Hindi News »International News »International» Japan Navy Appoints First Woman To Command Warship Squadron

यहां पहली बार सेना में महिला को मिली ये जिम्मेदारी, भारत में भी नहीं हुआ ऐसा

44 साल कि रियोको ने स्क्वाड्रन बनाए जाने के बाद कहा, मैं ऐसा नहीं मानती कि महिला या पुरुष होने कोई खास फर्क पड़ता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 07, 2018, 06:48 PM IST

  • यहां पहली बार सेना में महिला को मिली ये जिम्मेदारी, भारत में भी नहीं हुआ ऐसा, international news in hindi, world hindi news
    +3और स्लाइड देखें

    इंटरनेशनल डेस्क.जापान ने वॉरशिप आईझुमो पर पहली बार महिला अफसर को शिप की कमांड दी गई है। यहां जिस वॉरशिप पर लेडी अफसर रियोको अजूमा को तैनात किया गया है, वो एक हेलिकॉप्टर कैरियर है। रियोको के पास चार शिप के साथ 1000 कम्बाइंड क्रू की कमांड है। महिला को स्क्वाड्रन लीडर बनाने के पीछे जापान का मकसद ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को सेना में शामिल होने के लिए मॉटिवेट करने का है।

    - रियोको वॉरशिप में 1000 क्रू को कमांड करेंगी, जिसमें सिर्फ 30 महिलाएं हैं। ये क्रू जापान की पहली एस्कॉर्ट डिवीजन मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स का हिस्सा है।
    - 44 साल कि रियोको ने स्क्वाड्रन बनाए जाने के बाद कहा, ''मैं ऐसा नहीं मानती कि महिला या पुरुष होने कोई खास फर्क पड़ता है। मैं कमांडर के तौर पर अपनी ड्यूटी को पूरा करने के लिए पूरी ताकत झोंक दूंगी।''
    - टोक्यो के पास योकोहाला के शिपयार्ड में खड़े वॉरशिप आईझुमो पर कमांड सेरेमनी हुई, जिसमें सवार 400 सेलर्स के बीच रियोको ने ये बात कही। यहां पर शिप रिपेयरिंग के लिए खड़ा है।
    - रियोको जब 1996 में एमएसजीएफ का हिस्सा बनी थीं, तब महिलाओं को वॉरशिप में सर्विस देने का मौका नहीं मिलता था। तब शिप पर सिर्फ पुरुष होते थे।
    - नेवी ने 10 साल पहले वॉरशिप में महिलाओं की तैनाती को लेक बनाए गए नियम को खत्म किया है। हालांकि, सबमरीन में अब भी महिलाओं की तैनाती मंजूर नहीं है।

    आगे की स्लाइड्स में जानें ऐसे ही कुछ महिलाओं के बारे में जिन्होंने अपने क्षेत्र में हासिल की कामयाबी...

  • यहां पहली बार सेना में महिला को मिली ये जिम्मेदारी, भारत में भी नहीं हुआ ऐसा, international news in hindi, world hindi news
    +3और स्लाइड देखें

    अवनि चतुर्वेदी
    फ्लाइंग अफसर, इंडियन एयरफोर्स

    फ्लाइंग अफसर अवनि चतुर्वेदी अकेले फाइटर जेट उड़ाने वाली इंडियन एयरफोर्स की पहली महिला फाइटर बन चुकी हैं। पिछले ही महीने उन्होंने अकेले मिग-21 फाइटर जेट उड़ाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया।

  • यहां पहली बार सेना में महिला को मिली ये जिम्मेदारी, भारत में भी नहीं हुआ ऐसा, international news in hindi, world hindi news
    +3और स्लाइड देखें

    रफिया कासिम बेग
    बॉम डिस्पोजल यूनिट, पाकिस्तान

    एक साल पहले पाकिस्तान की रफिया कासिम बेग पाकिस्तान की बॉम डिस्पोजल यूनिट में शामिल होने वाली पहली महिला बन गई थीं। कड़ी ट्रेनिंग के बाद उन्हें यूनिट में जगह मिली थी। राफिया ने आठ साल पहले कॉन्सटेबल के तौर पर पुलिस फोर्स ज्वाइन की थी।

  • यहां पहली बार सेना में महिला को मिली ये जिम्मेदारी, भारत में भी नहीं हुआ ऐसा, international news in hindi, world hindi news
    +3और स्लाइड देखें

    तमादार बिंत यूसुफ अल रामाह
    डिप्टी मिनिस्टर, सऊदी अरब

    सऊदी अरब में इस साल पहली बार एक महिला को मिनिस्टर बनाया गया है। किंग सलमान ने तमादार बिंत यूसुफ अल रामाह को लेबर एंड सोशल डेवलपमेंट डिपार्टमेंट का डिप्टी मिनिस्टर बनाया गया। अक्टूबर 2017 में तमादार को इसी डिपार्टमेंट में पहले अंडर सेक्रेटरी का पद दिया गया था।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए International News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Japan Navy Appoints First Woman To Command Warship Squadron
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×