--Advertisement--

थाईलैंड के बचाव अभियान पर हॉलीवुड में 400 करोड़ रुपए में फिल्म बनेगी, गुफा को म्यूजियम में बदला जा सकता है

प्योर फ्लिक्स स्टूडियो के सीईओ थाईलैंड में ही रहते हैं। वे खुद 4 दिन तक रेस्क्यू टीम की मदद करते रहे।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 01:30 PM IST

प्योर फ्लिक्स स्टूडियो ने फिल्म बनाने की तैयारी शुरू कर दी है

स्टूडियो के सीईओ की पत्नी अभियान के दौरान मारे गए सार्जेंट समन कुनन की दोस्त थीं


बैंकॉक. थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में जूनियर फुटबॉल टीम के फंसने और 17 दिन तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद बाहर निकलने की कहानी पर हॉलीवुड फिल्म बनेगी। इसके लिए मशहूर फिल्म 'गॉड्स नॉट डेड' बनाने वाले प्योर फ्लिक्स स्टूडियो ने तैयारी शुरू कर दी है। इतना ही नहीं गुफा के जिस चैंबर में बच्चे फंसे थे उसे भी म्यूजियम का रूप दिया जाएगा, ताकि थाईलैंड आने वाले पर्यटक इस जगह को करीब से देख पाएं। वहां मिशन में इस्तेमाल हुए उपकरणों और बच्चों के बचे हुए कपड़ों का प्रदर्शन किया जाएगा।

रेस्क्यू मिशन पर बनने वाली फिल्म पर 30 से 60 मिलियन डॉलर (करीब 412 करोड़ रुपए) तक खर्च होने का अनुमान लगाया जा रहा है। थाईलैंड में रहने वाले प्योर फ्लिक्स स्टूडियो के सीईओ और सह-संस्थापक मिशेल स्कॉट ने बताया कि उनकी पत्नी सार्जेंट समन कुनन की दोस्त थी। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान समन की मौत हो गई थी। स्कॉट के मुताबिक, वह अभियान में शामिल कुछ गोताखोरों और गुफा में फंसे बच्चों के माता-पिता से लगातार संपर्क में थे। प्योर फ्लिक्स स्टूडियो की पूरी टीम भी सभी बच्चों के लिए लगातार प्रार्थना कर रही थी। स्कॉट खुद 4 दिन तक थाम लुआंग गुफा के बाहर बचाव दल को मदद देते रहे।

जज्बे को सलाम: मिशेल ने बताया कि इस फिल्म के माध्यम से वह लोगों को दूसरों की मदद के लिए तैयार रहने का संदेश देना चाहते हैं। मिशेल के मुताबिक, इस फिल्म में उन 2 गोताखोरों का खास रोल रहेगा, जिन्होंने गुफा में सबसे पहले बच्चों को खोजा था। हालांकि अमेरिकी कारोबारी एलन मस्क के रोल को लेकर पूछे गए सवाल का उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। मस्क बच्चों के गुफा से निकालने के लिए छोटी पनडुब्बी लेकर थाईलैंड पहुंचे थे।