--Advertisement--

फिलीपीन्स के प्रेसिडेंट का ऑर्डर- 'महिला विद्रोहियों को प्राइवेट पार्ट में मारो गोली

उन्होंने स्पीच में कहा कि सोल्जर्स को महिला विद्रोहियों के प्राइवेट पार्ट में गोली मारनी चाहिए।

Danik Bhaskar | Feb 13, 2018, 02:14 PM IST
फिलीपीन्स के प्रेसिडेंट रोड् फिलीपीन्स के प्रेसिडेंट रोड्

मनीला. फिलीपीन्स के प्रेसिडेंट रोड्रिगो दुर्तेते अपने बयान को लेकर फिर विवादों में हैं। प्रेसिडेंट ने एक कार्यक्रम के दौरान सेना से कहा कि उन्हें महिला विद्रोहियों को तो प्राइवेट पार्ट में गोली मारनी चाहिए। इस रिमार्क को उनकी स्पीच के ऑफिशियल ट्रांसक्रिप्शन में भी शामिल किया गया है, जिसे कम्युनिकेशन ऑफिस ने जारी किया है। इससे पहले भी वो ड्रग्स माफियाओं को खुलेआम गोली मारने के ऑर्डर को लेकर विवादों में रहे थे। क्या कहा था स्पीच में?...

- उन्होंने स्पीच में महिला फाइटर्स के बारे में बात करते हुए कहा कि सोल्जर्स को महिला विद्रोहियों के प्राइवेट पार्ट में गोली मारनी चाहिए। इसके बाद वो किसी काम की नहीं रहेंगी।
- प्रेसिडेंट के कम्युनिकेशन ऑफिस से उनकी स्पीच का जो ट्रांसक्रिप्शन जारी किया गया है, उसमें 'वजाइना' शब्द की जगह डैश है, यानी उस जगह को खाली छोड़ दिया गया है।
- रोड्रिगो ने फीमेल फाइटर की इस बात को भी लेकर आलोचना की है कि कैसे वो कम्युनिस्ट मूवमेंट के लिए अपने परिवार को अकेले छोड़ देती हैं।
- उन्होंने ये बयान तब दिया, जब वो मैलेकनांग पैलेस के हीरोज हॉल में पूर्व कम्युनिस्ट विद्रोहियों के ग्रुप को एड्रेस कर रहे थे, जिनमें 48 महिलाएं भी थीं। इन विद्रोहियों ने सरेंडर किया था।
- बता दें, फिलीपीन्स सरकार और यहां की अंडरग्राउंड कम्युनिस्ट पार्टी की आर्म्ड विंग न्यू पीपुल्स आर्मी के बीच संघर्ष जारी है। कम्युनिस्ट गुरिल्ला और सेना के बीच आएदिन संघर्ष की खबरें आ रहती हैं।

बयान- मानवता के खिलाफ
इस बयान पर फेमिनिस्ट ऑर्गेनाइजेशन गैबरिएला की रिप्रेजेन्टेटिव एम्मी डिसूजा ने वॉशिंगटन पोस्ट से कहा कि दुर्तेते देश के फेसिस्ट और सेना को खूनी खेल के जरिए मानवाधिकार उल्लंघन करने का बढ़ावा दे रहे हैं। ये अंतरराष्ट्रीय मानवतावादी कानून की अनदेखी है।

महिलाओं के लिए अपमानजनक
न्यूयॉर्क बेस्ड ह्यूमन राइट वॉच ने कहा कि ये पहला मौका नहीं है जब दुर्तेते ने महिलाओं से घृणा करने वाला, अपमानजनक और उनकी प्रतिष्ठा के ठेस पहुंचाने वाला बयान दिया हो। वो इससे पहले भी सेना को रेप करने की छूट देने की बात कह चुके हैं, जो अंतराराष्ट्रीय मानवतावादी कानून का उल्लंघन है।

रेप करने की दी थी छूट

मरावी में सैन्य संघर्ष के दौरान रोड्रिगो ने अपनी सेना को रेप करने तक की छूट देने की बात कही थी। उन्होंने सेना से यहां तक कहा था कि अगर तुमने तीन महिलाओं का रेप भी कर दिया, तो मैं इसका इल्जाम अपने सिर ले लूंगा और इसके लिए उम्रकैद भी काट लूंगा। वो मिलिट्री बेस पर मौजूद हॉस्पिटल में जख्मी जवानों से मिलने पहुंचे थे।