--Advertisement--

सऊदी अरब के पब्लिक प्रॉसिक्यूटर ऑफिस में पहली बार वुमन स्टाफ के लिए वैकेंसी, इन्वेस्टिगेटर बनेंगी

सऊदी अरब क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के सत्ता में आने के बाद से यहां महिलाओं को कई हक मिले हैं।

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 07:56 AM IST
सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस ने ह सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस ने ह

रियाद. सऊदी अरब की इन्फॉर्मेशन मिनिस्ट्री ने कहा है कि देश में महिलाओं के लिए रोजगार के मौके बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। इसी के मद्देनजर पहली बार पब्लिक प्रॉसिक्यूटर ऑफिस में वुमन स्टाफ के लिए वैकेंसी निकाली गई। इनकी रैंक ल्युटिनेंट इन्वेस्टिगेटर होगी। बता दें कि सऊदी अरब क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के सत्ता में आने के बाद से यहां महिलाओं को कई हक मिले हैं।

140 पोस्ट के लिए 1 लाख से ज्यादा मिले थे एप्लीकेशन

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सरकारी बयान में यह भी कहा गया है कि क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने 'विजन 2030' के तहत कामकाजी महिलाओं की संख्या 22% बढ़ाकर कुल वर्कर्स की एक तिहाई करने का टारगेट रखा है।

- वहीं, सऊदी अरब के पासपोर्ट डिपार्टमेंट ने कहा था कि पिछले दिनों उन्हें एयरपोर्ट और बॉर्डर क्रासिंग पर महिलाओं के 140 पोस्ट के लिए 1 लाख 7 हजार एप्लीकेशन मिले।

सीनियर मौलवी ने कहा था- महिलाओं को बुर्का नहीं पहनना चाहिए

- कुछ दिन पहले सऊदी अरब की सबसे बड़ी मुस्लिम रिलीजियस बॉडी के मेंबर और सीनियर मौलवी ने कहा था कि देश की महिलाओं को अबाया या बुर्का नहीं पहनना चाहिए। उनके इस कमेंट की सोशल मीडिया पर काफी चर्चा है।

- काउंसिल ऑफ सीनियर स्कॉलर के मेंबर शेख अब्दुल्ला अल-मुत्लाक ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा था- "दुनिया की 90 फीसदी मुस्लिम महिलाएं धार्मिक होने के बावजूद अबाया (बुर्का) नहीं पहनती हैं। इसलिए हमें भी यहां भी किसी को इसे पहनने को मजबूर नहीं करना चाहिए।"

कानून के मुताबिक ही कपड़े पहनने की इजाजत

- सऊदी अरब में महिलाओं पर दुनिया के सबसे कड़े कायदे लागू हैं। उन्हें यहां कानून के मुताबिक कपड़े पहनने की इजाजत है।

- पहली बार यहां किसी धार्मिक शख्सियत ने महिलाओं के पहनावे पर ऐसा बयान दिया है। इस पर अभी सरकार की ओर से नियमों में किसी तरह के बदलाव की बात नहीं कही गई है, लेकिन उम्मीद की किरण नजर आई है।

प्रिंस सलमान ने महिलाओं को दिए कई हक

- बता दें कि सऊदी अरब क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के सत्ता में आने के बाद से यहां महिलाओं को कई हक मिले हैं।

- सऊदी अरब में पिछले महीने ही महिलाओं को फुटबॉल स्टेडियम में बैठकर मैच देखने की इजाजत नहीं मिली हैं।

- इस फैसले के चार महीने पहले ही यहां महिलाओं को गाड़ी चलाने की इजाजत दी गई थी। महिलाओं के ड्राइविंग करने पर यहां लंबे वक्त से रोक लगी थी।

अरब में महिलाओं पर अभी भी कई बंदिशें

- सऊदी अरब में महिलाओं पर कई बंदिशें लागू हैं। यहां किसी पुरुष (आमतौर पर पिता, पति या भाई) को परिवार की महिला की पढ़ाई कराने, शहर से बाहर जाने या कुछ और कामों में हिस्सेदारी के लिए सरकार की इजाजत लेनी पड़ती है।

X
सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस ने हसऊदी अरब के क्राउन प्रिंस ने ह
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..