Hindi News »International News »International» Mugabe Told To Leave Presidency By Military.

20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी

तख्तापलट के बाद भी इस्तीफा ना देने पर अड़े मुगाबे को पद से हटाने के लिए सेना ने दी थी मास मर्डर का राज खोलने की धमकी।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 24, 2017, 02:33 PM IST

  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें

    इंटरनेशनल डेस्क. बीते हफ्ते जिम्बाब्वे में हुए तख्तापलट के बाद से ही साफ हो गया था कि सेना जल्द ही प्रेसिडेंट रॉबर्ट मुगाबे को पद से हटाने वाली है। हालांकि, उस दौरान सेना ने जल्दबादी में फैसला ना करते हुए मुगाबे को समझा-बुझाकर पद से हटाने के लिए दबाव बनाया। ताजा रिपोर्ट्स में खुलासा हुआ है कि मुगाबे की लगातार पद ना छोड़ने की जिद के चलते सेना को उन्हें धमकाना तक पड़ गया था। सेना ने मुगाबे को उनके आर्डर पर की गईं 20 हजार लोगों की हत्या का राज खोलने की धमकी दे दी थी, जिसके बाद मुगाबे को पद छोड़ने पर राजी होना पड़ा था। तख्तापलट के बाद मिलिट्री ने दिया था ऑफर...

    - पिछले हफ्ते तख्तापलट के बाद मिलिट्री जनरल कॉन्स्टेन्टीन चिवेंगा ने मुगाबे को सारी सुख-सु‌विधाओं और पेंशन के साथ पद छोड़ने के लिए कहा था।
    - लेकिन मुगाबे ने सेना के ऑफर को नजरअंदाज करते हुए नेशनल टीवी पर प्रेसिडेंट बने रहने का एलान कर दिया, जिसके बाद चिवेंगा ने मुगाबे को उनकी सीक्रेट फाइल्स रिलीज करने की धमकी दे दी थी।
    - इन फाइल्स में मुगाबे के नरसंहार के आदेश से जुड़े सबूतों के साथ-साथ उनकी फैमिली द्वारा किए गए करप्शन के भी कई सबूत थे।

    - इसके साथ ही प्रेसिडेंट को ग्रेस की सुरक्षा को लेकर भी डराया गया। मुगाबे से कहा गया कि अगर वो अपना पद नहीं छोड़ते हैं तो उनकी पत्नी को सेना द्वारा सुरक्षा भी नहीं दी जाएगी।
    - इसके अलावा सेना ने ग्रेस को करप्शन के लिए लंबे समय तक जेल भेजने की धमकी भी दे दी थी। इतने दबावों के बाद ही मुगाबे प्रेसिडेंट पद छोड़ने को राजी हुए।

    सीक्रेट फाइल्स में छिपे हैं मुगाबे के राज

    - दरअसल, 1980-90 के बीच में जिम्बाब्वे में रहने वाली न्दबेले ट्राइब्स के कई लोगों को मुगाबे के आदेश पर मौत के घाट उतार दिया गया था।

    - कहा जाता है कि इन ट्राइब्स के लोग खुलेआम मुगाबे की विरोधी पार्टी के सपोर्ट में थे, इसलिए इन्हें नरसंहार का हिस्सा बनाया गया।

    - इतना ही नहीं, इस नरसंहार में प्रेग्नेंट महिलाओं को भी नहीं बख्शा गया। उन्हें भी तलवारों से छलनी कर दिया गया था।
    - जानकारी के मुताबिक, सीक्रेट पुलिस के पास मुगाबे के ऐसे जुर्मों से जुड़े कई टेलीग्राम्स और टेलीफोन रिकॉर्ड भी मौजूद थे, जिससे उन्हें आराम से जेल भेजा जा सकता था।

    आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
    इस्तीफे के बाद जिम्बाब्वे के एक्स-प्रेसिडेंट रॉबर्ट मुगाबे और ग्रेस मुगाबे।
  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
    अपनी पत्नी ग्रेस के साथ 93 साल के रॉबर्ट मुगाबे।
  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
    जिम्बाब्वे सेना के जनरल कॉन्स्टेन्टीन चिवेंगा।
  • 20 हजार लोगों की हत्या का आरोपी था तानाशाह, मिलिट्री ने दी थी राज खोलने की धमकी, international news in hindi, world hindi news
    +7और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×