Hindi News »International News »International» Report Says 1 Bn Small Arms In World India Second Position After America With 71.1 Million Arms

पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा परमाणु हथियार, दुनिया के 9 देशों के पास 14 हजार से भी ज्यादा: रिपोर्ट

अमेरिका और रूस के पास दुनिया के कुल परमाणु हथियारों का 92% है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 19, 2018, 07:01 PM IST

  • पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा परमाणु हथियार, दुनिया के 9 देशों के पास 14 हजार से भी ज्यादा: रिपोर्ट, international news in hindi, world hindi news
    +2और स्लाइड देखें
    पिछले साल की तुलना में पाक के पास भारत से करीब 10 ज्यादा परमाणु हथियार हैं। (फाइल)
    • मिलिट्री हथियारों के मामले में पहले नंबर पर रूस, दूसरे पर चीन, अमेरिका पांचवे स्थान पर

    लंदन/न्यूयॉर्क.पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा परमाणु हथियार हैं। स्वीडन के थिंक टैंक स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसआईपीआरआई) के मुताबिक, पाक के पास इस वक्त 140-150, जबकि भारत के पास 130-140 परमाणु हथियार हैं। रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि भारत और पाक दोनों हथियारों के जखीरे के साथ हवा से मिसाइल छोड़ने की तकनीक बढ़ाने में जुटे हैं। वहीं चीन भी हथियारों के बढ़ाने और उनके आधुनिकीकरण में लगा है। अमेरिका और रूस के पास दुनिया के कुल परमाणु हथियारों का 92% है। 9 देश अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, चीन, भारत, पाकिस्तान, इजरायल और उत्तर कोरिया के पास इस साल की शुरुआत में 14 हजार 465 परमाणु हथियार थे, जिनमें से 3 हजार 750 को तैनात किया जा चुका है।

    एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया में इस वक्त एक अरब से ज्यादा छोटे हथियार हैं, जिनमें 85 करोड़ 70 लाख जनता के पास हैं। 2017 में अमेरिकी लोगों के पास वैध-अवैध रूप से 39 करोड़ 33 लाख हथियार हैं। 7 करोड़ 11 लाख हथियारों के साथ भारत दूसरे, 4 करोड़ 39 लाख हथियारों के साथ पाकिस्तान तीसरे और एक करोड़ 76 लाख हथियारों के साथ रूस चौथे स्थान पर है।

    देशपरमाणु हथियार
    फ्रांस300
    चीन280
    ब्रिटेन215
    पाकिस्तान140-150
    भारत130-140
    इजरायल80
    उत्तर कोरिया10-20

    अमेरिकी नागरिकों के पास सबसे ज्यादा हथियार

    द स्मॉल आर्म्स सर्वे के मुताबिक, दुनिया में आम लोगों के पास जितने छोटे हथियार हैं, उसके 46% अमेरिकियों के पास हैं। अमेरिका में गन कल्चर का होना इसकी अहम वजह है। अमेरिकी नागरिक हर साल 1 करोड़ 40 लाख नए हथियार लेते हैं। रिपोर्ट में जिन वैध-अवैध रूप से लोगों के पास हथियारों का होना बताया गया है, उसमें हैंडगन, राइफल, शॉटगन और मशीन गनें शामिल हैं। एक अरब हथियारों में से 1 करोड़ 33 लाख मिलिट्री फोर्सेस और 2 करोड़ 27 लाख हथियार जांच एजेंसियों के पास हैं।

    हम हथियारों के खिलाफ नहीं
    स्मॉल आर्म्स सर्वे के निदेशक एरिक बेर्मन के मुताबिक, हमारा संस्थान किसी भी तरह से हथियारों के खत्म होने की पैरवी नहीं करता। हम बीते 19 साल से सरकारों और अफसरों को सूचनाएं-विश्लेषण मुहैया कराते रहे हैं ताकि अवैध हथियारों की बिक्री और हिंसा पर लगाम लगाई जा सके। कार्प कहते हैं कि 2007 के बाद से हम दुनिया में फैले हथियारों की ज्यादा बेहतर तस्वीर पेश करने में कामयाब रहे हैं। नागरिकों के पास हथियार के लिए 133 देशों का अध्ययन किया गया।

    अमेरिका के 100 निवासियों के पास 121 हथियार: किसी देश के हर 100 निवासियों के पास हथियारों के मामले में भारत, चीन और रूस अमेरिका से काफी पीछे हैं। ये तीनों टॉप 25 में भी नहीं हैं। इस मामले में पाकिस्तान 20वें, लेबनान-आइसलैंड 32वें, मॉन्टेनेग्रो एंड सर्बिया 39वें, कनाडा-उरुग्वे 35वें और यमन 53वें नंबर पर हैं।

  • पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा परमाणु हथियार, दुनिया के 9 देशों के पास 14 हजार से भी ज्यादा: रिपोर्ट, international news in hindi, world hindi news
    +2और स्लाइड देखें
    एक अरब हथियारों में से 1 करोड़ 33 लाख मिलिट्री फोर्सेस और 2 करोड़ 27 लाख हथियार जांच एजेंसियों के पास हैं। (फाइल)
  • पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा परमाणु हथियार, दुनिया के 9 देशों के पास 14 हजार से भी ज्यादा: रिपोर्ट, international news in hindi, world hindi news
    +2और स्लाइड देखें
    किसी देश के हर 100 निवासियों के पास हथियारों के मामले में भारत, चीन और रूस अमेरिका से काफी पीछे हैं। ये तीनों टॉप 25 में भी नहीं हैं। (फाइल)
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×