Hindi News »Business» British Engine Maker Rolls Royce Cutting 4600 Jobs

रॉल्स रॉयस 2 साल में 4600 कर्मचारियों की छंटनी करेगी, सालाना 3600 करोड़ की बचत की उम्मीद

रॉल्स रॉयस के ट्रेंट-1000 विमान इंजन में खराबी की शिकायत मिल रही है। कंपनी ने सुधार के लिए इन विमानों को वापस बुलाया है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 15, 2018, 12:25 AM IST

रॉल्स रॉयस 2 साल में 4600 कर्मचारियों की छंटनी करेगी, सालाना 3600 करोड़ की बचत की उम्मीद
  • विमान इंजनों में खराबी की शिकायत के बाद कंपनी के एयरो व्यापार में गिरावट आई है
  • रॉल्स रॉयस कंपनी के विमान इंजन एयरबस और बोइंग एयरक्राफ्ट में इस्तेमाल किए जाते हैं

लंदन. विमान इंजन बनाने वाली ब्रिटिश कंपनी रॉल्स रॉयस ने गुरुवार को कहा कि वह 2020 तक 4600 कर्मचारियों की छंटनी करने की योजना बना रही है। ऐसा करने से कंपनी को 2020 तक 400 मिलियन पाउंड (करीब 3600 करोड़ रुपए) तक की सालाना बचत होगी। विमानों के इंजन की मांग में कमी आने से कुछ समय से कंपनी संकट का सामना कर रही है। पिछले कुछ सालों में कंपनी हजारों कर्मचारियों को निकाल चुकी है।

कारोबारी ढांचे में बदलाव की तैयारी
- रॉल्स रॉयस अपने विमानन कारोबार के ढांचे में बदलाव की तैयारी में है। उसका मानना है कि इससे कंपनी को उम्दा आय होगी और कैश का फ्लो बढ़ेगा। कंपनी को नए सिरे से व्यवस्थित करने पर 500 मिलियन पाउंड (करीब 4.5 हजार करोड़ रुपए) का खर्च आएगा।

विमान इंजन में खराबी की शिकायत मिल रही
- रॉल्स रॉयस के विमान इंजनों में पिछले कुछ समय से खराबी की शिकायत आ रही है। इससे कंपनी को नुकसान हो रहा है। माना जा रहा है कि छंटनी के पीछे यह भी एक वजह है।
- दुनिया में रॉल्‍स रॉयस के कर्मचारियों की संख्‍या करीब 55 हजार है। ब्रिटेन में इसके 26 हजार कर्मचारी हैं। सेंट्रल इंग्लैंड के डर्बी स्थित मुख्यालय में कंपनी के 15 हजार 700 कर्मचारी हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: rols roys 2 saal mein 4600 karmChariyon ki chhntni karegai, saalaanaa 3600 karoड़ ki bcht ki ummid
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×