चीन

--Advertisement--

चीन में बिल्डिंग पर बनाया गया 350 फीट ऊंचा झरना, घंटेभर चलाने के लिए खर्च करने पड़ते हैं 8 हजार रुपए

सोशल मीडिया पर लोग बिल्डिंग पर झरना बनाने को पैसे की बर्बादी करार दे रहे हैं

Danik Bhaskar

Jul 31, 2018, 08:26 PM IST
बिल्डिंग में उच्च क्षमता वाले चार पंप लगाए गए हैं जो पानी के नीचे गिरते ही उसे 350 फीट ऊपर पहुंचा देंगे। बिल्डिंग में उच्च क्षमता वाले चार पंप लगाए गए हैं जो पानी के नीचे गिरते ही उसे 350 फीट ऊपर पहुंचा देंगे।

बीजिंग. दक्षिणी चीन के गुआंग शहर के बीचोंबीच दुनिया का सबसे ऊंचा 350 फीट का मानवनिर्मित झरना तैयार किया गया है। ये झरना एक 396 फीट ऊंची बिल्डिंग पर बनाया गया है। खास बात ये है कि इमारत के बाहर की तरफ जहां लोग इस सबसे ऊंचे झरने का लुत्फ ले सकेंगे, वहीं इसके अंदर मॉल, होटल और ऑफिस बनाए गए हैं। चीन में कई लोग इसे नए तरह का प्रयोग बता रहे हैं। हालांकि, सोशल मीडिया पर इसे पैसे की बर्बादी करार दिया गया है।

झरना करीब दो साल पहले बन कर तैयार हो गया था, लेकिन तब से अब तक इसे सिर्फ 6 बार ही चलाया जा सका है। दरअसल, झरने को एक घंटे चलाने का खर्च करीब 120 डॉलर (करीब 8400 रुपए) है, इसी को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने बिल्डिंग का मजाक बनाना शुरू कर दिया है।

कुछ ही मौकों पर चलेगा झरना: इमारत को बनाने वाली कंपनी लुदी इंडस्ट्री का कहना है कि बिल्डिंग में उच्च क्षमता वाले चार पंप लगाए गए हैं जो पानी के नीचे गिरते ही उसे 350 फीट ऊपर पहुंचा देंगे। हालांकि, इस काम में काफी बिजली की खपत होगी। ऐसे में मालिकों का कहना है कि वे झरने को सिर्फ कुछ मौकों पर ही चलाएंगे। यानी ज्यादातर समय ये झरना बंद ही रहेगा। चीन की साइट वीबो पर एक आदमी ने लिखा कि अगर होटल महीने में एक बार झरना चलाएगा तो उसे अपनी खिड़की साफ खर्च करने का खर्च भी नहीं देना होगा क्योंकि झरने के पानी से वो भी हो जाएगी।

झरने को एक घंटे चलाने का खर्च करीब 120 डॉलर (करीब 8400 रुपए) है। झरने को एक घंटे चलाने का खर्च करीब 120 डॉलर (करीब 8400 रुपए) है।
झरना करीब दो साल पहले बन कर तैयार हो गया था, लेकिन तब से अब तक इसे सिर्फ 6 बार ही चलाया जा सका है। झरना करीब दो साल पहले बन कर तैयार हो गया था, लेकिन तब से अब तक इसे सिर्फ 6 बार ही चलाया जा सका है।
Click to listen..