--Advertisement--

फोटोग्राफर ने चोरी से लीं इस देश की PHOTOS, दुनिया को दिखाया यहां हाल

2008 से लेकर अब तक नॉर्थ कोरिया का छह बार टूर कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने ऐसी फोटोज भी लीं, जिसे लेने की मनाही है।

Danik Bhaskar | Jan 07, 2018, 12:10 AM IST
सोल्जर्स की भीड़ में खड़ी महिला। आर्मी की फोटोज खींचने की मनाही है, इसके बावजूद एरिक ये फोटो लेने में कामयाब रहे। सोल्जर्स की भीड़ में खड़ी महिला। आर्मी की फोटोज खींचने की मनाही है, इसके बावजूद एरिक ये फोटो लेने में कामयाब रहे।

इंटरनेशनल डेस्क. नॉर्थ कोरिया की गरीबी और यहां के लीडर की तानाशाही से दुनिया काफी हद तक वाकिफ है। फिर भी यहां से पूरी जानकारी निकलकर अभी सामने नहीं आ पाती हैं। फोटोग्राफर एरिक लफ्फार्ज ने तकरीबन अपने हर टूर के दौरान यहां से सीक्रेट फोटोज निकालने में कामयाबी हासिल की है। हालांकि, इसके लिए उन्हें कई बार रोका भी गया, लेकिन हर बार वो अपनी फोटोज सुरक्षित रखने और उसे दुनिया को दिखाने में कामयाब रहे। लफ्फार्ज ने अपने टूर के दौरान के एक्सपीरिएंस शेयर किए हैं। पाबंदी के बाद भी इस तरह लीं फोटोज...

- एरिक बताते हैं कि वो 2008 से लेकर अब तक नॉर्थ कोरिया का छह बार टूर कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने ऐसी फोटोज भी लीं, जिसे लेने की मनाही है।
- उन्होंने बताया, ''डिजीटल मेमरी कार्ड होने का फायदा हुआ कि मैं फोटोज को सुरक्षित रखने में सफल रहा। ये फोटोज मुझे डिलीट करने के लिए कहा गया था।
- लफ्फार्ज ऐसी टूरिस्ट ट्रिप में इन्ट्रेस्टेड नहीं थे, जहां उन्हें कुछ सीमित जगहों पर भी जाने को मिले। वो देश के उन हिस्सों को भी देखना चाहते थे, जो पूरी तरह से रेजिम के कंट्रोल में नहीं हैं।
- लफ्फार्ज ने बताया कि मुझे किसी दूसरे टूरिस्ट की तरह ही ट्रीट किया जा रहा था। मुझे भी आर्मी, गरीबी और ऐसी ही तमाम प्रतिबंधित जगहों की फोटो खींचने की मनाही थी।''
- उन्होंने बताया, ''इसके बावजूद मैंने अपने कैमरे के 300MM जूम लेंस से बिना किसी को शक हुए सभी जगहों की फोटोज कैद कर लीं।
- लफ्फार्ज ने बताया कि 2012 में छठें टूर से लौटने के बाद वहां की रेजिम को सीक्रेट तरीके से देश की फोटोज ऑनलाइन शेयर होने का पता चला।
- इसके बाद सरकार ने उनके फोटोज वापस देने की डिमांड की, लेकिन लफ्फॉर्ज ने इसे ठुकरा दिया। साथ ही, नॉर्थ कोरिया को अच्छे-बुरे हर लिहाज से दुनिया के सामने पेश किया।
- लफ्फॉर्ज का कहना है कि उन्होंने नॉर्थ कोरिया के साथ भी वही किया, जो वो बाकी देशों के साथ करते हैं। हालांकि, इसके कुछ ही समय बाद लफ्फार्ज को नॉर्थ कोरिया का बॉर्डर क्रॉस करने पर भी बैन लगा दिया।


आगे की स्लाइड्स में देखें चोरी से ली गईं नॉर्थ कोरिया की फोटोज...

गाइड ने फोटोग्राफर को बड़ी खुशी से ये फोटोज दिखाईं कि उनके देश में भी बच्चों के पास कम्प्यूटर है, लेकिन इसके लिए बिजली नहीं होने की बात खुलने पर इसे डिलीट करने का दबाव बनाने लगा। गाइड ने फोटोग्राफर को बड़ी खुशी से ये फोटोज दिखाईं कि उनके देश में भी बच्चों के पास कम्प्यूटर है, लेकिन इसके लिए बिजली नहीं होने की बात खुलने पर इसे डिलीट करने का दबाव बनाने लगा।
नॉर्थ कोरिया ने गरीबी और भुखमरी का दौर देखा है। ऐसे में ये फोटोज दुनियाभर में इस तरह से चर्चित हुई कि वहां के लोग घास खाकर गुजारा कर रहे हैं। नॉर्थ कोरिया ने गरीबी और भुखमरी का दौर देखा है। ऐसे में ये फोटोज दुनियाभर में इस तरह से चर्चित हुई कि वहां के लोग घास खाकर गुजारा कर रहे हैं।
नॉर्थ कोरिया अनुशासनहीन बच्चे का ये सबसे बड़ा एग्जाम्पल है। समीजयोन से सकरे रास्ते से गुजर रही बस के सामने ये बच्चा आकर खड़ा हो गया। नॉर्थ कोरिया अनुशासनहीन बच्चे का ये सबसे बड़ा एग्जाम्पल है। समीजयोन से सकरे रास्ते से गुजर रही बस के सामने ये बच्चा आकर खड़ा हो गया।
प्योंगयांग का सबवे सिस्टम दुनिया में सबसे ज्यादा गहरा है। ये बॉम्ब शेल्टर है और इसके टनल के अंदर फोटो लेने की मनाही है। प्योंगयांग का सबवे सिस्टम दुनिया में सबसे ज्यादा गहरा है। ये बॉम्ब शेल्टर है और इसके टनल के अंदर फोटो लेने की मनाही है।
यहां कार प्योंगयांग में ही देखने को मिलती है। यहां रोड के बीचों-बीच गुजरती कारों के बीच बच्चे भी खेलते नजर आ रहे हैं। यहां कार प्योंगयांग में ही देखने को मिलती है। यहां रोड के बीचों-बीच गुजरती कारों के बीच बच्चे भी खेलते नजर आ रहे हैं।
खेती-किसानी में मदद करता सोल्जर। खेती-किसानी में मदद करता सोल्जर।
ऑफिशियल पेन्टर एक पेंटिंग पर काम कर रहा था। पेंटिंग जब पूरी नहीं हो जाती, तब तक इसकी फोटो लेने की मनाही है। ऑफिशियल पेन्टर एक पेंटिंग पर काम कर रहा था। पेंटिंग जब पूरी नहीं हो जाती, तब तक इसकी फोटो लेने की मनाही है।
यहां कुपोषित लोगों की फोटोज लेने की मनाही है। यहां कुपोषित लोगों की फोटोज लेने की मनाही है।