Hindi News »International News »International» Movie On Pakistani Brave Women Gets Nominated For Oscars

बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म

पाकिस्तान की नाजो धरीजो ने पिता की जमीन को दुश्मनों के कब्जे में जाने से बचाने के लिए उठाई थी बंदूक।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 26, 2017, 01:28 PM IST

  • बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म, international news in hindi, world hindi news
    +5और स्लाइड देखें
    नाजो धरेजो की असली कहानी पर बनी है फिल्म माई प्योर लैंड।

    इंटरनेशनल डेस्क. पाकिस्तान की सबसे टफ महिला के नाम से फेमस हो चुकीं वदेरी नाजो धरीजो उर्फ मुख्तयार नाज पर बनी फिल्म अगले साल ऑस्कर में जाएगी। नाजो धरीजो पाकिस्तान में सिंध प्रांत के सुदूर काजी अहमद गांव की रहने वाली हैं। 2005 में अगस्त की एक रात नाजो की पुश्तैनी जायदाद छीनने के लिए उनके दुश्मनों ने 200 बंदूकधारियों के साथ उनके घर पर गोलीबारी शुरू कर दी थी। तब नाजो अपनी बहनों के साथ एके-47 राइफल लेकर अकेले दुश्मनों से भिड़ गई थीं। उनकी हिम्मत के आगे दुश्मन घुटने टेकने को मजबूर हो गए थे। उनकी इसी बहादुरी पर हॉलीवुड ने फिल्म बनाई है, जो ऑस्कर में जाने के लिए नॉमिनेट हुई है। भाइयों ने बनाया था जायदाद हड़पने का प्लान...

    - दरअसल नाजो के पिता हाजी खुदा बख्श ने 4 शादियां की थीं। इसी कारण जायदाद के बंटवारे को लेकर उनकी अपने भाइयों से दुश्मनी हो गई थी।
    - पिता की मौत के बाद खुदा बख्श ने अपने हिस्से की जमीन पर कब्जा कर लिया था। ये बात बाकी भाइयों को ठीक नहीं लगी और उनमें आपस में झगड़े होने लगे।
    खुदा बख्श की तीन बेटियों में नाजो सबसे बड़ी हैं। नाजो को पिता ने उन्हें और उनकी दोनों बहनों को बेटों की तरह पाला था। यहां तक की पिता ने उन्हें यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन तक पढ़ाया। बेटियों को एके-47 बंदूक चलाना भी सिखाया था।
    - उधर, दुश्मन बन चुके भाइयों ने खुदा बख्श को निपटाने के लिए पॉलिटिकल कनेक्शंस का सहारा लिया। नाजो के भाई सिकंदर को पुलिस ने फेक एनकाउंटर में मार गिराया और खुदा बख्श पर झूठा इल्जाम लगाकर खुदा बख्श को जेल में डाल दिया गया।
    - इस मौके का फायदा उठाने के लिए अगस्त 2005 की रात दुश्मनों ने 200 हथियारबंद लोगों के साथ मिलकर हमला बोल दिया।
    - अपनी पुश्तैनी जमीन बचाने के लिए नाजो, बहनों और अपनी एके-47 लेकर घर से निकली। वह छत से होते हुए पीछे जाकर दुश्मनों पर गोलियों की बौछार करने लगीं। गोलियां कम होते हुए भी वो डटी रही थीं।
    - इस जवाबी हमले के चलते दुश्मन नाजो के घर में नहीं घुस पाए। आखिरकार उन्हें भागना पड़ा। अगले दिन पूरे इलाके में नाजो की बहादुरी के चर्चे थे।

    कानूनी लड़ाई जीती, दुश्मनों ने माफी मांगी
    गोलीबारी की घटना के 5 साल बाद नाजो धरीजो कानूनी लड़ाई जीतकर जमीन की वास्तविक मालिक बन गईं। वे अब खेती कर रही हैं। इलाके में उनका सम्मान है। दुश्मनों ने गोलीबारी की उस घटना पर सार्वजनिक रूप से माफी मांगी थी। कोर्ट के निर्णय के अनुसार नाजो को पांच लाख रु. मुआवजा भी मिल जा चुका है

    ब्रिटिश-पाकिस्तानी डायरेक्टर ने बनाई है फिल्म
    - माई प्योर लैंड नाम की इस फिल्म को पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिक सैम मसूद ने डायरेक्ट किया है। ये फिल्म सैम की डेब्यू फिल्म भी है।
    - ऑस्कर में अगले साल 92 देशों की फिल्में पहुंचेंगी। इनमें कंबोडिया में हुए जनसंहार पर बनी फिल्म भी जाएगी, जिसमें एंजेलिना जोली ने भूमिका निभाई है।

  • बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म, international news in hindi, world hindi news
    +5और स्लाइड देखें
    माई प्योर लैंड का एक सीन।
  • बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म, international news in hindi, world hindi news
    +5और स्लाइड देखें
  • बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म, international news in hindi, world hindi news
    +5और स्लाइड देखें
  • बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म, international news in hindi, world hindi news
    +5और स्लाइड देखें
  • बंदूक उठाकर 200 दुश्मनों से अकेले भिड़ गई थी महिला, अब ऑस्कर में जा रही इनकी फिल्म, international news in hindi, world hindi news
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×