• Home
  • International
  • 11 Princes arrested in Saudi Arabia for protesting against Royal Decree that orders to cut facilities given to Royal families
--Advertisement--

सउदी अरब: गिरफ्तार किए गए 11 प्रिंस, खर्चे में कटौती के लिए कर रहे थे प्रोटेस्ट

रॉयल पैलेस के बाहर प्रोटेस्ट और वॉर्निंग देने के बाद ना हटने के लिए अरेस्ट किए गए सभी प्रिंस।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 08:39 PM IST
पिछले साल सउदी अरब के किंग सलमान के ऑर्डर पर अरेस्ट किए गए थे कई प्रिंस। पिछले साल सउदी अरब के किंग सलमान के ऑर्डर पर अरेस्ट किए गए थे कई प्रिंस।

रियाद. सउदी अरब में 11 राजकुमारों को अरेस्ट किया गया है। सभी प्रिंस सुविधाओं और खर्चे में कटौती के लिए रॉयल पैलेस के बाहर प्रोटेस्ट कर रहे थे। सउदी अरब के अटॉर्नी जनरल के मुताबिक, इन सब पर राॅयल पैलेस के बाहर प्रोटेस्ट करने और वॉर्निंग ना मानने के लिए केस चलाया जाएगा। हालांकि, किसी भी प्रिंस का नाम नहीं जारी किया गया है। बता दें कि वर्ल्ड मार्केट में तेल के दाम से गिरने से सउदी अरब को बीते कुछ समय में नुकसान झेलना पड़ा था, जिसके बाद किंग सलमान ने रॉयल फैमिली मेंबर्स की सुविधाओं और खर्चे में कटौती करने का फैसला लिया है।

हाई-सिक्युरिटी जेल में रखे जाएंगे सभी प्रिंस

- इन्फॉर्मेशन मिनिस्ट्री की ओर से जारी स्टेटमेंट के मुताबिक, रॉयल पैलेस के बाहर 11 राजकुमार रॉयल फैमिली को मिलने वाली सुविधाओं को खत्म करने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।
- प्रोटेस्ट के दौरान सभी को उनकी गलत मांगों को लेकर वॉर्निंग दी गई थी। हालांकि, वॉर्निंग ना मानने पर रॉयल गार्ड्स को राजकुमारों को अरेस्ट करने का रॉयल ऑर्डर दे दिया गया।
- सभी 11 राजकुमारों को केस शुरू होने तक हाई-सिक्युरिटी अल-हाएर जेल में रखा गया है।

पिछले साल करप्शन में अरेस्ट किए गए थे प्रिंस

- बता दें कि पिछले साल नवंबर में सउदी किंग सलमान के ऑर्डर पर रॉयल फैमिली के कई मेंबर्स और सीनियर ऑफिशियल्स को करप्शन के केस में अरेस्ट कर लिया गया था। उस दौरान सभी को फाइव-स्टार होटल्स में रखा गया था।
- माना जाता है कि इन सबके पीछे सउदी के क्राउन प्रिंस और किंग सलमान के बेटे मोहम्मद बिन सलमान का हाथ था।
- अपने आप को बचाने के लिए कई राजकुमारों ने करोड़ो की रकम भी चुकाई थी।

सउदी क्यों खत्म कर रहा रॉयल फैमिली की सुविधाएं?

- सउदी अरब तेल का सबसे बड़ा एक्सपोर्टर है। हालांकि, तेल की लगातार कीमतों की वजह से सउदी सरकार को नुकसान उठाना पड़ा था।
- पिछले साल सउदी में कई रिफॉर्म्स इस मकसद से किए गए थे, ताकि 2018 में होने वाले फिस्कल डेफिसिट के 195 बिलियन डॉलर के घाटे को कम किया जा सके।
- इन रिफॉर्म्स के चलते रॉयल फैमिली की सुविधाओं में कटौती की गई है, साथ ही पूरे देश में पहली बार वैट (VAT) टैक्स सिस्टम भी लागू किया गया है।

इन बदलावों के पीछे सउदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का हाथ माना जा रहा है। इन बदलावों के पीछे सउदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का हाथ माना जा रहा है।