Hindi News »International News »International» Some Biggest Crocodile Farms Of Thailand

खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS

थाई फिशरी डिपार्टमेंट के मुताबिक, यहां पर 1000 से ज्यादा फार्म में करीब 12 लाख मगरमच्छ रह रहे हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Dec 29, 2017, 06:17 PM IST

  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    थाईलैंड का सबसे बड़ा श्री आयुथ्या क्रोकोडाइल फार्म।

    इंटरनेशनल डेस्क.थाईलैंड में मगरमच्छों के कई सबसे बड़े फर्म्स का ठिकाना है। यहां चल रहे कई फार्म के अपने स्लॉटर हाउस भी है। यहां कीमती स्किन, मीट और ब्लड के लिए मगरमच्छों को जिंदा काटा जा रहा है। यहां बड़ी संख्या में टूरिस्ट भी फर्म्स को देखने के लिए आते हैं। थाई फिशरी डिपार्टमेंट के मुताबिक, यहां पर 1000 से ज्यादा फर्म में करीब 12 लाख मगरमच्छ रह रहे हैं। इतने महंगे हैं इससे तैयार होने वाले प्रोडक्ट्स...


    - श्री आयुथ्या क्रोकोडाइल फर्म थाईलैंड के सबसे बड़े फर्म में से एक है। ये पिछले 35 सालों से चल रहा है।
    - यहां की ओनर विचियान रियुआंगनेट के मुताबिक, हमारी फर्म सभी तरह के काम कर रही है। हम लोगों को रोजगार दे रहे हैं और देश को इनकम दे रहे हैं।
    - उन्होंने बताया कि उनकी फर्म कन्वेन्शन ऑन इंटरनेशनल ट्रेड इन इन्डैंगर्ड स्पीशीज ऑफ वाइल्ड फॉना एंड फ्लोरा से रजिस्टर्ड है।
    - इसके जरिए फर्म को लीगल तौर पर मगरमच्छ के जरिए तैयार होने वाले प्रोडक्ट को एक्सपोर्ट करने की परमिशन मिली है।
    - विचियान ने कहा कि हमारी फर्म मगरमच्छ से तैयार होने वाले सभी प्रोडक्ट्स का एक्सपोर्ट करती है। मगरमच्छ के मीट की कीमत प्रति किलो 570 रुपए है।
    - उन्होंने बताया कि इसकी स्किन से बने प्रोडक्ट में हैंडबैग और लेदर सूट्स है। एक बैग की कीमत डेढ़ लाख रुपए (2356 डॉलर) है। वहीं लेदर सूट्स की कीमत करीब 4 लाख रुपए (5885 डॉलर) है।
    - मगरमच्छ का पित्त और खून दवाओं के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। प्रति किलो खून की कीमत 1000 रुपए है और पित्त की कीमत प्रति किलो 76 हजार रुपए है।
    - जिंदा मगरमच्छ के शरीर से खाल उतारने के पीछे यह तर्क दिया जाता है कि इससे उसकी खाल ताजी बनी रहती है।
    - इतना ही नहीं, मगरमच्छों की हत्या से कई दिन पहले ही उनकी पूंछ काट ली जाती है। इसकी कीमत लाखों में होती है।

    खाल से बनते हैं जूते-बैग, घड़ियों के पट्टे
    - मगरमच्छ की खाल से बैग, जूते, घड़ियों के पट्टे, यहां तक कि गर्म कपड़े भी तैयार किए जाते हैं।
    - जापान-चीन में मगरमच्छ की खाल से बने प्रोडक्ट्स की काफी डिमांड है।


    आगे की स्लाइड्स में देखें इस फार्म के अंदर की PHOTOS...

  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
  • खून और स्किन के लिए काट दिए जाते हैं मगरमच्छ, ये हैं फार्म की PHOTOS, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×