--Advertisement--

शिकार के बाद खाया था जंगली सूअर का मीट, अब इस हाल में है फैमिली

फैमिली फ्रेंड जोजी वर्गीज ने बताया कि होश में आने के बाद सुबी ने सबसे पहले अपनी फैमिली के बारे में पूछा।

Danik Bhaskar | Dec 03, 2017, 01:14 PM IST
पत्नी, मां और बेटियों के साथ शिभु कोचुममेन। पत्नी, मां और बेटियों के साथ शिभु कोचुममेन।

इंटरनेशनल डेस्क. न्यूजीलैंड में रह रही एक भारतीय मूल की फैमिली की परेशानियां अब दूर होती दिख रही हैं। फैमिली के तीन सदस्य अब कोमा से बाहर आ गए हैं। दो हफ्ते पहले इस फैमिली ने हंटिंग ट्रिप के दौरान जंगली सूअर का शिकार कर उसका मीट खा लिया था। इसके बाद से मीट खाने वाले तीनों फैमिली मेंबर कोमा में थे और जिंदगी-मौत के बीच झूल रहे थे। होश में आते ही फैमिली के बारे में पूछा..


- पैरामेडिक्स ने बताया कि 35 साल के शिबू कोचुममेन, उनकी वाइफ सुबी बाबू और उनकी मां अलेकुट्टी डेनियल ने दो हफ्ते पहले शिकार के बाद ये मीट खाया था और कोमा में चले गए थे।
- डॉक्टर ने इनके जिंदगी भर के लिए पैरालाइज्ड होने की आशंका जताई थी। हालांकि, दो दिन पहले शिभु और उनकी मां ने आंखें खोल ली। अब उनकी वाइफ सुबी को भी होश आ गया है और उन्होंने बात करने की भी कोशिश की।
- न्यूजीलैंड हेराल्ड न्यूजपेपर ने इनके फैमिली फ्रेंड जोजी वर्गीज के हवाले से बताया कि होश में आने के बाद सुबी ने सबसे पहले अपनी फैमिली के बारे में पूछा।
- उन्होंने बताया कि सुबी की जुबान बहुत ज्यादा लड़खड़ा रही थी, इसलिए बात समझने में दिक्कत हो रही थी, लेकिन उसे सारी बातें समझ आ रही थीं।
- रिपोर्ट में पता चला था कि इस इंडियन फैमिली ने जिस जंगली सूअर का मीट खाया था, वह जहरीला था।

बच गई थीं दोनों बेटियां

- फैमिली ने जंगल में ही उसका मीट भूनकर खाया। नींद में होने के चलते कोचुममेन की दोनों बेटियों ने मीट नहीं खाया था। इसके चलते दोनों इसका शिकार होने से बच गईं।

5 साल पहले यहां हुए शिफ्ट
- केरल के 35 साल के शिभु कोचुममेन करीब 5 साल पहले पत्नी सुबी बाबू (32), मां अलेकुट्टी डेनियल (62) और दो साल की बेटी के साथ न्यूजीलैंड शिफ्ट हो गए थे।
- न्यूजीलैंड के पुतारुरु सिटी में रहने वाले कोचुममेन एक निजी कंपनी में काम करते हैं। यहीं पर उनकी एक और बेटी का जन्म हुआ, जो अब दो साल की है।

आगे की स्लाइड्स में देखें इस फैमिली की फोटोज...

पत्नी और बेटी के साथ शिभु कोचुममेन। पत्नी और बेटी के साथ शिभु कोचुममेन।