--Advertisement--

US में ठंड का कहर: बॉम्ब साइक्लोन के चलते दर्जनों मरे, 3 हजार से ज्यादा फ्लाइट्स कैंसल

अमेरिका के ईस्ट कोस्ट में भारी बर्फबारी के चलते इमरजेंसी का एलान, अबतक दर्जनों की मौत।

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2018, 02:49 PM IST
अमेरिका में भारी बर्फबारी के चलते लगातार खराब हो रहे हालात। अमेरिका में भारी बर्फबारी के चलते लगातार खराब हो रहे हालात।

वॉशिंगटन. अमेरिका में भारी बर्फबारी के चलते आए बॉम्ब साइक्लोन से ईस्ट कोस्ट में हालात खराब हो गए हैं। टेम्परेचर में गिरावट के चलते ट्रैवल कंडीशन्स खराब हो गई हैं। करीब 4 हजार फ्लाइट्स कैंसल की जा चुकी हैं। कई राज्यों में बिजली की समस्या भी पैदा हो गई है। 15 लोगों की मौत हो चुकी है। सड़कों पर बर्फ की कई इंच मोटी परत जम गई है, जिसके चलते आॅफिस और स्कूल बंद कर दिए गए हैं। नेशनल वेदर सर्विस के मुताबिक- आने वाले दिनों में टेम्परेचर -13 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाएगा।

बुरे हो सकते हैं हालात

- नेशनल वेदर सर्विस के मुताबिक, नॉर्थ-ईस्ट अमेरिका की तरफ करीब 90KMPH की रफ्तार से बर्फीला तूफान बढ़ रहा है। इस तूफान के चलते आने वाले दिनों में हालात और ज्यादा बिगड़ सकते हैं।
- गुरुवार तक न्यूयॉर्क के कई हिस्सों में 5 से 9 इंच तक बर्फ जमा थी। फिलाडेल्फिया में 3 से 6 और वॉशिंगटन में 1 से 2 इंच बर्फ की मोटी परत जमी है। पोर्टलैंड मैन में सबसे ज्यादा 10 से 15 इंच बर्फबारी रिकाॅर्ड की गई।
- इन कंडीशन्स के चलते न्यूयॉर्क के ला गार्डिया और कैनेडी एयरपोर्ट के रनवे को बंद कर दिया गया है। अमेरिका आने जाने वाली 4200 इंटरनेशनल और डोमेस्टिक फ्लाइट्स कैंसल की जा चुकी हैं। 2200 से ज्यादा फ्लाइट्स लेट हो चुकी हैं।
- देश के ज्यादातर, शहरों में स्कूलों और ऑफिसों को बंद रखा गया है। ईस्ट कोस्ट पर लोगों की मदद के लिए नेशनल गार्ड्स के 500 सैनिकों को तैनात किया है।

बर्फीले तूफान से बढ़ा बिजली संकट

- ईस्ट कोस्ट के साथ पूरे अमेरिका को बिजली संकट से जूझना पड़ रहा है। न्यूज चैनल सीएनएन के मुताबिक, वर्जीनिया और नॉर्थ कैरोलाइना में करीब 30 हजार लोग बिजली के बगैर घरों में रहने को मजबूर हैं।
- वहीं, न्यूयॉर्क में 3 हजार और बॉस्टन में करीब 10 हजार लोगों पर बिजली की कमी का असर पड़ा है।

झीलें और फाउंटेन जमे

- जॉर्जिया और कैलिफोर्निया के कुछ हिस्सों में सर्दी और बर्फबारी का असर ज्यादा है। यहां हालात इस हद तक खराब हो गए हैं कि कुछ जगहों पर झीलें और फाउंटेन बर्फ में तब्दील हो गए हैं। सबसे ज्यादा बर्फबारी उत्तरी तट से लगे जॉर्जिया और नॉर्थ कैरोलिना में हो रही है।
- तेज हवा के साथ बर्फबारी होने से इसे 'बॉम्ब साइक्लोन' नाम दिया गया है। यह साइक्लोन न्यू इंग्लैंड की तरफ बढ़ रहा है। वहां 24 घंटे में 8 इंच बर्फबारी हुई। पेन्सिलवेनिया में बर्फबारी का रिकॉर्ड टूट गया है।
- अमेरिका के अलग-अलग हिस्सों में सर्दी के चलते 15 लोगों की मौत की खबर है। नियाग्रा फॉल समेत कई जल स्रोत तो जम चुके हैं। सबसे ठंडे ओमाहा, नेब्रास्का रहे, जहां पारा शून्य से 35 डिग्री नीचे है। यह 1884 के बाद सबसे कम तापमान है। टेक्सास से कनाडा तक 10 करोड़ लोग सर्द हवा से परेशान हैं।

क्या होता है बॉम्ब साइक्लोन या बॉम्बोजेनेसिस?

- बॉम्ब साइक्लोन या बॉम्बोजेनेसिस तब आता है, जब किसी तूफान का बायोमीट्रिक प्रेशर 24 घंटे के भीतर 24 मिलीबार्स से कम हो जाता है। इससे तूफान काफी ताकतवर हो जाता है। बता दें कि बायोमीट्रिक प्रेशर वातावरण का दबाव होता है और मिलीबार इसे मापने की इकाई यानी यूनिट है।
- मेसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी के विजिटिंस साइंटिस्ट जूडा कोहेन ने कहा, "ये (बॉम्ब साइक्लोन ) काफी अनोखा है। इसका प्रेशर बड़ी ही तेजी से कम हो जाता है। ये दबाव कैटेगिरी वन या कैटेगिरी 2 के चक्रवात को टक्कर दे सकता है।"

वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, अभी और खराब हो सकते हैं हालात। वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, अभी और खराब हो सकते हैं हालात।
कई जगहों पर बर्फ की मोटी परतें जमा हो गई हैं। कई जगहों पर बर्फ की मोटी परतें जमा हो गई हैं।
X
अमेरिका में भारी बर्फबारी के चलते लगातार खराब हो रहे हालात।अमेरिका में भारी बर्फबारी के चलते लगातार खराब हो रहे हालात।
वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, अभी और खराब हो सकते हैं हालात।वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, अभी और खराब हो सकते हैं हालात।
कई जगहों पर बर्फ की मोटी परतें जमा हो गई हैं।कई जगहों पर बर्फ की मोटी परतें जमा हो गई हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..