--Advertisement--

मौत के बाद भी शरीर के अंदर चलती रहती हैं 7 चीजें

साइंस की नजर में मौत के बाद भी शरीर में 7 बदलाव चलते रहते हैं।

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 02:49 PM IST

मौत एक ऐसा रहस्य है जिसके बारे में कोई नहीं जानता। मरने के बाद हमारी आत्मा और जीवन को लेकर तरह-तरह की मान्यताएं हैं। हालांकि, साइंस की नजर में मौत के बाद भी शरीर में 7 बदलाव चलते रहते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही रहस्य बताने जा रहें हैं कि मौत के बाद मृत शरीर में किस-किस प्रकार के बदलाव देखने को मिलते है। इन्हें जानकर आप भी हैरान जाएंगे। मौत के बाद बदलने लगता है शरीर का रंग..

- मरने के बाद हर मृत शरीर का रंग तेजी से बदलने लगता है। सबसे पहले खून का प्रवाह रुकते ही बॉडी का रंग नीला पड़ने लगता है। इसके बाद खून पानी में बदलने लगता है शरीर का रंग पीला पड़ने लगता है।

जीवित रहते हैं त्वचा के सेल
मौत हो जाने के बाद ब्लड सर्कुलेशन रुक जाता है। इससे दिमाग तक ऑक्सीजन नहीं पहुंचती। ऐसे में सबसे पहले मस्तिष्क काम करना बंद कर देता है। लेकिन इसके बावजूद स्किन के कई सेल्स काम करते रहते हैं। कई सेल्स कुछ दिन में मर जाते हैं लेकिन कुछ सेल्स कुछ दिन तक जीवित रह सकते हैं।

डाइजेस्टिव सिस्टम
हमारे शरीर के अंदर कई तरह के ऐसे सूक्ष्म जीव पाए जाते है जो किसी भी व्यक्ति के मर जाने के बाद भी शरीर में जीवित रहते है। जिनमे पैरासाइटिक भी होते है, जो भोजन को डाइजेस्ट करने में मदद करते है। मौत के बाद भी ये आंतों में जीवित रहकर कार्य करते रहतें है, जिससे शरीर में गैस बनती है और कई बार मौत के बाद शरीर फूलने लगता है।

मूत्र उत्सर्जन
मृत्यु के बाद भी शरीर से मूत्र उत्सर्जन की प्रक्रिया काम करती है क्योंकि उस ब्ल्ड सर्कुलेशन रुकने से मसल्स कड़े होने लगते हैं। इसके कुछ समय के बाद जब वो लचीला पड़ने लगती है तो उस दौरान मूत्र उत्सर्जन की क्रिया होती है और इसी तरह से वीर्य का स्त्राव भी होने लगता है।


बालों की ग्रोथ बढ़ते दिखना
- कई धर्मों में मौत के बाद शरीर को दफना दिया जाता है। अक्सर सुनने में आता है कि शव के बाल पहले से लबं हो गए है पर ये पूरी तहर सच नहीं है। यह कुछ हद तक ही वृद्धि करते है बाकि त्वचा के खिच जाने के कारण भी ज्यादा लंबे महसूस होने लगते है।


नाखून का बढ़ना
- मौत के बाद नाखूनों की ग्रोथ की बातें भी सामने आती हैं। लेकिन यह ग्रोथ शरीर के अंदर होने वाले परिवतर्न से नहीं बल्कि चमड़ी के खिंचाव के कारण बढ़ी हुई दिखाई देती है, ठीक बालों की तरह।