तब तक देश के राष्ट्रपति रह सकते हैं। बता दें कि चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी ने पिछले हफ्ते संसद में इस सिलसिले में प्रस्ताव पेश किया था। वोटिंग में कांग्रेस के 2964 सदस्यों में से सिर्फ दो ने राष्ट्रपति बनने की सीमा बढ़ाए जाने के खिलाफ वोट किया, जबकि तीन सदस्यों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया।

    माओ के बाद दूसरे सबसे ताकतवर नेता बने जिनपिंग

    -शी जिनपिंग 2012 में पहली बार चीन के राष्ट्रपति चुने गए थे। पिछले साल हुई कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस (CPC) की बैठक में उन्हें दोबारा राष्ट्रपति चुना गया है। उनका दूसरा कार्यकाल 2023 तक चलेगा।

    - इसके अलावा बैठक में जिनपिंग को दूसरी बार पार्टी प्रमुख भी चुुना गया था। कांग्रेस ने उनके विचारों को संविधान में शामिल करने का फैसला किया था।

    - राष्ट्रपति के लिए 2 कार्यकाल की सीमा खत्म होने के बाद जिनपिंग अब माओत्से तुंग के बाद चीन के सबसे शक्तिशाली नेता बन गए हैं।

    चीन में कब बना था दो कार्यकाल का नियम

    - बता दें कि चीन में राष्ट्रपति डेंग जाओपिंग ने 1982 में एक विधेयक पेश किया था। इसके तहत अगला कोई भी राष्ट्रपति दो बार से ज्यादा इस पद पर नहीं रह सकता था। माना जाता है कि जाओपिंग ने ये कदम माओत्से तुंग के 1966-76 के कार्यकाल की वजह से लिया था। इस दौरान चीन में हुई सांस्कृतिक क्रांति में कई नागरिकों की जान गई थी।

    तीसरी बार भी राष्ट्रपति बने रहना चाहते हैं जिनपिंग

    - पिछले साल अक्टूबर में जिनपिंग के खास 69 साल के वांग किशान ने पार्टी की स्टेंडिंग कमेटी से इस्तीफा दे दिया था। चीन में 70 साल की उम्र के बाद अधिकारी अपने पद पर नहीं रह सकते।
    - हालांकि, इस्तीफा देने के बाद इसी साल उन्हें संसद प्रतिनिधि बनाया गया। सूत्रों के मुताबिक, चीन की लीडरशिप उन्हें उपराष्ट्रपति बनाना चाहती है।
    - अगर 70 साल की उम्र के बाद भी वांग ने अपने प्रतिनिधि पद से इस्तीफा नहीं दिया तो शी जिनपिंग का दो बार से ज्यादा राष्ट्रपति बनना तय हो जाएगा। हालांकि, ऐसा नहीं होने पर जिनपिंग पर इस्तीफे का नैतिक दबाव बनेगा।
    - चीन में पार्टी अध्यक्ष का रोल राष्ट्रपति से भी ज्यादा बड़ा माना जाता है और जिनपिंग को पार्टी में जल्द ही वो स्थान दिया जा सकता है। जिससे 2023 में राष्ट्रपति पद से हटने के बाद भी वो चीन के सबसे ताकतवर शख्स बने रह सकते हैं।

  • चीन ने खत्म की दो बार राष्ट्रपति बनने की सीमा, शी जिनपिंग फिर बन सकेंगे राष्ट्रपति
    +1और स्लाइड देखें
    चीन की संसद में 2964 सदस्यों ने संविधान से राष्ट्रपति बनने की सीमा को हटाने के पक्ष में वोट किया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From China

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×