--Advertisement--

अमेरिका-ईयू व्यापार विवाद पर नीदरलैंड्स असहमत, रिपोर्टर्स के बीच ट्रम्प की बात काटने वाले पहले नेता बने रट

जून में जी-7 के बाकी देशों से विवाद के चलते राष्ट्रपति ट्रम्प समिट खत्म होने से पहले ही कनाडा से निकल गए थे।

Dainik Bhaskar

Jul 04, 2018, 01:54 PM IST
dutch prime minister says no to trump at meeting in oval office

वॉशिंगटन. नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रट ने मीडिया के सामने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बात काट दी। 2 जुलाई को ट्रम्प और रट के बीच अमेरिका के ओवल ऑफिस में महज पांच मिनट की मुलाकात हुई। इसमें यूरोपीय यूनियन (ईयू) के साथ व्यापार को लेकर चल रहे विवाद पर चर्चा हुई। नीदरलैंड भी ईयू में शामिल है। ट्रम्प ने कहा, "मैं इस मुद्दे को जी-7 समिट में अनसुलझा छोड़कर चला गया था। मैं अब भी सकारात्मक हूं।" रट ने ट्रम्प से हंसते हुए कहा, "नहीं।" इसके बाद ट्रम्प शुक्रिया कहकर जाने लगे। ट्रम्प को जाते देख रट ने रिपोर्टर्स से कहा, "ये सब सकारात्मक नहीं होगा। इसके लिए हम कुछ करेंगे।" रट अपने सादगीभरे और बेबाक बर्ताव के लिए जाने जाते हैं। एक बार नीदरलैंड के संसद भवन में उनसे कॉफी गिर गई थी, जिसे खुद रट ने साफ किया था। वे एम्सटर्डम के राजमहल में साइकिल से भी जा चुके हैं।

ट्रम्प-रट के बीच बातचीत के अंश

ट्रम्प: एक व्यापार सौदे के लिए हम काफी करीब आ चुके हैं। ये एक साफसुथरा (फेयर) समझौता होगा। मैं इसे अच्छा नहीं कह रहा, मैं इसे फेयर डील कहना चाहता हूं। फेयर डील हमारे टैक्सपेयर्स, हमारे वर्कर्स और किसानों के लिए होगी। इसमें कई बेहतर चीजें होंगी। मुझे लगता है कि ईयू के मुद्दे पर हम जल्द एक फेयर मीटिंग करेंगे। मैं देखना चाहता हूं कि वे (ईयू) इस बारे में क्या करते हैं। अगर कुछ होता है तो ये अच्छा रहेगा। ये सकारात्मक रहेगा। अगर कुछ नहीं हुआ तो भी सकारात्मक ही रहेगा।
रट (बात काटते हुए): नहीं।
ट्रम्प: जरा, यहां कारों के जमावड़े को तो देखिए..
रट: ये सकारात्मक नहीं होगा। हमें कुछ करना पड़ेगा।
ट्रम्प: ये होगा...ये सकारात्मक ही होगा। लेकिन एक बार फिर, मिस्टर प्राइम मिनिस्टर, यहां आने के लिए शुक्रिया।
रट: मुझे भी यहां आकर अच्छा लगा।

अमेरिका-ईयू में व्यापार को लेकर तल्खी: मई में ट्रम्प ने अमेरिका द्वारा ईयू से आयात किए जा रहे ऑटोमोबाइल पार्ट्स की जांच कराई थी। जुलाई के आखिर में ईयू के नाराज नेताओं ने ट्रम्प को 11 पेज का एक दस्तावेज भेजा जिसमें उन्होंने अमेरिकी सामानों पर 290 बिलियन डॉलर टैक्स लगाने की बात कही। इसके जवाब में ट्रम्प ने कहा कि अगर ईयू ने मौजूदा टैरिफ नहीं हटाया तो वे यूरोपीय कारों पर 20% टैक्स लगा देंगे। एक टीवी इंटरव्यू में तो ट्रम्प ने ये भी कहा कि जब व्यापार की बात आती है तो यूरोपीय यूनियन चीन जैसा ही खराब है।
जून में हुए जी-7 समिट में भी व्यापार मुद्दा छाया रहा। बीते महीनों में अमेरिका ने व्यापार नियमों को कड़ा किया है और नए नियमों के तहत देश में आयात होने वाले स्टील पर 25% और एल्युमिनियम पर 10% आयात शुल्क लगाया है। इसको लेकर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने समिट के दौरान ट्रम्प पर आरोप लगाए थे। इसके अलावा समिट में अमेरिका ने एक बार फिर रूस को शामिल करने के लिए भी कहा, जिस पर बाकी 5 देशों ने उनसे असहमति जताई। तनाव के चलते ट्रम्प समिट खत्म होने से पहले ही सिंगापुर के लिए निकल गए।

X
dutch prime minister says no to trump at meeting in oval office
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..