विदेश

--Advertisement--

सबसे बदतर देशों में से एक, लोग नदी-नालों में ऐसे सामान खोजने को मजबूर

इस देश की 80% इकोनॉमी क्रूड ऑयल पर निर्भर थी। इसके दाम गिरने और सब्सिडी वाली स्कीमों के चलते इकोनॉमी ढह गई।

Danik Bhaskar

Jan 10, 2018, 11:38 AM IST
गुएरे नदी में कीमती सामान की तलाश करते हुए। गुएरे नदी में कीमती सामान की तलाश करते हुए।

कराकस. कभी लैटिन अमेरिका का सबसे समृद्ध देश रहा वेनेजुएला दुनिया का सबसे बदतर देश बन गया है। हालात इतने खराब हैं कि रोजाना खाने-पीने के लिए हजार से ज्यादा लूटपाट की घटनाएं हो रही हैं। राजधानी कराकस में लोग नदी-नालों में खोया हुआ खजाना जैसे अंगूठी, कान की बाली और अन्य कीमती धातु ढूंढ रहे हैं। ताकि इसे दुकानदार को देकर रोजमर्रा का सामान लिया जा सके। 30 दिन में 450 रुपए कमा पा रहा एक व्यक्ति...


- इस देश की 80% इकोनॉमी क्रूड ऑयल पर निर्भर थी। इसके दाम गिरने और सब्सिडी वाली स्कीमों के चलते इकोनॉमी ढह गई। सोमवार को आए आंकड़ों के मुताबिक 2017 में वेनेजुएला में महंगाई दर 2600% बढ़ी।
- एक सर्वे के मुताबिक यहां रोजमर्रा की चीजों की काफी कमी हो गई है। इसके चलते एक साल में यहां 75% आबादी का वजन औसतन 8.7 किलो ग्राम तक कम हो गया है।
- यहां राष्ट्रपति ने न्यूनतम मजदूरी 40% बढ़ाई है। बावजूद इसके एक व्यक्ति 450 रुपए प्रति महीने से ज्यादा नहीं कमा पा रहा है। लोगों को फूड वाउचर दिए जाए रहे हैं।
- शनिवार को सरकार ने 200 सुपरमार्केट को कम कीमत पर सामान बेचने का आदेश दिया। इन मार्केट के बाहर लंबी कतार लगीं। सामान लेने के लिए लोगों के बीच हिंसा हुई।

आगे की स्लाइड्स में देखें वेनेजुएला का हाल दिखातीं फोटोज...

सुपरमार्केट के बाहर लगी लोगों की भीड़। सुपरमार्केट के बाहर लगी लोगों की भीड़।
राजधानी कराकस में खाली पड़े फूड स्टोर। राजधानी कराकस में खाली पड़े फूड स्टोर।
सामान के लिए स्टोर का गेट पीटती महिला। सामान के लिए स्टोर का गेट पीटती महिला।
स्टोर के बाहर लोगों की भीड़। स्टोर के बाहर लोगों की भीड़।
स्टोर के बाहर लोगों की भीड़। स्टोर के बाहर लोगों की भीड़।
Click to listen..