Hindi News »International News »International» Europe Encounters Record Lower Temperature And Icy Weather

15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे

रूस में नदी-झीलें जम गईं। समुद्री तट भी जम गए हैं। मॉस्को में टेम्प्रेचर माइनस 21 डिग्री रहा।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 01, 2018, 04:41 PM IST

    • अमेरिका के मिशिगन की ग्रेट लेक जमने के बाद ब्लू आइस में बदल गई है।

      लंदन.यूरोप में बर्फीले तूफान ने भारी तबाही मचाई है। झील, नदियां और समुद्र के किनारे तक जम गए हैं। सड़कों पर बर्फ की चादर बिछी है। ट्रेनें भी आगे नहीं बढ़ पा रही हैं। यूरोपीय देश आर्कटिक से भी ज्यादा ठंडे हो रहे हैं। 15 से ज्यादा देशों में पारा आर्कटिक (माइनस 20 डिग्री सेल्सियस) से नीचे चला गया है। बर्फीले तूफान से कम से कम 35 लोगों की मौत हो गई। 2 दिन में 300 से ज्यादा फ्लाइट कैंसिल की गई हैं।

      नॉर्थ ग्रीनलैंड में टेम्प्रेचर -43 डिग्री

      - ब्रिटेन में टेम्प्रेचर माइनस 23 डिग्री तक रहा। यह 55 साल में सबसे कम है। दो दिनों से स्कूल बंद हैं। सड़कों पर हजारों लोग फंसे हैं। स्कॉटलैंड में रेड अलर्ट जारी किया गया है।
      - इटली के नेपल्स में बर्फबारी ने 50 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। राजधानी रोम में 32 साल में दूसरी बार बर्फ गिरी है।
      - पोलैंड में सर्दी से इस सीजन में 50 से ज्यादा मौतें हुई हैं। 8 मौतें बुधवार को हुईं। सड़कों पर फंसे लोगों को निकालने और बर्फ हटाने के लिए सेना को तैनात किया गया है।
      - रूस में नदी-झीलें जम गईं। समुद्री तट भी जम गए हैं। मॉस्को में टेम्प्रेचर माइनस 21 डिग्री रहा। यह सीजन में सबसे कम है।

      क्या है आर्कटिक ब्लास्ट और इसके पीछे की वजह?

      - आर्कटिक में अभी औसत टेम्प्रेचर माइनस 20 डिग्री है। यहां लो प्रेशर जोन बनने से धरती के ध्रुवों (Poles) से ठंडी हवाएं यूरोप की तरफ बह रही हैं। इस स्थिति को आर्कटिक ब्लास्ट कहा जाता है।

      यहां झील रातों रात ब्लू आइस में बदली

      - अमेरिका के मिशिगन की ग्रेट लेक जमने के बाद ब्लू आइस में बदल गई है। झील से 30 फीट ऊपर तक ब्लू आइस बिछी हुई है।
      - एक्सपर्ट के मुताबिक, यह दुर्लभ प्राकृतिक घटना है। साफ पानी की झील में बर्फ जमने के बाद जब इसमें सूरज की रोशनी पड़ती है तो उसका रिफलेक्शन पानी की सतह पर बनी बर्फ पर दिखता है। ये रिफलेक्शन ही नीले रंग का होता है।

      आगे की स्लाइड्स में देखें माइनस 20 टेम्प्रेचर में कैसा है इन जगहों का हाल...

    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      स्विजरलैंड की रोमनशोर्न पोर्ट पर झील पर बर्फ की मोटी परत जम गई।
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      रोम की राजधानी इटली में ठंडे के चलते फाउंटेन के जम चुके पानी की तस्वीर लेती महिला।
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      जर्मनी की सबसे बड़ी झीलों में शामिल कॉन्सटेंस लेक का पानी भी पूरी तरह जम चुका है।
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      मॉस्को में तापमान माइनस 21 डिग्री रहा। यह सीजन में सबसे कम है।
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      लंदन में भारी बर्फबारी के दौरान मिलेनियम ब्रिज से गुजरता राहगीर।
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      करीब 15 यूरापीय देशों में शीतलहर के चलते बर्फ की चादर बिछ गई है।
    • 15 देशों में -20 से नीचे पहुंचा टेम्प्रेचर, झील-नदियां और समुद्र के किनारे तक जमे, international news in hindi, world hindi news
      +8और स्लाइड देखें
      सड़कों पर बर्फ की चादर बिछी है। ट्रेनें भी आगे नहीं बढ़ पा रही हैं।
    Topics:
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |
    Web Title: Europe Encounters Record Lower Temperature And Icy Weather
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From International

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×