--Advertisement--

तालिबान नेताओं को फौरन अरेस्ट या फिर देश से बाहर करो- काबुल होटल पर अटैक के बाद US की PAK को दो टूक

काबुल हमले में 22 लोगों के मारे जाने के दो दिन बाद अमेरिका ने पाकिस्तान के खिलाफ रुख सख्त कर लिया है।

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 07:59 AM IST
व्हाइट हाउस में हुई एक मीटिंग के बाद वहां की प्रेस सेक्रेटरी साराह सेंडर्स मीडिया से रूबरू हुईं। उन्होंने पाकिस्तान को लेकर सख्त रवैया दिखाया। - फाइल व्हाइट हाउस में हुई एक मीटिंग के बाद वहां की प्रेस सेक्रेटरी साराह सेंडर्स मीडिया से रूबरू हुईं। उन्होंने पाकिस्तान को लेकर सख्त रवैया दिखाया। - फाइल

वॉशिंगटन/नई दिल्ली. काबुल के सबसे बड़े होटल इंटर-कॉन्टिनेंटल पर हमले में 22 लोगों के मारे जाने के दो दिन बाद अमेरिका ने पाकिस्तान के खिलाफ रुख और सख्त कर लिया है। अमेरिका ने पाकिस्तान से कहा है कि काबुल हमले के लिए जिम्मेदार तालिबान के नेताओं को फौरन अरेस्ट करे या फिर देश से बाहर करे। बता दें कि पाकिस्तान में पनाह लेने वाले तालिबान के इन्हीं नेताओं ने वहां की सेना की मदद से भारत की एम्बेसी को भी निशाना बनाया था। इसके अलावा भी ये तालिबान के आतंकी पाक आर्मी की मदद से अफगानिस्तान में हमले करते रहे हैं।

हमें अब फौरन एक्शन चाहिए

- सोमवार रात व्हाइट हाउस में हुई एक मीटिंग के बाद वहां की प्रेस सेक्रेटरी साराह सेंडर्स मीडिया से रूबरू हुईं। उन्होंने पाकिस्तान को लेकर सख्त रवैया दिखाया।
- सेंडर्स ने कहा- हमने पाकिस्तान से साफ कहा है कि उसे फौरन तालिबान नेताओं को या तो गिरफ्तार करना होगा या फिर उन्हें देश से बाहर करना होगा। ये आतंकी पाकिस्तान की जमीन से ही अपने नापाक मंसूबों को अंजाम दे रहे हैं।
- सेंडर्स ने कहा- पाकिस्तान में पनाह लेने वाले ये आतंकी पड़ोसी देशों में हमले करें, इसे अब सहन नहीं किया जा सकता। बता दें कि तालिबान ने ही इंटर काॅन्टिनेंटल होटल पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी।

हमारे इरादे मजबूत

- सेंडर्स ने आगे कहा- काबुल के सबसे बड़े होटल पर आतंकी हमला हुआ। इस तरह के हमलों के बाद हमारे अफगानिस्तान से रिश्ते और मजबूत हुए हैं। हम ये साफ कर देना चाहते हैं कि अमेरिका अपने इस दोस्त की मदद अब ज्यादा बेहतर तरीकों से करेगा।
- प्रेस सेक्रेटरी ने ये भी कहा कि हमले के दौरान अफगानिस्तान की सिक्युरिटी फोर्सेस ने बहुत बेहतर और तेज कार्रवाई की। अमेरिकी सैनिकों ने भी इस ऑपरेशन में उनकी मदद की। अफगानिस्तान के दुश्मन चाहे जहां हों, अमेरिका उन्हें छोड़ेगा नहीं।

बड़े होटलों में शामिल

- अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में इंटरकॉन्‍टिनेंटल होटल पर शनिवार रात हमला हुआ था। इंटरकॉन्टिनेंटल वही होटल है जिस पर 2011 में तालिबान ने हमला किया था। तब 9 हमलावर समेत कुल 21 लोग मारे गए थे।
- यह काबुल के सबसे बड़े लग्जरी होटलों में से एक है जो एक पहाड़ी पर बना हुआ है।
- अफगान राजधानी के गवर्नमेंट ऑफिसर्स और फॉरेन गेस्ट यहां रुकना काफी पसंद करते हैं। इस होटल में ज्यादातर शादी, सम्मेलन और राजनीतिक बैठकें होती हैं।

शनिवार को तालिबान ने ही इंटर काॅन्टिनेंटल होटल पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी। शनिवार को तालिबान ने ही इंटर काॅन्टिनेंटल होटल पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी।
X
व्हाइट हाउस में हुई एक मीटिंग के बाद वहां की प्रेस सेक्रेटरी साराह सेंडर्स मीडिया से रूबरू हुईं। उन्होंने पाकिस्तान को लेकर सख्त रवैया दिखाया। - फाइलव्हाइट हाउस में हुई एक मीटिंग के बाद वहां की प्रेस सेक्रेटरी साराह सेंडर्स मीडिया से रूबरू हुईं। उन्होंने पाकिस्तान को लेकर सख्त रवैया दिखाया। - फाइल
शनिवार को तालिबान ने ही इंटर काॅन्टिनेंटल होटल पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी।शनिवार को तालिबान ने ही इंटर काॅन्टिनेंटल होटल पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..