--Advertisement--

26/11 के मास्टर माइंड हाफिज सईद को बड़ा झटका, जमात उद दावा आतंकी संगठन घोषित

क्या ये पाकिस्तान का कोई नया दिखावा है?

Danik Bhaskar | Feb 13, 2018, 10:36 AM IST

इंटरनेशनल डेस्क. पाकिस्तान ने 26/11 के मास्टर माइंड हाफिद सईद के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। पाक के राष्ट्रपति ने सोमवार को एक अध्यादेश पर हस्ताक्षर किया। जिसके अनुसार हाफिज सईद आतंकवादी और जमात-उद-दावा को आंतकवादी संगठन घोषित कर दिया गया है। अध्यादेश का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद(यूएनएससी) द्वारा प्रतिबंधित व्यक्तियों और लश्कर-ए-तैयबा, अल-कायदा और तालिबान जैसे संगठनों पर लगाम लगाना है। इससे पहले पाकिस्तान ने जमात उद दावा को सिर्फ आतंकी सूची में रखा था, प्रतिबंध नहीं लगाया था।

क्या ये पाकिस्तान का दिखावा है
पेरिस में 18-23 फरवरी के बीच फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स(एफएटीएफ) की बैठक होने वाली है। जिसमें मनी लॉन्डरिंग जैसे मामलों को लेकर अलग-अलग देशों की निगरानी होती है। पाकिस्तान उससे पहले खुद को पाक साफ दिखाने की कोशिश में है। माना जा रहा है कि इसी के चलते पाकिस्तान ने ऐसे अध्यादेश पर हस्ताक्षर किया।

अध्यादेश को बनाना होगा कानून
पाकिस्तानी राष्ट्रपति का ऐसे अध्यादेश पर हस्ताक्षर करना आंख में धूल झोकने जैसा माना जा रहा है। क्योंकि अध्यादेश की कुछ सीमा होती है। उसके बाद वो लैप्स हो जाता है। ऐसे में पाकिस्तान ने उसे कानून में बदलना चाहिए। साल 2005 में लश्कर-ए-तैयबा को एक प्रतिबंधित संगठन घोषित किया था।

JuD हेडक्वॉर्टर से हटाए गए बैरिकेड्स
अध्यादेश पर हस्ताक्षर करने के बाद पुलिस ने जमात उद दावा के हेडक्वॉर्टर के बाहर लगे बैरिकेड्स को हटा दिया। इन बैरिकेड्स को JuD के सदस्यों द्वारा एक दशक से भी अधिक समय पहले सुरक्षा के नाम पर लगाया गया था।