--Advertisement--

अमेरिका और नार्थ कोरिया में बातचीत को लेकर प्योंगयांग में स्पेशल डेलिगेशन भेजेगा साउथ कोरिया

पिछले दिनों अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया,चीन समेत 6 देशों में रजिस्टर्ड 27 शिपिंग कंपनियों और 28 जंगी जहाजों पर बैन लगाया था।

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:56 PM IST
नॉर्थ कोरिया पिछले दिनों अमेरिका से बातचीत को लेकर इच्छा जाहिर कर चुका है। - फाइल नॉर्थ कोरिया पिछले दिनों अमेरिका से बातचीत को लेकर इच्छा जाहिर कर चुका है। - फाइल

प्योंगयांग/सियोल. नॉर्थ कोरिया ने कहा है कि वह अमेरिका से बातचीत की न तो भीख मांग रहा है और न ही उसे किसी सैन्य कार्रवाई का डर है। वह अमेरिका से बिना किसी शर्त के बातचीत को तैयार है। वहीं, नॉर्थ कोरिया और अमेरिका के संबंधों को बेहतर करने के लिए साउथ कोरिया सोमवार को अपना एक स्पेशल डेलिगेशन नॉर्थ कोरिया भेजेगा। बता दें कि पिछले दिनों अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया और चीन समेत छह देशों की 27 शिपिंग कंपनियों और 28 जंगी जहाजों पर बैन लगाया था। जिसके बाद नॉर्थ कोरिया अमेरिका से बात करने के लिए तैयार हो गया था।

सैन्य अभ्यास का भी विरोध करेगा नॉर्थ कोरिया
- समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया के विदेश मंत्रालय के स्पोक्सपर्सन ने कहा है, "हम मामले को शांति से सुलझाना चाहते हैं। वहीं, हम अमेरिका और साउथ कोरिया के बीच होने वाले सैन्य अभ्यास का विरोध करने हैं।"

कंपनियों पर अमेरिका ने क्या आरोप लगाया?
- डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले महीने नॉर्थ कोरिया और चीन समेत छह देशों में रजिस्टर्ड 27 शिपिंग कंपनियों और 28 जंगी जहाजों पर बैन लगाया था। अमेरिका का आरोप था कि ये कंपनियां नॉर्थ कोरिया की न्यूक्लियर प्रोग्राम चलाने में मदद कर रहीं हैं।
- ट्रम्प ने नॉर्थ कोरिया और चीन पर प्रतिबंध लगाते वक्त चेतावनी दी कि अगर इन प्रतिबंधों से कोई फर्क नहीं पड़ा तो ‘फेस टू’ के तहत और कार्रवाई हो सकती है। यह कार्रवाई ज्यादा सख्त और खतरनाक होगी।

साउथ कोरिया कर रहा संबंध बेहतर करने का प्रयास
- साउथ कोरिया के प्रेसिडेंट मून जे-इन के स्पोक्सपर्सन ने रविवार को कहा कि नेशनल सिक्युरिटी ऑफिस हेड चुंग यूई-योंग और नेशनल इंटेलिजेंस सर्विस हेड के साथ 5 सदस्यीय डेलिगेशन टीम सोमवार को प्योंगयांग जाएगी।
- स्पोक्सपर्सन के मुताबिक, डेलिगेशन नॉर्थ कोरिया और अमेरिका के बीच बातचीत शुरू कराने पर विशेष ध्यान देगा। इस दौरान दोनों कोरियाई देशों के बीच आपसी संबंधों को लेकर भी बातचीत होगी।
- डेलिगेशन प्योंगयांग और वॉशिंगटन के बीच न्यूक्लियर प्रोग्राम की बातचीत आगे बढ़ाने का काम करेगा। डेलिगेशन प्योंगयांग से लौटकर अमेरिका जाएगा। इस बातचीत के नतीजों को यूएस के सामने रखेगा।

विंटर ओलिंपिक ने कम की दोनों कोरियाई देशों के बीच तल्खी
- किम जोंग की बहन किम यो जोंग 7 फरवरी को साउथ कोरिया में हुई विंटर ओलंपिक की ओपनिंग सेरेमनी में पहुंची थीं। उन्होंने नॉर्थ कोरिया लौटकर साउथ कोरिया में हुई उनकी मेहमान नवाजी की काफी तारीफ की थी।
- विंटर ओलिंपिक में नॉर्थ कोरिया की टीमों ने भी भाग लिया। कहा जा रहा है कि इस आयोजन के बाद से दोनों कोरियाई देशों के बीच तल्खी कम हुई है। जिसके बाद से ही साउथ कोरिया अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच बातचीत से रिश्ते को भी सुधारने का प्रयास कर रहा है।

साउथ कोरिया, नॉर्थ के साथ अपने रिश्तों को बेहतर करने और अमेरिका के साथ बातचीत को लेकर कोशिश कर रहा है।- फाइल साउथ कोरिया, नॉर्थ के साथ अपने रिश्तों को बेहतर करने और अमेरिका के साथ बातचीत को लेकर कोशिश कर रहा है।- फाइल
X
नॉर्थ कोरिया पिछले दिनों अमेरिका से बातचीत को लेकर इच्छा जाहिर कर चुका है। - फाइलनॉर्थ कोरिया पिछले दिनों अमेरिका से बातचीत को लेकर इच्छा जाहिर कर चुका है। - फाइल
साउथ कोरिया, नॉर्थ के साथ अपने रिश्तों को बेहतर करने और अमेरिका के साथ बातचीत को लेकर कोशिश कर रहा है।- फाइलसाउथ कोरिया, नॉर्थ के साथ अपने रिश्तों को बेहतर करने और अमेरिका के साथ बातचीत को लेकर कोशिश कर रहा है।- फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..