--Advertisement--

आधार के बड़े फायदे, हमने ये तकनीक दूसरे देशों तक पहुंचाने के लिए वर्ल्ड बैंक को फंड दिया: बिल गेट्स

बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने विश्व बैंक को यह तकनीक अन्य देशों तक पहुंचाने के लिए फंड भी दिया है।

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 06:01 PM IST
गेट्स ने कहा कि आधार में किसी भी प्रकार की प्राइवेसी लीक होने का खतरा नहीं है।  -फाइल गेट्स ने कहा कि आधार में किसी भी प्रकार की प्राइवेसी लीक होने का खतरा नहीं है। -फाइल

वॉशिंगटन. माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स ने गुरुवार को आधार की तारीफ की। उन्होंने कहा कि आधार की तकनीक में गोपनीयता की कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा कि बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने अन्य देशों तक ये तकनीक पहुंचाने के लिए फंड भी दिया है, क्योंकि ये अनुसरण करने योग्य है।

आधार दुनिया का सबसे बड़ा बायोमेट्रिक सिस्टम

- बिल गेट्स ने कहा, "इन्फोसिस के फाउंडर नन्दन नीलेकणि आधार कार्ड के चीफ आर्किटेक्ट हैं, वे इस प्रोजेक्ट में विश्व बैंक की मदद कर रहे हैं। भारत में 100 करोड़ से ज्यादा लोगों के पास आधार है। यह दुनिया का सबसे बड़ा बायोमेट्रिक सिस्टम है। अन्य देशों को भी यह तकनीक अपनानी चाहिए, क्योंकि शासन प्रणाली का इस बात में बहुत बड़ा योगदान कि उनका देश कितनी तेजी से अपनी अर्थव्यवस्था को विकसित करे और अपने लोगों को सशक्त कैसे बनाए।"

आधार पूरी तरह सुरक्षित
- माइक्रोसॉफ्ट फाउंडर ने कहा, "आधार से किसी भी प्रकार के डेटा लीक होने की संभावना नहीं है, क्योंकि यह एक बायो आईडी स्कीम है। आधार में जिन एप्लीकेशन का इस्तेमाल होता हैं उससे हम देख सकते हैं कि इसमें हमारा क्या डेटा है और इसे किसने एक्सेस किया है। बैंकों में भी इसका इस्तेमाल काफी अच्छे से हुआ है।"

मोदी की तारीफ की
- गेट्स ने कहा, "आधार स्कीम नरेंद्र मोदी सरकार के पहले शुरू की गई थी। लेकिन यह अहम बात है जिस तरह से मोदी ने इसे आगे बढ़ाया। नंदन नीलेकणि मेरे अच्छे दोस्त हैं। उन्होंने कई ऐसी पहल शुरू की हैं, जिससे शासन और शिक्षा में काफी मदद मिल सकती है।"

18 साल पहले शुरू किया था चैरिटी फाउंडेशन

- गेट्स ने 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। यह दुनिया की सबसे बड़ी निजी चैरिटी संस्था है।
- उन्होंने 1999 में एक लाख करोड़ रुपए के माइक्रोसॉफ्ट के शेयर दान किए थे। जिसके बाद 2000 में 32,000 करोड़ रुपए से बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की शुरूआत की थी।

गेट्स ने 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। -फाइल गेट्स ने 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। -फाइल
X
गेट्स ने कहा कि आधार में किसी भी प्रकार की प्राइवेसी लीक होने का खतरा नहीं है।  -फाइलगेट्स ने कहा कि आधार में किसी भी प्रकार की प्राइवेसी लीक होने का खतरा नहीं है। -फाइल
गेट्स ने 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। -फाइलगेट्स ने 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..