विदेश

--Advertisement--

सबसे ज्यादा न्यूक्लियर ताकत से लैस देश, इनके पास है इतना बड़ा जखीरा

दुनियाभर में इस वक्त नौ देशों के पास करीब 16,300 परमाणु बम हैं।

Danik Bhaskar

Jan 07, 2018, 02:23 PM IST

इंटरनेशनल डेस्क. नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोन्ग द्वारा हाल ही में दिए गए स्टेटमेंट के बाद से यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प के साथ बयानबाजी का दौर जारी है। इस बयानबाजी ने दुनिया में न्यूक्लियर वॉर की बहस को फिर से गरमा दिया है। दुनियाभर में इस वक्त नौ देशों के पास करीब 16,300 न्यूक्लियर बम हैं। परमाणु निशस्त्रीकरण की मांग के बावजूद यह संख्या कम नहीं हो रही है। यहां हम सबसे ज्यादा न्यूक्लियर ताकत रखने वाले देशों के बारे में बता रहे हैं।

रूस
8000

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (सिप्री) के मुताबिक, न्यूक्लियर वेपन्स की संख्या के मामले में रूस सबसे आगे है। रूस ने पहला न्यूक्लियर टेस्ट 1949 में किया था और आखिरी टेस्ट 1992 में सोवियत यूनियन टूटने से पहले किया था। इस दौरान रूस न्यूक्लियर वेपन्स का सबसे बड़ा जखीरा इकठ्ठा कर चुका था। रूस के पास 8,000 न्यूक्लियर वेपन्स हैं।

आगे की स्लाइड्स में जानें बाकी देशों के न्यूक्लियर वेपन...

अमेरिका
7300

अमेरिका पहला देश था जिसने सेकंड वर्ल्डवॉर के दौरान न्यूक्लियर वेपन्स डेवलप किए और जुलाई 1945 में सफलतापूर्वक इनका टेस्ट किया। अमेरिका किसी भी देश के खिलाफ न्यूक्लियर वेपन्स तैनात करने वाला वह इकलौता देश है। उसके कुल 7300 न्यूक्लियर जखीरे में से 1910 तैनाती की अवस्था में हैं।

फ्रांस
300

यूरोप में सबसे ज्यादा न्यूक्लियर वेपन्स फ्रांस के पास हैं। उसके एटम बमों की संख्या करीब 300 बताई जाती है। फ्रांस ने पहली बार न्यूक्लियर बम का टेस्ट 1960 में किया था और आखिरी 1996 में। इन 36 साल के अंतराल के दौरान फ्रांस ने 300 न्यूक्लियर वेपन्स जमाकर खुद को न्यूक्लियर संपन्न देश की श्रेणी में खड़ा करने में सफलता हासिल की।

चीन
250

एशिया में आर्थिक महाशक्ति और दुनिया की सबसे बड़ी थल सेना रखने वाले चीन की असली सैन्य ताकत के बारे में बहुत पुख्ता जानकारी किसी के पास नहीं है। ऐसा अनुमान लगाया जाता है कि चीन के पास करीब 250 न्यूक्लियर बम हैं। चीन ने 1964 में न्यूक्लियर बम का पहली बार सफल टेस्ट किया था।

भारत
110

1974 में पहली बार और 1998 में दूसरी बार न्यूक्लियर टेस्ट करने वाले भारत के पास 90-110 एटम बम हैं। चीन और पाकिस्तान के साथ सीमा विवाद के बावजूद भारत ने वादा किया है कि वो पहले न्यूक्लियर अटैक नहीं करेगा। साथ ही भारत का कहना है कि वह न्यूक्लियर वेपन्स विहीन देशों के खिलाफ भी इनका इस्तेमाल नहीं करेगा।

Click to listen..