Hindi News »International News »International» Facebook Admits Users Keyboard And Mouse Under Surveillance

फेसबुक ने माना- यूजर के की-बोर्ड और माउस के मूवमेंट पर भी नजर रखते हैं; फोन में कितनी बैटरी बची ये भी पता

कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक विवाद के बाद उपजे सवालों पर फेसबुक ने अपने जवाब दाखिल किए।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 14, 2018, 01:37 PM IST

फेसबुक ने माना- यूजर के की-बोर्ड और माउस के मूवमेंट पर भी नजर रखते हैं; फोन में कितनी बैटरी बची ये भी पता, international news in hindi, world hindi news
  • फेसबुक ने यूएस सीनेट में 454 पन्नों में 2000 सवालों के जवाब दिए
  • कौन से फोटो हैं, किसका नंबर सेव है- फेसबुक को सब पता है

कैलिफोर्निया.कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक विवाद के बाद उपजे सवालों पर फेसबुक ने अमेरिकी संसद के उच्च सदन यूएस सीनेट को अपने जवाब दिए। जिसमें उसने माना है कि वो यूजर की निजी जानकारी, पसंद-नापसंद जानने के लिए उसके कम्प्यूटर की-बोर्ड और माउस के मूवमेंट तक पर नजर रखता है। यानी अगर आपके कम्प्यूटर पर फेसबुक लॉगइन है, तो माउस के हर क्लिक और की-बोर्ड के हर इस्तेमाल की खबर फेसबुक तक पहुंच रही है। इस जानकारी से फेसबुक ये पता लगाता है कि यूजर किस तरह के कंटेंट पर कितनी देर तक ठहर रहा है। इसी के हिसाब से वो उस यूजर को विज्ञापन दिखाता है।

454 पन्नों में इन सभी 2 हजार सवालों के जवाब दे दिए

कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक के बाद से फेसबुक की प्राइवेसी पॉलिसी लगातार सवालों के घेरे में है। यूएस सीनेट में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग से सवाल-जवाब भी किए गए थे। कुछ सवालों पर उसी वक्त जिरह हो गई थी। बाकी सवालों के जवाब देने के लिए जकरबर्ग को समय दिया गया था। ऐसे सवाल कुल 2 हजार थे। फेसबुक ने कुल 454 पन्नों में इन सभी 2 हजार सवालों के जवाब दे दिए।

इन तरीकों से यूजर पर नजर रखता है फेसबुक

डिवाइस इन्फॉर्मेशन: आप जिस कम्प्यूटर, मोबाइल या डिवाइस से फेसबुक लॉगइन करते हैं, उसकी जानकारी फेसबुक को रहती है। जैसे- डिवाइस में कितना स्टोरेज बचा है, कौन-कौन से फोटो हैं, किसके नंबर सेव हैं।

एेप इन्फॉर्मेशन:फेसबुक को ये भी पता रहता है कि यूजर डिवाइस में कौन-कौन से एेप मौजूद हैं। यूजर किस एप को कितना समय देता है। इससे मिलने वाली जानकारी को वो डेटाबेस में यूजर प्रोफाइल के साथ सेव कर लेता है।

डिवाइस कनेक्शन: फेसबुक को पता रहता है कि यूजर किस नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहा है या कौन सा वाई-फाई चला रहा है। फेसबुक डिवाइस जीपीएस पर भी नजर रखता है, जिससे उसे यूजर की लोकेशन मिलती रहे।

बैटरी लेवल: यूजर की डिवाइस के बैटरी लेवल की भी फेसबुक निगरानी करता है। इससे वो पता लगाता है कि फेसबुक एेप यूजर के डिवाइस की ज्यादा बैटरी तो नहीं ले रहा है। उस हिसाब से एेप को अपडेट करता है।

कैमरा इन्फॉर्मेशन: फेसबुक ने कई बार नकारने के बाद अब कैमरा और माइक्रोफोन पर नजर रखने की बात को कबूल लिया है। उस हिसाब से वो यूजर को फेसबुक एेप पर फिल्टर और अन्य फीचर सजेस्ट करता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए International News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: facebook ne maanaa- yujr ke ki-bord aur maaus ke muvmeint par bhi nazar rkhte hain; fon mein kitni baitri bchi ye bhi pata
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From International

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×