--Advertisement--

यहां पहली बार सेना में महिला की मिली ये जिम्मेदारी, भारत में भी नहीं हुआ ऐसा

44 साल कि रियोको ने स्क्वाड्रन बनाए जाने के बाद कहा, मैं ऐसा नहीं मानती कि महिला या पुरुष होने कोई खास फर्क पड़ता है।

Danik Bhaskar | Mar 07, 2018, 06:20 PM IST

इंटरनेशनल डेस्क. जापान ने वॉरशिप आईझुमो पर पहली बार महिला अफसर को शिप की कमांड दी गई है। यहां जिस वॉरशिप पर लेडी अफसर रियोको अजूमा को तैनात किया गया है, वो एक हेलिकॉप्टर कैरियर है। रियोको के पास चार शिप के साथ 1000 कम्बाइंड क्रू की कमांड है। महिला को स्क्वाड्रन लीडर बनाने के पीछे जापान का मकसद ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को सेना में शामिल होने के लिए मॉटिवेट करने का है।

- रियोको वॉरशिप में 1000 क्रू को कमांड करेंगी, जिसमें सिर्फ 30 महिलाएं हैं। ये क्रू जापान की पहली एस्कॉर्ट डिवीजन मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स का हिस्सा है।
- 44 साल कि रियोको ने स्क्वाड्रन बनाए जाने के बाद कहा, ''मैं ऐसा नहीं मानती कि महिला या पुरुष होने कोई खास फर्क पड़ता है। मैं कमांडर के तौर पर अपनी ड्यूटी को पूरा करने के लिए पूरी ताकत झोंक दूंगी।''
- टोक्यो के पास योकोहाला के शिपयार्ड में खड़े वॉरशिप आईझुमो पर कमांड सेरेमनी हुई, जिसमें सवार 400 सेलर्स के बीच रियोको ने ये बात कही। यहां पर शिप रिपेयरिंग के लिए खड़ा है।
- रियोको जब 1996 में एमएसजीएफ का हिस्सा बनी थीं, तब महिलाओं को वॉरशिप में सर्विस देने का मौका नहीं मिलता था। तब शिप पर सिर्फ पुरुष होते थे।
- नेवी ने 10 साल पहले वॉरशिप में महिलाओं की तैनाती को लेक बनाए गए नियम को खत्म किया है। हालांकि, सबमरीन में अब भी महिलाओं की तैनाती मंजूर नहीं है।

आगे की स्लाइड्स में जानें ऐसे ही कुछ महिलाओं के बारे में जिन्होंने अपने क्षेत्र में हासिल की कामयाबी...

अवनि चतुर्वेदी
फ्लाइंग अफसर, इंडियन एयरफोर्स

फ्लाइंग अफसर अवनि चतुर्वेदी अकेले फाइटर जेट उड़ाने वाली इंडियन एयरफोर्स की पहली महिला फाइटर बन चुकी हैं। पिछले ही महीने उन्होंने अकेले मिग-21 फाइटर जेट उड़ाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया। 

रफिया कासिम बेग
बॉम डिस्पोजल यूनिट, पाकिस्तान

एक साल पहले पाकिस्तान की रफिया कासिम बेग पाकिस्तान की बॉम डिस्पोजल यूनिट में शामिल होने वाली पहली महिला बन गई थीं। कड़ी ट्रेनिंग के बाद उन्हें यूनिट में जगह मिली थी। राफिया ने आठ साल पहले कॉन्सटेबल के तौर पर पुलिस फोर्स ज्वाइन की थी। 

तमादार बिंत यूसुफ अल रामाह
डिप्टी मिनिस्टर, सऊदी अरब

सऊदी अरब में इस साल पहली बार एक महिला को मिनिस्टर बनाया गया है। किंग सलमान ने तमादार बिंत यूसुफ अल रामाह को लेबर एंड सोशल डेवलपमेंट डिपार्टमेंट का डिप्टी मिनिस्टर बनाया गया। अक्टूबर 2017 में तमादार को इसी डिपार्टमेंट में पहले अंडर सेक्रेटरी का पद दिया गया था।