Hindi News »International News »International» Photos Capture The Execution Practices In 20th Century

जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके

ये तस्वीरें उस क्रूर दौर की दर्दनाक यादें ताजा करती हैं, जब तकरीबन दुनिया के सभी देशों में मौत की सजा जारी थी।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 06, 2018, 01:59 PM IST

  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    चीन में मिंग और किंग डायनेस्टी के समय जिंदा इंसान के तब तक टुकड़े किए जाते, जब तक कैदी की मौत नहीं हो जाती।

    इंटरनेशनल डेस्क. टॉर्चर के तरीके हजारों साल से चले आ रहे हैं। दुनिया के सिविलाइज्ड देशों में भी मौत की सजा के लिए एक से बढ़कर एक खतरनाक तरीके इस्तेमाल होते थे। जहां क्यूबा में कैदियों को दीवार के आगे एक लाइन में खड़ा करके गोली मार दी जाती थी। वहीं, चीन में क्रिमिनल्स के सिर कलम कर उन्हें बीच चौक में छोड़ दिया जाता था। चीन में इसके अलावा अलग-अलग शासकों के दौर अलग-अलग सजाएं थी। मिंग और किंग डायनेस्टी ने जिंदा कैदी के तब तक टुकड़े किए जाते थे जब तक की उसकी मौत नहीं हो जाती। यहां हम 1800 से 1900 से दौर में क्रूर मौत के तरीकों को फोटोज के जरिए दिखा रहे हैं। अब भी इन देशों में दी जा रही मौत...

    - ये तस्वीरें उस क्रूर दौर की दर्दनाक यादें ताजा करती हैं, जब तकरीबन दुनिया के सभी देशों में मौत की सजा का सिलसिला जारी था।
    - 21वीं सदी में कई ऐसे देशों ने मौत की सजा पर पाबन्दी लगा दी, जहां सबसे ज्यादा मौत की सजा दी जाती थी।
    - यूके में मौत की सजा पर तब रोक लग गई, जब 1965 में द मर्डर एक्ट लागू हुआ। हालांकि नॉर्दर्न आयरलैंड में 1973 तक मर्डर के डेथ पेनाल्टी जारी रही।
    - चीन, ईरान , नॉर्थ कोरिया, यमन और अमेरिका जैसे देशों में अब मौत की सजा देने की परंपरा जारी है और यहां लोगों को अब भी मौत दी जा रही है।
    - एमेनेस्टी इंटरनेशनल के आंकड़ों के मुताबिक, 2015 में 25 देशों में 1634 लोगों को मौत की सजा दी गई थी। 1989 के बाद मौत का ये सबसे बड़ा आंकड़ा था।

    आगे की स्लाइड्स में फोटोज में देखें मौत की सजा देने के तरीके...

  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    सितंबर 1911 से अक्टूबर 1912 के बीच हुई तुर्को-इटैलियन वॉर के दौरान बीच पर अरब के लोगों को गोली मारते देते इटली के सोल्जर्स।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    1901 की ये फोटो चीन के तेन्तसिन की है, जहां गोली मारे जाने के बाद क्रिमिनल्स की बॉडी ऐसे बांधकर तीन दिन तक छोड़ दी जाती थी।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    फिलीपीन्स के मनीला की ये 1901 की फोटो है, जिसमें कैदी के गले में ऐसे लोहे का केबिल डालकर उसे दबा दिया जाता था।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    क्यूबा के सैंटियागो की ये फोटो 1899 की है, जिसमें दीवार के किनारे लाइन से बैठे कैदियों को गोली मारकर मौत की सजा दी गई।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    चीन के तेन्तसिन की 1901 की फोटो, जिसमें कई क्रिमिनल्स के शहर के चौराहे पर लटकाए दिख रहे।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    ये फोटो 1865 में वॉशिंगटन डीसी के कैपिटल हिल की है, जहां संघीय सिविल वॉर अफसर कैप्टन हेनरी विर्ज को फांस दी गई।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    1865 में वॉशिंगटन डीसी में पूर्व प्रेसिडेंट अब्राहम लिंकन के हत्यारे को मौत की सजा देते हुए।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    वर्जीनिया के पीटर्सबर्ग की ये फोटो 1864 की है, जिसमें अमेरिकी सिविल वॉर सोल्जर विलियम जॉनसन को फांसी पर लटका मौत दी गई।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    अमेरिका के अलबामा की 1889 की फोटो, जिसमें मर्डर और रेप के दोषी को पेड़ से लटकाकर फांसी दी गई थी।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    चीन के तेन्तसिन में चीनी कैदी को मारे जापान के सैनिक।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    ग्रीस के सालोनिका में ब्लडी टावर की ये फोटो 1920 की है, जहां तुर्क लोग पॉलिटिकल कैदियों को टॉर्चर करते और उन्हें मौत देते।
  • जिंदा रहने तक किए जाते थे शरीर के टुकड़े, मौत की सजा देने के क्रूर तरीके, international news in hindi, world hindi news
    +12और स्लाइड देखें
    क्यूबा के हवाना की 1904 की फोटो, जिसमें लाइन में खड़ाकर कैदियों को गोली मार दी गई।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए International News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Photos Capture The Execution Practices In 20th Century
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×