--Advertisement--

ये ट्रांसजेंडर महिला करवा पाएगी ब्रेस्टफीड, पत्नी के चलते उठाया ये कदम

30 साल की ट्रांसजेंडर महिला अपने बच्चे को ब्रेस्टफीड करवा पाएगी, जो इस तरह का दुनिया का पहला मामला है।

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 05:47 PM IST
फाइल फोटो फाइल फोटो

न्यूयॉर्क। दुनिया में पहली बार बच्चे को जन्म दिए बिना ही ट्रांसजेंडर महिला शिशु को स्तनपान करा सकेगी। यह संभव हुआ है अमेरिका में, जहां डॉक्टरों ने महिला के हार्मोन स्तर में बदलाव किए और उसके शरीर को स्तनपान कराने लायक बनाया। माउंट सिनाई स्थित इकॉन स्कूल ऑफ मेडिसिन के डॉक्टरों ने बताया कि साढ़े तीन महीने के इलाज के बाद 30 वर्षीय ट्रांसजेंडर महिला बच्चे को छह सप्ताह तक प्राकृतिक रूप से स्तनपान करा सकेगी। रियल मां नहीं करना चाहती थी बच्चे की केयर...

- डॉक्टरों का दावा है कि मेडिकल इतिहास में यह पहला मामला है।
- इसमें एक ट्रांसजेंडर को भी इलाज के बाद सामान्य मां की तरह स्तनपान कराने का सुख मिल पाना संभव हुआ।
- एक साइंस जर्नल में छपी खबर के मुताबिक, पुरुष से महिला बनी ट्रांसजेंडर की साथी गर्भवती थी।
- गर्भ ठहरने के करीब पांच महीने बाद इस ट्रांसजेंडर महिला ने अस्पताल का रुख किया और बताया कि बच्चे की वास्तविक मां अपने शिशु को स्तनपान नहीं कराना चाहती।

- इसलिए स्तनपान की जिम्मेदारी वो खुद लेना चाहती है। तब डॉक्टरों ने इस ट्रांसजेंडर महिला में स्तनपान की क्षमता विकसित करने के लिए इलाज शुरू किया।

- डॉक्टरों ने वही इलाज किया, जो वह एक ऐसे सामान्य महिला का करते हैं। वैसी महिला का, जिसने गर्भ धारण नहीं किया हो, पर स्तनपान कराना चाहती हो।

- डॉक्टर्स ने उसे दिए जाने वाले हार्मोन प्रोजेस्टेरोन और अन्य दवा दी। ये सारी प्रक्रिया बच्चे के जन्म से साढ़े तीन महीने पहले ही पूरी कर ली गई।

आगे की स्लाइड्स में देखें, क्या कहती है डॉक्टर्स...

X
फाइल फोटोफाइल फोटो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..