--Advertisement--

अमीर अरब देश की 60 साल पुरानी PHOTOS, दिखता था ऐसा

1937 ट्रेड प्रतिबंध हटने के बाद अमेरिकी-ब्रिटिश कुवैत ऑयल कंपनी ने बड़े तेल रिजर्व की खोज की।

Danik Bhaskar | Feb 26, 2018, 12:10 AM IST
ऑयल रिच कुवैत की 60 साल पुरानी फोटो। ऑयल रिच कुवैत की 60 साल पुरानी फोटो।

इंटरनेशनल डेस्क. कुवैत ने रविवार को अपना नेशनल डे सेलिब्रेट किया। तेल के खजाने से भरपूर ये अरब का एक छोटा सा देश है। हालांकि, इसकी गिनती दुनिया के सबसे अमीर देशों में होती है। वहीं, अरब देशों में ये कतर के बाद दूसरे नंबर पर है। यहां कमाई का सबसे बड़ा जरिया ऑयल और पेट्रोलियम उत्पाद हैं। जब कुवैत में यूए-ब्रिटिश कुवैत ऑयल कंपनी ने इसकी खोज की थी, तब ये देश ब्रिटिश हुकूमत के कब्जे में था। विदेशी वर्कर्स की बन गया पसंदीदा जगह...

- 1919 से 1920 में कुवैत-नजद वॉर के चलते सऊदी अरब ने कुवैत के साथ व्यापार पर रोक लगा दी थी। ये रोक 1923 से 1937 तक रही।
- इसे बाद 1937 ट्रेड प्रतिबंध हटने के बाद अमेरिकी-ब्रिटिश कुवैत ऑयल कंपनी ने बड़े तेल रिजर्व की खोज की।
- हालांकि, सेकंड वर्ल्ड वॉर के चलते यहां तेल की खुदाई में देरी हुई। जंग खत्म होने के कुछ साल बाद यहां आखिरकार तेल को निकालने का सिलसिला शुरू हुआ।
- इसके बाद 1951 में यहां मुख्य पब्लिक वर्क प्रोग्राम शुरू हुए, जिससे कुवैत के लोगों को जिंदगी जीने का बेहतर अंदाज दिया।
- 1952 में कुवैत पर्सियन गल्फ रीजन में ऑयल की सबसे बड़ी एक्सपोर्टर बन गई। इस क्षेत्र में लगातार ग्रोथ ने फॉरेन वर्कर खासकर फलस्तीन, मिस्र और भारत से लोगों को यहां अट्रैक्ट किया।
- 1946 से 1982 के बीच के दौर को कुवैत केलिए गोल्डन एरा करा जाता है। ऑयल के क्षेत्र में तरक्की के साथ ही देश को ब्रिटिश हुकूमत से भी आजादी मिल गई थी।
- 1961 में कुवैत आजाद हो गया और शेख अब्दुल्लाह अल सलीम अल सबाह यहां के शाह बन गए। देश में ड्राफ्ट किए गए एक संविधान के तहत 1963 में यहां पहला पार्लियामेंट्री इलेक्शन हुआ।
- कुवैत पर्सियन गल्फ में मौजूद अरब स्टेट में पहला देश था, जिसने संविधान और पार्लियामेंट की स्थापना की। देखते ही देखते 1960 से 1970 के बीच में ये रीजन का सबसे डेवलप्ड देश बन गया।
- कुवैत की करेंसी कुवैती दीनार को दुनिया की सबसे महंगी करेंसी माना जाता है। एक दीनार की कीमत 215 रुपए के बराबर है।
- अब कुवैत की गिनती दुनिया के सबसे अमीर देशों में होती हैं। वहीं अरब देशों में कतर के बाद ये दूसरा सबसे अमीर देश है।

आगे की स्लाइड्स में फोटोज में देखें 60 साल पहले कैसा दिखता था कुवैत...