Hindi News »International News »International» Nick Name Crocodile Emmerson Mnangagwa Sworn In As Leader

जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट

आजादी के 37 साल बाद दक्षिण अफ्रीकी देश जिम्बाब्वे ने आखिरकार तानाशाही शासन से मुक्ति पा ली।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 25, 2017, 05:46 PM IST

  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
    शपथ समारोह के दौरान पत्नी के साथ जिम्बाब्वे के नए प्रेसिडेंट एमर्सन नांगाग्वा।

    हरारे.ब्रिटेन से आजादी के 37 साल बाद दक्षिण अफ्रीकी देश जिम्बाब्वे ने आखिरकार तानाशाही शासन से मुक्ति पा ली। देश में शुक्रवार से शुक्रवार को नई सत्ता का आगाज हुआ। केपिटल सिटी हरारे के नेशनल स्पोर्ट्‌स स्टेडियम में एमर्सन नांगाग्वा ने हजारों लोगों के सामने राष्ट्रपति पद की शपथ ली और देश को महान बनाने की बात कही। बता दें, करीब बीस दिन की राजनीतिक उठापटक के बाद जिम्बाब्वे के इतिहास में यह महान बदलाव हुआ। राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे ने जब पत्नी ग्रेस के इशारे पर नांगाग्वा को उप राष्ट्रपति पद से हटाया, तो जिम्बाब्वे की सत्ता का ढांचा चरमरा गया था और आर्मी ने दखल देते हुए मुगाबे और उनकी पत्नी को नजरबंद कर दिया था।शपथ समारोह में शामिल नहीं हुए मुगाबे...

    - जिंबाब्वे के नए प्रेसिडेंट नांगाग्वा ब्लैक सूट और लाल टाई पहनकर शपथ समारोह में पहुंचे।
    - इस दौरान उनके सीने पर सैन्य कार्यकाल में जीते गए मेडलों की पूरी लाइन थी।
    - उनके मंच पर पहुंचते ही पूरा स्टेडियम तालियों की आवाज से गूंज उठा। लोगों ने काफी देर तक उनका इसी तरह स्वागत किया।
    - शपथ लेने के बाद नांगाग्वा ने कहा कि वे देश को बदलेंगे और तरक्की की ओर तेजी से कदम बढ़ाएंगे।
    - वहीं, कुछ लोग कुछ लोग सत्ता के दुरुपयोग के लिए मुगाबे की पत्नी ग्रेस को दंड दिए जाने की मांग भी कर रहे थे।
    - उम्मीद की जा रही थी मुगाबे अपने उत्तराधिकारी और दशकों के साथी रहे नांगाग्वा के शपथ ग्रहण के मौके पर आएंगे, लेकिन वे नदारद रहे।
    - सरकारी अखबार हेराल्ड ने बताया कि दोनों नेताओं की बातचीत में तय हुआ कि मुगाबे समारोह में शामिल नहीं होंगे और विश्राम करेंगे।


    आगे की स्लाइड्स में देखें PHOTOS...

  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • जिम्बाब्वे में तानाशाही के अंत के साथ नए युग का आगाज, नांगाग्वा बने प्रेसिडेंट, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×